क्या खरीदारी करते वक्त ग्लव्ज़ पहनना जरूरी है! आइए जानते हैं।

मोनिका अग्रवाल

22nd May 2020

कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए इनदिनों अधिकांश लोग हर संभव एहतियात बरत रहे हैं। इन्हीं में से एक है फेस मास्क का उपयोग और हाथों में ग्लव्स पहनना। ग्लव्स पहनने के फायदे हैं, तो नुकसान भी हैं। बार-बार चेहरा छूने की आदत है, तो ग्लव्स से बचाव संभव नहीं है। ग्लव्स पहन कर हाथ भले ही बचा लें, पर जहां-जहां ग्लव्स वाले हाथों से छुएंगे, संक्रमण पहुंचने की आशंका रहेगी।

क्या खरीदारी करते वक्त ग्लव्ज़ पहनना जरूरी है! आइए जानते हैं।

ग्लव्स पहनने के फायदे - नुकसान

ग्लव्स पहनने के  फायदे हैं, तो नुकसान भी हैं। बार-बार चेहरा छूने की आदत है, तो ग्लव्स से बचाव संभव नहीं है। ग्लव्स पहन कर हाथ भले ही बचा लें, पर जहां-जहां ग्लव्स वाले हाथों से छुएंगे, संक्रमण पहुंचने की आशंका रहेगी। बाहर जाते समय या खरीदारी करते वक्त ग्लव्स पहने हैं, तो गाड़ी में बैठने पर या घर पहुंच कर उन्हें उतार दें।कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए इनदिनों अधिकांश लोग हर संभव एहतियात बरत रहे हैं। इन्हीं में से एक है फेस मास्क का उपयोग और हाथों में ग्लव्स पहनना। लॉकडाउन के दौरान हम में से ज्यादातर लोग किराना लेने के लिए ही घर से बाहर निकलते हैं। इस दौरान अक्सर लोगों के मन में यह सवाल ज़रूर आता है कि क्या मास्क के साथ ग्लव्स पहनने से कोरोना वायरस का ख़तरा कम हो जाएगा ? ग्लव्स से जुड़े ऐसे ही कुछ सवालों के जवाब इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको देने की कोशिश करेंगे। चलिए शुरू करते हैं। 

ग्लव्स

ग्रॉसरी स्टोर और ग्लव्स का कनेक्शन 

अक्सर लोग घरों से बाहर जाते समय ग्लव्स पहन लेते हैं। हालांकि, ग्लव्स पहन लेने मात्र से ही आप कोरोना के संक्रमण से नहीं बच सकते। उल्टा यदि आपने इन ग्लव्स से किसी संक्रमित वस्तु या व्यक्ति को छुआ और फिर वही हाथ आपने नाक या मुंह पर लगा लिए तो सोचिए कोरोना संक्रमण का खतरा कितना गुना बढ़ जाएगा। इसलिए मात्र ग्लव्स पहनने की जगह आपको कुछ अन्य बातों का भी ध्यान रखना चाहिए जिनके बारे में विस्तार से नीचे समझें। 

ग्रॉसरी स्टोर और ग्लव्स

कम से कम 20 सेकंड हाथ धोएं 

ग्लव्स उतारने के बाद कम से कम 20 सेकंड तक हाथों को अच्छी तरह से धोएं। ग्लव्स आपको सीधे तौर पर संक्रमित चीज़ों को छूने से बचाता है,लेकिन ग्लव्स पर तो बैक्टीरिया, वायरस सहित अन्य कीटाणु लगते ही हैं। ऐसे में इसे उतारकर तुरंत कचरे के डिब्बे में डाल दें और हाथों को अच्छी तरह से धोएं। याद रखें, एक बार पहने हुए ग्लव्स को दोबारा इस्तेमाल करने से बचें। 

20 सेकंड हाथ धोएं

दूसरों के लिए ज्यादा खतरनाक 

ग्लव्स भले ही आपको कुछ हद तक प्रोटेक्शन दे दे, लेकिन यह दूसरों के लिए बेहद खतरनाक है। जी हां, यदि ग्रॉसरी स्टोर पर आपके ग्लव्स पर  बैक्टीरिया, वायरस सहित अन्य कीटाणु लग गए और आपने किसी व्यक्ति को छू लिया तो सोचिए इससे जाने-अनजाने में कितना बड़ा नुकसान हो सकता है। इसलिए यदि आप घर से बाहर कहीं भी ग्लव्स का उपयोग कर रहे हैं तो किसी भी व्यक्ति को छूने से बचें। 

छूने से बचें

मेडिकल ग्लव्स और आप 

यदि आपको पूरी तरह से प्रोटेक्शन चाहिए तो आप मेडिकल ग्लव्स का इस्तेमाल ज़रूर कर सकते हैं। हालांकि, यहां हम आपको एक बात स्पष्ट कर दें कि इन ग्लव्स का उपयोग टॉक्सिक वायरस, ब्लड और ऑपरेशन के दौरान होने वाले इन्फेक्शन से बचने के लिए किया जाता है। चूंकि यह बेहद सीमित मात्रा में बाज़ार में उपलब्ध हैं इसलिए आप इन्हें सामान्य तौर पर ग्रॉसरी स्टोर या मेडिकल स्टोर जैसी जगहों पर जाते समय इस्तेमाल ना करें, क्यूंकि सही मायनों में यहां इनकी ज़रुरत ना के बराबर है। इससे बेहतर है कि घर से बाहर निकलते समय आप एक अच्छी क्वालिटी के मेडिकल मास्क का उपयोग करें।

मेडिकल ग्लव्स और आप

डॉ. योगेंद्र कोठारी,जनरल फिजिशियन,श्री सिद्धि विनायक मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल, मन्दसौर,मध्यप्रदेश से बातचीत पर आधारित।

यह भी पढ़ें

  1. मानसून में हेल्थ और स्वच्छता के लिए टिप्स 

  2. कोविड-19 के खतरे के बीच खाने बनाते, खाते और स्टोर करते वक्त इन बातों का रखें ध्यान 

  3. मोटापा कम करना चाहती हैं तो अपनाएं ये टिप्स 

  4. जब आसपास मौजूद लोग ना करें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन तो अपनाएं यह टिप्स 

  5. इन तीन तरीकों से मिल्क पाउडर के जरिए कीजिए त्वचा की देखभाल, चमक उठेगा चेहरा

  6. लॉकडाउन में इस तरह करें कलर्ड बालों की देखभाल

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

जब आसपास मौज...

जब आसपास मौजूद लोग ना करें सोशल डिस्टेंसिंग...

हाथ धोते समय...

हाथ धोते समय याद रखें 5 बातें

कोविड-19 : स...

कोविड-19 : समान स्टोर करते समय ही नहीं, बल्कि...

इन 5 चीज़ों क...

इन 5 चीज़ों को चेहरे पर सीधे लगाने की गलती...

पोल

आपकी पसंदीदा हिरोइन

गृहलक्ष्मी गपशप

पहली बार घर ...

पहली बार घर रहे...

लाॅकडाउन से पहले अक्षय कुमार की फिल्म सूर्यवंशी रीलीज़...

अनलाॅक 2 में...

अनलाॅक 2 में 31...

मिनिस्ट्री आफ होम अफेयर्स ने कहा है कि जो डोमैस्टिक...

संपादक की पसंद

गुरु एक सेतु...

गुरु एक सेतु है,...

गुरु तो एक सेतु है, एक संभावना है। गुरु एक तरह की रिक्तता...

दिल जीत लेंग...

दिल जीत लेंगे जयपुर...

जयपुर को गुलाबी शहर कहा जाता है लेकिन ये महलों का शहर...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription