GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

4 राजस्थानी रेसिपी जो घर पर आसानी से बना सकते हैं आप

Sonal Sharma

28th May 2020

रंगीला राजस्थान अपनी संस्कृति, कला और वेशभूषा के लिए मशहूर है लेकिन यहां के जायकों की महक दुनिया भर में महकती है।

4 राजस्थानी रेसिपी जो घर पर आसानी से बना सकते हैं आप

Rajasthani Dishes

राजस्थान की जलवायु कई फसलों या मसालों की खेती की अनुमति नहीं देती है, फिर भी आप कभी भी उनके व्यंजनों में इसकी कमी महसूस नहीं करेंगे। यहां ऐसे 5 राजस्थानी व्यंजनों की रेसिपी दी जा रही है जो कि देश के किसी भी राज्य में हो घर में आसानी से बना सकते हैं लेकिन टेस्ट ठेठ राजस्थानी ही मिलेगा। 
दाल बाटी चूरमा 
दाल की सामग्री  
1/3 कप मूंग की दाल 
1/3 कप चने की दाल 
1/3 कप मसूर की दाल 
1/3 कप अरहर दाल
1 टेबल स्पून लाल मिर्च 
1 टीस्पून हल्दी 
1 टेबलस्पून धनिया पाउडर 
1/3 टीस्पून हींग 
1/2 टीस्पून जीरा 
1 टीस्पून राई 
1 तेजपान का पत्ता 
4-5 कढ़ी पत्ता 
2-3 लौंग 
3 कप पानी
3 टेबल स्पून घी
2 खड़ी लाल मिर्च 
2 मध्यम आकार के टमाटर 
2 मध्यम आकार के प्याज 
1 टीस्पून अदरक लहसुन का पेस्ट 
2 हरी मिर्च 
नमक स्वादानुसार 
हरा धनिया 
दाल बनाने की विधि
सबसे पहले चारों दालों (मसूर, अरहर, मूंग और चने की दाल) को एक बर्तन में ले लें। चारों दालों में पानी डालकर इन्हें पहले धो लें और फिर थोड़ा पानी डालकर 15-20 मिनट उस भीगने दें। अब गैस पर एक बर्तन रखें। उसमें घी डालें। थोड़ा गरम होने पर जीरा, राई, हींग, तेज पान का पत्ती, खड़ी लाल मिर्च, कढ़ी पत्ता एक-एक करके डालकर मिलाएं। अब अदरक लहसुन का पेस्ट डालकर हिलाएं। बारी कटा प्याज, हरी मिर्च डालकर दो से तीन मिनट थोड़ा भुन लें। अब इसमें हल्दी, धनिया, लाल मिर्च और नमक मिला दें। अब इसमें भिगोई हुई दाल डाल दें। अच्छी मिक्स करने के बाद दो गिलास पानी डालकर मिला दें। अब ढक्कन लगाकर दाल को सीजने दें। थोड़ी-थोड़ी देर हिलाते रहे। 15-20 मिनट में दाल अच्छी सिज जाती है। अब इसमें कटे हुए टमाटर और हरा धनिया डालकर मिला दें। कुछ देर में गैस बंद कर दें। दाल तैयार है। 
बाटी बनाने की सामग्री
800 ग्राम गेहूं का आटा 
1 टेबलस्पून अजवाइन 
2 टेबलस्पून घी 
1 टेबलस्पून नमक 
1 कटोरी सूजी 
पानी 
बाटी बनाने की विधि 
एक परात में आटा ले लें और उसमें सूजी मिला दें। इसका बाद नमक और दो-तीन चम्मच घी मिला दें। इन सभी को हाथों से अच्छे से मिला दें। इसमें अब अजवाइन डाल दें। पानी डालते हुए आटा गूंथे। बाटी का आटा थोड़ा मोटा पिसा हुआ होना चाहिए। बाटी का आटा थोड़ा टाइट ही गूंथे। अब बाटी के लिए लोया तैयार कर लें। बाटी सेंकने के लिए ओवन को गैस पर रखे और सारी बाटियां रखकर सेंक लें। 
चूरमा बनाने की सामग्री और  विधि 
तैयार बाटी में से 5 बाटियां चूरमे के लिए निकाल लें। बाटियां हल्की ठंडी हो जाए तो उसे हाथों से तोड़कर मिक्सर में डाल दें। मिक्सी चलाकर बाटियों को थोड़ा दरदरा पीस लें। उसे एक बर्तन में लेकर, बारी लंबे कटे बादाम, काजू, किशमिश डाल दें। अब गूंद को एक बर्तन में घी में फूला लें और मिश्रण में डाल दें। थोड़ा और घी डालकर सभी को मिला दें। आधी कप पीसी शक्कर डालकर मिला दें। चूरमा तैयार है। 
बेसन गट्टे की सब्जी 
गट्टे की सामग्री  
1 कटोरी बेसन 
1/2 टीस्पून हल्दी 
1/4 टेबलस्पून लाल मिर्च पाउडर 
1 टीस्पून जीरा पाउडर
1 टीस्पून खड़ा धनिया कूटा हुआ 
1 टीस्पून तेल
नमक स्वादानुसार 
गट्टे की विधि
एक बर्तन में बेसन लें। इसमें लाल मिर्च पाउडर, जीरा पाउडर, खड़ा धनिया, नमक डाल लें। इसमें तेल डालकर अच्छे से मिला दें। अब पानी डालकर पूरी जैसा आटा गूंथ लें। अब हाथों में तेल लगाकर 6-7 बराबर भागों में बांट ले और इसका 3-4 इंच लंबा रोल बना लें। अब एक कड़ाही में तीन कप पानी डालकर उबाल लें। उबले पानी में ये रोल डाल लें। रोल जब पानी की सतह पर तैरने लगते हैं तो यह पके हुए होते हैं। गैद बंद कर इन रोल को पानी से निकाल कर प्लेट में रख लें। इन रोल को ठंडा होने पर आधे इंच लंबे टुकड़ों में काट लें। गट्टे बन गए हैं। ध्यान रहे इस पानी को फेंके नहीं इसे सब्जी की ग्रेवी में इस्तेमाल करें। 
ग्रेवी बनाने की विधि 
ग्रेवी से पहले मसाला बनाने के लिए एक कटोरी दही में एक चम्मच लाल मिर्च, एक चम्मच हल्दी, एक चम्मच नमक मिलाकर घोल बना लें। अब गैस पर एक कड़ाही रखें और उसमें दो चम्मच तेल डालें। इसमें जीरा, हींग, कटी हुई हरी मिर्च, पिसा हुआ प्याज डालकर पका लें। दो मिनट भुनने के बाद उसमें दही वाला घोल मिला दें। अब इसमें 8-10 मिनट पकाइए। इसके बाद गट्टे डाल दें। इसमें थोड़ा सा पानी डालें और 5-6 मिनट अच्छा पका लें। अब गरम मसाला और आधी कटोरी मलाई डालकर मिलाएं। अब इसमें हरा धनिया डाल दें। गट्टी की सब्जी तैयार है। 
मालपुआ 
सामग्री 
1 कप मैदा
2 कप दूध 
1/2 टीस्पून पिसी हुई इलाइची 
1 कप शक्कर 
1 कप पानी
घी
विधि 
एक बर्तन में आधी कटोरी मैदा छान लें। इसमें एक कटोरी दूध डालकर घोल तैयार कर लें। पिसी हुई इलाइची डाल दें। घोल तैयार है। छानी बनाने के लिए एक कप शक्कर और एक कप पानी लेकर बर्तन में गर्म करें। इसमें पूरी इलाइची सिर्फ तोड़कर डाल दें। केसरिया रंग मिला दें। छानी तैयार हैं। अब चौड़े पेंदे की कड़ाही लेकर घी डाल दें। अब थोड़ा-थोड़ा घोल डाल दें। दोनों तरफ तलकर इसे निकाल लें। इन्हें दो-तीन मिनट छानी में रखकर एक प्लेट में निकाल लें। मालपुआ तैयार है। 
मूंग दाल की पूरी 
सामग्री 
1 कप गेहूं का आटा 
2 टीस्पून नमक
2 टीस्पून लाल मिर्च 
1/4 टीस्पून हल्दी पाउडर 
1/2 टीस्पून अजवाइन 
1/2 टीस्पून जीरा 
1/2 कप बिना छिल्के वाली मूंग दाल
1/2 इंच अदरक
1/4 टीस्पूवन हींग
1 टीस्पून साबुत धनिया दरदरा
2 बारीक कटी हरी मिर्च 
2 चम्मच धनिया के पत्ते 
विधि 
एक बर्तन में आटा लें। इसमें  आधा चम्मच नमक, लाल मिर्च, अजवाइन, जीरा, दो टेबलस्पून तेल डालकर मिक्स कर लें। अब पानी से टाइट आटा गूंथ लें। अब इसे 15 मिनट ढंककर रख दें। अब आधा कप बिना छिलके की मूंग दाल तीन घंटे भिगोकर रखें। अब इसका पानी निकाल कर मिक्सर में ले लें। इसमें अदरक के दो-तीन टुकड़े, एक छोटा चम्मच लाल मिर्च, एक चम्मच नमक, दो टेबलस्पून पानी डालकर पीस लें। अब इसे मिक्सर से निकालकर बर्तन में लें। इसमें साबुत धनिया दरदरा पिसा हुआ, दो कटी हुई हरी मिर्च, दो टेबलस्पून हरा धनिया, हींग डालकर मिक्स कर लें। 
अब पूरी बनाने के लिए आटे की लोइया बनाकर गोल बेल लें। उसे एक कटोरी से काटकर एक जैसे शेप में ले आए। उसमें चाकू से होल कर दें। अब तलने के लिए पहले दाल का मिश्रण इस पर रखें और कड़ाही में पूरी डालें लेकिन ध्यान रहें कि दाल नीचे की तरफ रहें। अब दोनों और से तल लें। दाल पूरी तैयार है। 

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

मध्य प्रदेश ...

मध्य प्रदेश में खूब खाई जाती हैं ये 5 डिशेज,...

सब्जियों की ...

सब्जियों की टेंशन खत्म हो जाएगी, घर पर ही...

ये 5 पंजाबी ...

ये 5 पंजाबी डिशेज खाकर अंगुलियां चाटते रह...

सेहत के लिए ...

सेहत के लिए इस तरह फायदेमंद है ओट्स, नाश्ते...

पोल

आपकी पसंदीदा हिरोइन

गृहलक्ष्मी गपशप

पहली बार घर ...

पहली बार घर रहे...

लाॅकडाउन से पहले अक्षय कुमार की फिल्म सूर्यवंशी रीलीज़...

अनलाॅक 2 में...

अनलाॅक 2 में 31...

मिनिस्ट्री आफ होम अफेयर्स ने कहा है कि जो डोमैस्टिक...

संपादक की पसंद

गुरु एक सेतु...

गुरु एक सेतु है,...

गुरु तो एक सेतु है, एक संभावना है। गुरु एक तरह की रिक्तता...

दिल जीत लेंग...

दिल जीत लेंगे जयपुर...

जयपुर को गुलाबी शहर कहा जाता है लेकिन ये महलों का शहर...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription