GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

शादियों का बदलता ट्रेंड

मोनिका अग्रवाल

3rd June 2020

यह एक ऐसी आनंदमय यात्रा है जिसमें दो आत्माएं और दो परिवार रहते हैं और एक साथ आनंद लेते हैं। शादी एक खुशी है, एक आनंद है जो किसी के जीवन को स्वर्ग में बदल सकता है।

शादियों का बदलता ट्रेंड

शादियों का बदलता ट्रेंड

शादी जीवन का सबसे मुश्किल साथ ही साथ एक सबसे सुंदर फैसला है जो एक व्यक्ति अपने जीवन में करता है। यह एक ऐसी आनंदमय यात्रा है जिसमें दो आत्माएं और दो परिवार रहते हैं और एक साथ आनंद लेते हैं। शादी एक खुशी है, एक आनंद है जो किसी के जीवन को स्वर्ग में बदल सकता है।आप किसी ऐसे व्यक्ति विशेष के साथ क्लिक करते हैं जिसे आप बहुत अधिक और भव्यता से कनेक्ट करते हैं। फिर आप धीरे-धीरे अपनी भावनाओं को विकसित करते हैं।

चमकती हुई शादी के गुप्त तत्व विश्वास, सम्मान और सबसे महत्वपूर्ण समझ हैं। और ओह्ह! हम कैसे एक आकर्षक तरीके से सही व्यक्ति खोजने को भूल सकते हैं। आप जानते हैं कि आप सही हैं जब आप अपना अधिकांश समय उस विशेष व्यक्ति के साथ बिताना चाहते हैं और अनंत काल तक यह कदम उठाना चाहते हैं।

परिवर्तन एकमात्र स्थिर है, और 21 वीं सदी में चीजें काफी हद तक बदल रही हैं, चाहे वह जीवन शैली हो, स्टाइल हो, शिक्षा हो या विवाह अपने आप में हो। हम इस तथ्य से इंकार नहीं कर सकते हैं कि भारत में शादी एक बड़ी चीज है, यह एक त्यौहार की तरह है और जब हम इसकी तुलना करने आते हैं तो यह देखा जा सकता है कि जनसंख्या के एक निश्चित हिस्से के लिए विवाह अभी भी एक बड़ा और उल्लासपूर्ण आयोजन माना जाता है लेकिन इसके विपरीत ज्यादातर लोग एक साधारण शादी के लिए जा रहे हैं, उसके बाद रिसेप्शन की तरह सिर्फ एक भव्य कार्यक्रम होता है। यह अब एक पारिवारिक कार्यक्रम बन गया है और अगर लोग इसे बड़े पैमाने पर आयोजित करना पसंद करते हैं, तो वेडिंग प्लानर को काम पर रखा जाता है, जो पहले के समय में केवल परिवार के सदस्यों द्वारा ही व्यवस्थित  किया जाता था।

शादियों की व्यवस्था और इससे जुड़े इवेंट्स अब एक बड़ा व्यवसाय बन गई हैं और कई लोगों के लिए बहुत सारे रोजगार पैदा कर रही हैं। इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता है कि शादियाँ एक स्टेटस सिंबल के रूप में अधिक हो गई हैं और इस आयोजन की व्यवस्था बेहतर होने से एक परिवार के अधिक शक्तिशाली होने का आभास होता है। चाहे अंबानी की शादी हो या किसान की , एक व्यक्ति के लिए शादी एक बहुत ही महत्वपूर्ण दिन है और लोग जैसे ही अपने बच्चों को उनके किशोरावस्था से गुजरते हैं, इसके लिए योजना बनाना शुरू कर देते हैं।

आधुनिक विवाह में कई नए चलन देखे गए हैं, जहां पारंपरिक समाज में, दूल्हा और दुल्हन को शादी से पहले एक-दूसरे से मिलने की अनुमति नहीं दी गई थी, क्योंकि वह 'अशुभ' माना जाता था। लोग सोचते थे कि लव मैरिज की तुलना में अरेंज मैरिज सफलतापूर्ण  संपन्न होते हैं और सबसे अच्छे होते हैं। पहले माता पिता व् रिश्तेदार द्वारा जीवन साथी का चुनाव किया जाता था लेकिन अब चीजों ने यू टर्न ले लिया है, एक व्यक्ति को शादी करने और अपने लिए जीवनसाथी चुनने से पहले बहुत समय लगता है। यह अरेंज मैरिज हो या लव मैरिज, लोग अपने जीवन के इस बड़े फैसले को लेने से पहले समय लेते हैं और हाथ मिलाने से पहले दोस्ती का बंधन बनाने की कोशिश करते हैं और बाकी की जिंदगी साथ में बिताते हैं।

शादियों की व्यवस्था

जगनूर अनेजा, एक प्रसिद्ध कोरियोग्राफर ने विवाह और उसमें बदलाव के रुझानों पर अपने विचार साझा किए और कहा, "आप जानते हैं कि हमारे विशिष्ट भारतीय समाज में पहले ऐसा होता था कि दुल्हन को धीरे-धीरे चलना पड़ता था, दुल्हन रोती थी और उन्हें नज़र झुकाये रखने के लिए बोला जाता थ। पर आजकल ज़माना बदल चूका है लड़किया लड़को के साथ कंधे से कंधे मिलाकर चलती है चाहे वो प्रोफेशनल लाइफ हो या पर्सनल लाइफ वह उतना ही अपनी शादी का आनंद लेना चाहती है जितना दूल्हा चाहता है! शादी की कोरियोग्राफी का चलन बहुत बदल गया है, जहां लोग कोरियोग्राफर्स को हायर करते हैं और रुझानों तक, यह इतना बदल गया है! हाल ही में हुई एक शादी में मैंने दुल्हन को कोरियोग्राफ किया था दूल्हा दुल्हन  फेरे समय के दौरान हुक्का पी रहे थे और अपनी शादी का लुफ्त उठा रहे थे तो इसलिए, शादी की कोरियोग्राफी का चलन वास्तव में बदल गया है। दुल्हन, उसका पूरा परिवार सभी मेहमान, रिश्तेदार उनके प्रदर्शन का आनंद लेते हैं और यह हमारी भारतीय संस्कृति को भी समृद्ध कर रहा है। वेडिंग कोरियोग्राफी एक साधारण शादी को भी काफी इंटरेस्टिंग बना देती है"

यह भी पढ़ें-

  1. इम्युन सिस्टम को मजबूत करने में कारगर है तुलसी का काढ़ा, ये हैं इसके फायदे 

  2. घर को बाहर से कैसे करें सैनिटाइज, जानें कुछ टिप्स 

  3. ये 5 ऑनलाइन गेम दूर बैठकर भी परिवार-दोस्तों के साथ खेल सकते हैं, खूब आएगा मजा

  4. एक खुशहाल परिवार में होती हैं ये विशेषताएं, आप भी जानें

  5. बच्चे को गलती की सजा से भी मिल सकती है सीख और सबक, अपनाएं ये टिप्स

  6. अपने  फर्नीचर को करें  सैनिटाइज़

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

क्या आप "उन"...

क्या आप "उन" से बड़ी दिखती हैं ?

कहीं आप अपने...

कहीं आप अपने परिवार या दोस्तों को मिस तो...

न्यू वेडिंग ...

न्यू वेडिंग फोटोग्राफी ट्रेंड 2019

सेक्स से पहल...

सेक्स से पहले क्या खायें

पोल

आपकी पसंदीदा हिरोइन

गृहलक्ष्मी गपशप

पहली बार घर ...

पहली बार घर रहे...

लाॅकडाउन से पहले अक्षय कुमार की फिल्म सूर्यवंशी रीलीज़...

अनलाॅक 2 में...

अनलाॅक 2 में 31...

मिनिस्ट्री आफ होम अफेयर्स ने कहा है कि जो डोमैस्टिक...

संपादक की पसंद

गुरु एक सेतु...

गुरु एक सेतु है,...

गुरु तो एक सेतु है, एक संभावना है। गुरु एक तरह की रिक्तता...

दिल जीत लेंग...

दिल जीत लेंगे जयपुर...

जयपुर को गुलाबी शहर कहा जाता है लेकिन ये महलों का शहर...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription