क्यों न आजमाएं कुछ घरेलू नुस्खे!

Shweta Rakesh

24th June 2020

तुलसी, नीम, काली मिर्च, अदरक, हल्दी और न जाने कितने फल-फूल, सब्जियां हमारे शरीर के लिए अमृत तुल्य हैं। डालते हैं इनके कुछ ऐसे ही औषधीय गुणों पर एक नजर।

क्यों न आजमाएं कुछ घरेलू नुस्खे!

प्रकृति के पास हमारे शारीरिक संरचना एवं स्वभाव के अनुकूल औषधीय गुणों से भरपूर पेड़-पौधों का विशाल भंडार है, जो समय-असमय हमें रोगों से बचाते हैं और जिनके लिए हमें कहीं दूर जाने की भी जरूरत नहीं। ये पौधे आपके आसपास ही होते हैं, जिनसे आप कुछ घरेलू नुस्खे तैयार कर रोगमुक्त हो सकते हैं-

  • यदि दांत में कीड़े लग गए हों तो तुलसी के रस में थोड़ा कपूर मिलाकर और उसमें रुई भिगोकर उसे दांत पर रख दें। इससे कीड़े मर जाते हैं। इसके अतिरिक्त तुलसी के पत्तों और काली मिर्च को पीसकर गोली बना लें। जिस दांत में दर्द है, उस दांत के ऊपर रखकर दबा दें। दर्द से राहत मिलेगी।
  •   चम्पा के सूखे पत्तों का चूर्ण नारियल के तेल में मिलाकर शरीर में लगाने से खुजली में राहत मिलती है।
  • एक चम्मच शहद एक गिलास पानी में मिलाकर नित्य सुबह खाली पेट पीने से खाज-खुजली व दाद से मुक्ति मिलती है।
  • आम के फलों की डंठल तोड़ने के बाद जो रस (चेप) निकलता है, उसे दाद पर लगाने से राहत मिलती है।
  • नींबू का रस व तुलसी की पत्तियों का रस मिलाकर दाद, खुजली व अन्य त्वचा के रोगों में लगाने व मलने से आराम मिलता है।
  • पीली मिट्टी का बारीक चूर्ण पूरे शरीर पर लगाकर धीरे-धीरे मलें। गर्मी से निकली हुई घमोरियों और उनकी चुनचुनाहट में आराम मिलता है।
  • तरबूज के छिलके को सुखाकर जला लें। अब इस भस्म को एक्जिमा के घाव पर लगायें। अगर एक्जिमा सूखा है तो भस्म को सरसों के तेल में मिलाकर लगाएं। नौ-दस दिन में आराम मिल जाएगा। दवा के सेवन करने के दिनों में कोई भी नशा न करें। मिर्च मसालों से भी परहेज करें।
  • हल्दी को सरसों के तेल में मिलाकर लगाने से शरीर के सभी प्रकार के चर्मरोग दूर हो जाते हैं।
  • बेर की हरी पत्तियों और कोमल टहनियों को पीसकर फोड़े पर लगाएं। फोड़ा ठीक हो जाता है।
  • गेंदे की पत्तियों को कूटकर रस निकाल लें और इस रस को गुनगुना कर दाद पर मल कर छोड़ दें। लगातार लगाते रहने से दाद ठीक हो जाता है।
  • सुबह-शाम नींबू के रस में तुलसी की पत्तियों का रस मिलाकर चेहरे पर मलने से चेहरे के काले धब्बे आदि दूर हो जाते हैं और चेहरे की आभा बढ़ जाती है।  काली तुलसी के नियमित सेवन से शरीर से सफेद दाग दूर हो जाते हैं और शरीर की चमक भी बढ़ती है।
  • काली तुलसी के नियमित सेवन से शरीर से सफेद दाग दूर हो जाते हैं और शरीर की चमक भी बढ़ती है।
  • लहसुन को तेल में गर्म करके उस तेल को कान में डालें। इससे कान-दर्द ठीक हो जाता है। सरसों के तेल में प्याज का रस मिलाकर गुनगुना कर  लें और कान में डालें। इससे भी कान-दर्द ठीक होता है।
  • दांत के दर्द में गोखरू फल उसी ओर बांधने से लाभ होता है।

गृहलक्ष्मी टीम

 

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

पहले स्वास्थ...

पहले स्वास्थ्य से प्यार फिर मनाएं उमंगों...

त्वचा  है से...

त्वचा है सेहत का आईना

प्रेग्नेंसी ...

प्रेग्नेंसी के बाद स्ट्रेच मार्क्स से इन...

सेहतमंद रहने...

सेहतमंद रहने के लिए कौन-कौन से बीजों को डाइट...

पोल

आपकी पसंदीदा हिरोइन

गृहलक्ष्मी गपशप

पहली बार घर ...

पहली बार घर रहे...

लाॅकडाउन से पहले अक्षय कुमार की फिल्म सूर्यवंशी रीलीज़...

अनलाॅक 2 में...

अनलाॅक 2 में 31...

मिनिस्ट्री आफ होम अफेयर्स ने कहा है कि जो डोमैस्टिक...

संपादक की पसंद

गुरु एक सेतु...

गुरु एक सेतु है,...

गुरु तो एक सेतु है, एक संभावना है। गुरु एक तरह की रिक्तता...

दिल जीत लेंग...

दिल जीत लेंगे जयपुर...

जयपुर को गुलाबी शहर कहा जाता है लेकिन ये महलों का शहर...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription