World Environment Day 2020: इन 10 तरीकों से बनाएं अपने किचन को ज्यादा इको-फ्रेंडली

Sonal Sharma

4th June 2020

5 जून को वर्ल्ड एनवायरनमेंट डे 2020 के मौके पर किचन में करें ये बदलाव, ज्यादा मुश्किल नहीं है गो ग्रीन होना।

World Environment Day 2020: इन 10 तरीकों से बनाएं अपने किचन को ज्यादा इको-फ्रेंडली

Eco Friendly Kitchen

एक पर्यावरण के अनुकूल किचन बनाना कोई बहुत कठिन काम नहीं है। केवल अपनी कुछ आदतों को बदलने से आपको सही दिशा में जाने में मदद मिलेगी। किचन में छोटे-छोटे बदलाव और जाने-अनजाने में हो रही गलतियों को दूर कर इको-फ्रेंडली किचन का सपना पूरा कर सकते हैं। आइए विश्व पर्यावरण दिवस 2020 पर जानिए किचन को इको-फ्रेंडली बनाने के 10 टिप्स

इको-फ्रेंडली बर्तनों और डिनरवेयर का इस्तेमाल करें

प्लास्टिक के बर्तन और स्टायरोफोम प्लेटें, बाउल्स और कप को अलग रखें। रीसाइकिल्ड ग्लास कप और सिरेमिक या केटल प्लेट और बाउल्स को अपनी अलमारियों स्टॉक करें। लकड़ी के खाना पकाने और परोसने वाले बर्तन को अपने किचन में जगह दें।

नैचुरल क्लीनिंग प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल

अपनी किचन को इको-फ्रेंडली की जाने का एक और आसान तरीका केवल नैचुरल क्लीनिंग प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करना है। इन दिनों अधिकांश किराने और बड़े स्टोर में पर्यावरण के अनुकूल क्लीनिंग प्रोडक्ट्स को ढूंढना आसान है। हालांकि आप कुछ आसान सामग्रियों के साथ घर पर अपने खुद के क्लीनिंग सॉल्यूशन्स बना सकते हैं।

कूड़े-कचरे को करें कम्पोस्ट

किचन में निकलने वाले वेस्ट कम्पोस्ट को अगर आप फेंक देते हैं तो जरा रूक जाएं। वेस्ट कम्पोस्ट को फेंकने की बजाए गार्डनिंग के लिए इस्तेमाल करें। कम्पोस्टिंग के लिए अपने गार्डन में अलग कूड़ेदान लगाकर खाने की चीजों से खाद तैयार कर सकते हैं।

एलईडी लाइट बल्ब लगाएं

अगर किचन के लिए भी एलईडी लाइट बल्ब्स यूज करेंगे तो लंबे समय में काफी पैसे की बचत कर लेंगे। एलईडी बल्ब  जल्दी गर्म होने वाले बल्ब की ऊर्जा का लगभग 20 प्रतिशत उपयोग करते हैं। वे लगभग 25 प्रतिशत लंबे समय तक रहते हैं और इन्हें ऑपरेट करने में कम खर्च करना पड़ता है। इसके साथ ही हर महीने में आने वाले बिजली के बिल पर पैसे की बचत भी होती है।

ऐसे हो किचन में कटिंग बोर्ड

कटिंग बोर्ड और चॉपिंग ब्लॉक किचन के लिए महत्वपूर्ण घटक हैं, तो क्यों न इसे एक पर्यावरण के अनुकूल खरीदा जाए? एक वुडन बोर्ड किचन के शानदार एडिशन हो सकता है  और प्लास्टिक बोर्ड या मैट के विपरीत एक स्थायी स्रोत से मिलता है। कुछ लकड़ी के प्रकार जैसे बांस स्वाभाविक रूप से हानिकारक रोगाणुओं के विकास को कम करते हैं।

प्लास्टिक कंटेनर को ग्लास कंटेनर से रिप्लेस करें

ग्लास कंटेनर अधिक महंगे हैं, लेकिन वे लंबे समय तक चलते हैं और उनमें से कोई भी ऐसा रसायन नहीं होता है जो प्लास्टिक के कई कंटेनर में होता हैं। मेसन जार एक बढ़िया, सस्ता विकल्प है और आप आमतौर पर आपके पास जिस किसी भी साइज के प्लास्टिक कंटेनर है, उसी आकार का ग्लास कंटेनर मिल सकता है।

इलेक्ट्रिक अप्लायन्सेस को किचन से बाहर रखें

माइक्रोवेव, कॉफी हीटर, टोस्टर, मिक्सी और फ्रिज आदि में किचन में रखी ज्यादातर चीजें बिजली से चलने वाली होती है लेकिन बिजली से चलने वाले ये अप्लायन्सेस बीमारियों का खतरा भी बढ़ाते हैं। इन अप्लायन्सेस को किचन के बाहर रखें, ताकि इनमें से निकलने वाला रेडिएशन सेहत को नुकसान ना पहुंचाए। वहीं थोड़ी-थोड़ी देर में फ्रिज को बार-बार ना खोलें।

साफ रखें इन अप्लायन्सेस

इन अप्लायन्सेस का इस्तेमाल करने के बाद कई महिलाएं इन्हें साफ करना भूल जाती है। ऐसे में उनमें बैक्टीरिया इनमें अपना घर बना लेते हैं। बेहतर होगा कि सप्ताह में कम से कम 1 बार लिक्विड सोप से इसे साफ जरूर करें। क्लीनिंग के लिए बेकिंग सोडा का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

नैचुरल फ्रैब्रिक का इस्तेमाल

अपनी डाइनिंग की कुर्सियों और खिड़की की ड्रेसिंग के लिए कॉटन या ऊन चुनें क्योंकि मानव निर्मित कपड़े पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वाले रसायनों से बने होते हैं।

चिमनी या एग्जॉस्ट फैन जरूर हो

किचन में एग्जॉस्ट फैन या चिमनी का प्रयोग खाना बनाते समय जरूर करें ताकि छौंक आदि की गंध घर में न फैले। इन की भी समय-समय पर सफाई जरूर करती रहें।

 

यह भी पढ़ें-

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

अपने घर को ब...

अपने घर को बनाएं ईको फ्रेंडली

इन टिप्स को ...

इन टिप्स को अपनाकर आप ट्रैवल करते हुए भी...

World Enviro...

World Environment Day 2020: 7 तरीके जिनसे...

चलो प्रकृति ...

चलो प्रकृति से मिलें

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

क्या है वो ख...

क्या है वो खास कारण...

क्या है वो खास कारण जिसकी वजह से ब्यूटी कांटेस्ट में...

ननद का हुआ ह...

ननद का हुआ है तलाक,...

आपसी मतभेद में तलाक हो जाना अब आम हो चुका है। कई बार...

संपादक की पसंद

दुर्लभ मगरगच...

दुर्लभ मगरगच्छ के...

रूस की लग्जरी गैजेटस कंपनी केवियर ने सबसे मंहगा हेडफोन...

शिशु की मालि...

शिशु की मालिश के...

बच्चे के जन्म के साथ ही अधिकांश माँए हर रोज शिशु को...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription