इतिहास, प्रकृति और मॉडर्न फ्लेवर वाली बैंकॉक की ट्रिप

चयनिका निगम

13th July 2020

थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक को महसूस करना भर भी रोमांचित कर जाता है। इस शहर में आधुनिकता, इतिहास और प्रकृति तीनों का संगम देखने को मिलेगा।

इतिहास, प्रकृति और मॉडर्न फ्लेवर वाली बैंकॉक की ट्रिप
भारत में रहते हुए जब भी आप कभी विदेश जाने की सोचेंगे तो सबसे पहले आपको आस-पास के देश ही याद आएंगे। इनमें नेपाल भी होगा और श्रीलंका भी, दुबई भी होगा तो थाईलैंड भी। थाईलैंड का नाम आया है तो बता दें, इसकी राजधानी बैंकॉक भी कम पॉपुलर नहीं है। इसको घूमने का ख्वाब मानिए हर यात्री ने दिल में संजो रखा है। यहां आपको तकनीक के अजूबे दिखेंगे तो खाने के बेहतरीन स्टॉल भी। प्राचीन मंदिर मिलेंगे तो आधुनिकता समेटे हुए कई दूसरे स्थान भी। थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक घूमने का मन बनाया है तो कोरोना खत्म होते ही यहां की सैर कर लीजिएगा। आपकी छोटी सी ट्रिप के 3 दिन कैसे होने चाहिए? कहां? घूमना चाहिए आपको? आइए जान लें। 
पहला दिन-
सुबह होटल में ब्रेकफास्ट के बाद आपको द ग्रैंड पैलेस से शुरुआत करनी चाहिए 1782 में बनाई गई ये जगह थाईलैंड के राजा का निवास स्थान रही, वो भी पूरे 150 सालों तक। इसके बाद आपकी मंजिल वाट फू होना चाहिए, ये एक बुद्ध मंदिर है और इसकी खासियत इसकी बनावट के साथ 46 मीटर ऊंचे लेकिन लेटे हुए बुद्ध भगवान की मूर्ति भी हैं। इसके बाद बारी आनी चाहिए चाइना टाउन की। ये एक मस्ती मजे में डूबी जगह है। जहां आपको स्टॉल मिलेंगे तो सोने की दुकाने भी। इतना ही नहीं आपको स्काई बार भी जरूर जाना चाहिए।  स्काई बार शहर के सबसे ऊंची इमारतों में से एक है। इसी के 64वीं मंजिल पर है ओपन एयर सीरोक्को रेस्टोटेंट, यहां आने के बाद आपका वापस जाने को दिल नहीं करेगा। 
दूसरा दिन-
दूसरा दिन आपको जरूर साइकिल टूर के लिए रखना चाहिए, इससे आपको शहर को एक अलग नजरिए से देखने का मौका मिलेगा। आपको ‘बैंग का जाओ', जिसे बैंगकॉक का ग्रीन हार्ट भी कहा जाता है, को जरूर घूमना चाहिए। इसमें आपको करीब 25 किलोमीटर की यात्रा करनी होगी, जिसमें आपको लोकल चीजों को टेस्ट करने का मौका मिलेगा। इसके बाद आपको यहां के सफारी वर्ल्ड का टूर भी जरूर कर लेना चाहिए। इसके लिए आपको जंगल क्रूस रीवर राइड लेनी होगी। यहां आपको कई सारे जंगली जानवरों को पास से देखने का मौका मिलेगा। आप थाई जंगल की सैर भी कर सकते हैं। जहां आप एडवेंचर स्पोर्ट का आनंद भी ले सकते हैं। इतिहास से लगाव है तो दूसरे दिन में ही आपको 5 मंज़िला म्यूजियम ऑफ कॉन्टेम्प्रेरी भी देख लेना होगा। 2012 में बना ये म्यूजियम कई सारी अनोखी चीजों के साथ आपका दिल जरूर जीत लेगा। 
तीसरा दिन-
बैंकॉक में आपका आखिरी दिन ऐसा होना चाहिए कि आप यहां से मनपसंद शॉपिंग कर सकें, ताकि यहां की यादें भी आप समेट कर ले जा सकें। इसके लिए आपको शहर की शॉपिंग स्ट्रीट में जाना होगा। जहां दुनिया के बड़े और नामी शॉपिंग मॉल हैं। ऐसा ही एक मॉल है सियाम परगोन, जहां कम से कम 250 शॉप हैं। इसके साथ मदर ऑफ ऑल मॉल कहलाने वाला आइकन सियम मॉल है, जहां 300 से ज्यादा देशों से जुड़ी दुकानें और रेस्ट्रा हैं। इतना ही नहीं यहां अनगिनत मॉल हैं, जैसे 7 मंज़िला एमबीके सेंटर है तो एमकुएरटाईर भी। इतिहास से लगाव है तो दूसरे दिन में ही आपको 5 मंज़िला म्यूजियम ऑफ कॉन्टेम्प्रेरी भी देख लेना होगा। 2012 में बना ये म्यूजियम कई सारी अनोखी चीजों के साथ आपका दिल जरूर जीत लेगा। 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

बंगलुरु:  24...

बंगलुरु: 24 घंटे में घुमक्कड़ी ऐसे होगी पूरी...

24 घंटे में ...

24 घंटे में घूमिए पूरी मुंबई

मालदीव: घूमि...

मालदीव: घूमिए और यादें सजोइए

रायपुर की ये...

रायपुर की ये 7 जगह बना देंगी आपकी यात्रा...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

वापसी - गृहल...

वापसी - गृहलक्ष्मी...

 बीस साल पहले जब वह पहली बार स्कूल आया था ,तब से लेकर...

7 ऐसे योग आस...

7 ऐसे योग आसन जो...

स्ट्रेस, देर से सोना, देर से जागना, जंक फूड खाना, पौष्टिक...

संपादक की पसंद

हस्त रेखा की...

हस्त रेखा की उत्पत्ति...

जिन मनुष्यों ने हस्त विज्ञान की खोज की उसे समझा और...

अक्सर पैसे ब...

अक्सर पैसे बढ़ाने...

बाई काम पर आती रहे, काम अच्छा करे और पैसे बढ़ाने की...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription