GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

नियमित व्यायाम दिलाए कमर दर्द से निजात

Jyoti Sohi

26th May 2020

शरीर को चुस्त और दुरूस्त बनाने के लिए कार्य करने के साथ साथ सैर और व्यायाम भी बेहद ज़रूरी है। जो हमारे शारीरिक अंगों को बीमारियों की चपेट से बचाते हैं।

नियमित व्यायाम दिलाए कमर दर्द से निजात
बदलती कार्यशैली और दिनचर्या के हिसाब से हम अपना आधे से ज्यादा वक्त कम्प्यूटर के सामने गुज़ारते हैं। जहां हम कई घंटों लगातार एक कुर्सी पर बैठकर बिना हिले ढुले काम करते रहते हैं, जो हमारे शरीर के लिए बेहद नुकसानदायक है। वो कुर्सी भले ही दिखने में कितनी ही आरामदायक क्यों न हो, मगर शरीर पर हर मिनट दुष्प्रभाव डालती है। शरीर को चुस्त और दुरूस्त बनाने के लिए कार्य करने के साथ साथ सैर और व्यायाम भी बेहद ज़रूरी है। जो हमारे शारीरिक अंगों को बीमारियों की चपेट से बचाते हैं। चलिए आज हम आपकी इसी समस्या को हल करते हुए कुछ ऐसी एक्सरसाइज बताने जा रहे हैं जो आपके कमर के दर्द को कम या बिल्कुल समाप्त भी कर सकती हैं। 
स्पाइनल ट्विस्ट यानि धूनमन आसन
इस एक्सरसाइज को करने के लिए कमर के बल लेटें, अपनी भुजाएं खोलकर कंधों की सीध में लाएं। इस समय दांयां कंधा देखें। आपके पैर और शरीर एक सीध में आ जाते हैं। इस आसन से कमर के हिस्से में लचीलापन और मज़बूती आती है। 
स्पाइनल स्ट्रेच यानि सुप्त मत्स्येन्द्रासन 
पीठ के बल लेटकर कमर से नीचे के हिस्से को एक तरफ मोड़ने की कोशिश करें। दाईं टांग को घुटने के पास से मोड़ लें और उपर की ओर उठाएं। फिर दायें पैर को बाएं घुटने पर टिका लें। 
फ्लोर स्ट्रेच यानि सुप्ततार आसन
जमीन पर सीधे लेट जाइए और अपनी जांघ को ऊपर कर उसे हाथ के सहारे स्ट्रेच कीजिए। इस पोज को करीब 10 सेकेंड के लिए स्थिर रखिए, दिन में 3-5 बार इस एक्सरसाइज को दोहराना आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। इसमें कमर के निचले हिस्से को जमीन पर लगाना है। 
मकरासन 
इस आसन की गिनती पेट के बल लेटकर किए जाने वाले आसनों में की जाती है। इस आसन की अंतिम अवस्था में हमारे शरीर की आकृति मगर की तरह प्रतीत होती है इसीलिए इसे मकरासन कहते हैं। मकरासन कमर दर्द के लिए रामबाण इलाज माना जाता है। 
भुजंगासन 
इस आसन की गिनती भी पेट के बल लेटकर किए जाने वाले आसनों में की जाती है। इस आसन की अंतिम अवस्था में हमारे शरीर की आकृति फन उठाए सांप की तरह प्रतीत होती है इसीलिए इसे भुजंगासन कहते हैं। 
हलासन 
हलासन करते वक्त शरीर की स्थ्तिि हल के समान हो जाती है इसीलिए हलासन कहते हैं। हलासन करने के लिए पीठ के बल सीधे लेट जाएँ। बाजुओं को सीधा पीठ की बगल में जमीन पर टिकाएं। दोनों पैरों को एक दूसरे से मिलाकर रखें। आँखें बंद करके शरीर को ढीला छोड़ दें। अब कोहनियों को जमीन पर टिकाएं हुए दोनों हाथों से पीठ को सहारा दें। हलासन से पीठ के ऊपरी भाग और गर्दन में खिंचाव आता है।
नी टू चेस्ट स्ट्रेच
पीठ के बल सीधे लेट जाएं और अपने घुटनों से अपनी छाती को छुएं। इस पोज को 20 सेकेंड तक करें और इस एक्सरसाइज को दिन में 4-5 बार दोहराएं। ये व्यायाम आपको शारीरिक मजबूती प्रदान करेगा।
द हिप फ्लेक्सर स्ट्रेच
हिप फ्लेक्सर माॅसपेशियां घुटनों को उठाने और कमर को मुड़ने में मदद करती है। इस पोज को करने से आपको शारीरिक मजबूती तो मिलेगी ही, उसके साथ-साथ अगर आपको कूल्हे के दर्द की परेशानी है तो उससे भी आराम मिलेगा।
कैट एंड कैमल स्ट्रेच 
अपने हाथों और घुटनों पर आएं, कलाइयां कंधों के नीचे और घुटने हिप्स के नीचे रखें। सांस लेते समय कमर को ऊपर उठाएं, सीने को आगे ले जाएं और नाभि को फर्श पर आने दें। सांस छोड़ते समय अपनी रीढ़ को बाहर घुमाएं और टेलबोन को सिकोड़ें। अपने सिर को फर्श की ओर लाएं और ठोढ़ी को चेस्ट की ओर। सांस के साथ अपनी गति का तालमेल बिठाएं। 
धनुरासन
धनुरासन करने के लिए पेट के बल लेट जाएँ। दोनों पैरो के घुटनो को मोड़ कर एड़ियों को कूल्हों पर टिकाएं। अब हाथो से अपने टखनों को पकड़ें। जितना हो सके उतना अपनी जांघों और छाती को ऊपर उठायें। कुछ देर इसी मुद्रा में रहे और वापिस पहले वाली पोजीशन में आ जाएँ। धनुरासन एक कठिन आसन है, जो हमारी हड्डियों में लचीलापन लाता है और उन्हें मजबूत भी बनाता है।
कोबरा पोज
पेट के बल लेटें और हाथों को चेस्ट के पास लाएं। कुहनियों को पसलियों की ओर सिकोड़ें और सांस लेते समय चेस्ट उठाएं, कंधे घुमाएं और सिर को पीछे ले जाएं। सांस छोड़ते समय चेस्ट को नीचे की ओर लाएं।
साइड बेंडिंग पोज
सीधे खड़े हो जाएं, अपने हाथों को सिर के ऊपर ले जाएं और उंगलियों को एक-दूसरे में जकड़ें। सांस छोड़ते समय दायें हिप्स को दबाएं और बाईं ओर मुड़ें उंगलियों को ऊपर नीचे करें. यह प्रक्रिया 4 से 5 बार दोहराएं।
 
व्यायाम के अन्य फायदे 
तनाव को करें कम
गर्दन के दर्द से निजात
वजन कम करने में सहायक
सांस संबंधी समस्या से निजात
स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करने से हमारे शरीर के जोड़ों के मुड़ने की क्षमता मे सुधार आता है।
स्ट्रेचिंग करने से हमारे शरीर की फुर्ती बढ़ती है।
इन्हे करने से चोंट लगने की संभावनाएं बहुत कम हो जाती हैं।
व्यायाम मांसपेशियों को प्रभावी ढ़ंग से काम करने के लिए सक्षम बनाती है।
स्ट्रेचिंग करने से मांसपेशियों की लंबाई बढ़ती है और शरीर के पोस्चर में सुधार आता है। 
एक्सरसाइज करने से हमारे शरीर में लचीलापन बढ़ता है और चोंट लगने की संभावनाएं भी बहुत कम हो जाती है।
कमर दर्द के घरेलू उपाय 
ेअदरक का इस्तेमाल - 
सबसे पहले अदरक का पेस्ट तैयार कर लें फिर उसका पेस्ट प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं।
उसे सूखने दें। सूखने के बाद उसे धोकर नीलगिरी का तेल लगा लें।
कमर दर्द में है तुलसी फायदेमंद 
तुलसी के पत्तों को एक कप पानी में डाल दें और जब तक पानी आधा न हो जाए तब तक उबलते रहने दें।
इसके बाद मिश्रण को ठंडा होने के लिए रख दें और फिर उसमे चुटकीभर नमक मिलाएं।
हल्के दर्द के लिए इस मिश्रण को दिनभर में एक बार जरूर पियें।
गंभीर दर्द के लिए आप इसे पूरे दिन में दो बार पिएँ।
खसखस के बीज 
एक कप खसखस के बीज और मिश्री को मिक्सर में मिक्स कर लें।
रोजाना इस मिश्रण को पूरे दिन में दूध के साथ दो बार जरूर लें।
जड़ी बूटी तेल  
अपनी पीठ को हर्बल तेल से मसाज करें। इससे आपकी मांसपेशियों को आराम मिलेगा और पीठ का दर्द भी दूर होगा। आप हर्बल तेल जैसे नीलगिरी, बादाम, जैतून या नारियल का इस्तेमाल कर सकते हैं। तेल को गर्म कर लें फिर उससे पीठ के दर्द वाले क्षेत्र पर धीरे धीरे मसाज करें।
लहसुन है लाभदायक 
लहसुन एक और घरेलू उपाय है जो पीठ के दर्द का इलाज करने में मदद करता है। रोज सुबह खाली पेट दो या तीन लहसुन की फांके खा लें। आप अपनी पीठ को लहसुन के तेल से भी मसाज कर सकते हैं।
सेंधा नमक है उपयोगी 
सेंधा नमक का गाढ़ा पेस्ट बनाने के लिए उसे गर्म पानी में मिला दें।
अब उसमे एक तौलिये को डुबोये और फिर उसे अच्छे से निचोड़ लें।
गर्म गर्म तौलिये को प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं इससे आपके पीठ दर्द की किसी तरह की सूजन कम होती नजर आएगी।
इसके अलावा आप दो कप सेंधा नमक को अपने नहाने के टब में मिलाकर इस्तेमाल कर सकते हैं।
 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

योग से रोकें...

योग से रोकें उम्र को

Internationa...

International Yoga Day 2020: इन आसान योग...

योगासनों से ...

योगासनों से मूड को करें ठीक

बाजुओं को मज...

बाजुओं को मजबूत बनाने वाले योगासन

पोल

आपकी पसंदीदा हिरोइन

गृहलक्ष्मी गपशप

पहली बार घर ...

पहली बार घर रहे...

लाॅकडाउन से पहले अक्षय कुमार की फिल्म सूर्यवंशी रीलीज़...

अनलाॅक 2 में...

अनलाॅक 2 में 31...

मिनिस्ट्री आफ होम अफेयर्स ने कहा है कि जो डोमैस्टिक...

संपादक की पसंद

गुरु एक सेतु...

गुरु एक सेतु है,...

गुरु तो एक सेतु है, एक संभावना है। गुरु एक तरह की रिक्तता...

दिल जीत लेंग...

दिल जीत लेंगे जयपुर...

जयपुर को गुलाबी शहर कहा जाता है लेकिन ये महलों का शहर...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription