हैप्पी सेक्स लाइफ के लिए चरम सुख पाने के 11 तरीके

मोनिका अग्रवाल

13th July 2020

ओर्ग़ैज्म जिसे हिंदी में कमोन्माद और चरमोत्कर्ष भी कहते हैं , सेक्स के दौरान चरम सुख की प्राप्ति है।जिसका अनुभव पुरुषों और महिलाओं दोनों को होता है।क्या आपको हुआ है ऐसा अनुभव? नहीं। तो जानते हैं वे 11 तरीके जिनसे इस सुख का अनुभव लिया जा सकता है

सेक्स के दौरान चरम सुख की प्राप्ति को ही ओर्ग़ैज्म कहते हैं.इसे "कमोन्माद" और चरमोत्कर्ष" भी कहा जाता है.इसका अनुभव पुरुषों और महिलाओं दोनों को होता है.महिलाओं में सेक्स का अत्यधिक और सुखद अनुभव होते समय,जननागों की माँसपेशियों में संकुचन होता है.इस दौरान बहुत कम महिलाएँ ईजैक्यूलेट करती हैं.पुरुषों में माँसपेशियों में संकुचन होने पर, लिंग से शुक्राणु ईजैक्यूलेट होते हैं.उसके बाद पुरुष दोबारा और्गेज्म का अनुभव करने में सक्षम नहीं होते.

१-क्लिटोरिस की उत्तेजना द्वारा और्गैज्म- इस बिंदु पर ८००० तंत्रिकाएँ आकर मिलती हैं और अधिकतर ,इस क्षेत्र पर संवेदना का अनुभव होता है.सैक़्स चिकित्सक के मुताबिक़,सीधे क्लिटोरिस को स्पर्श करने के बजाय पहले साथी के शरीर ,को स्पर्श करें, आलिंगन,या मालिश करें.

२-योनि की उत्तेजना द्वारा और्गैज्म- योनि के तीन से पाँच सेमी.अंदर एक हिस्सा होता है जो छोटे सिक्के के आकार का होता है.दरअसल ये हिस्सा उन्हें चरमोत्कर्ष तक ले जाता है.

मल्टीपल और्गैज्म
ब्लैंडेड़ औरगैज्म
ब्लैंडेड़ औरगैज्म
निप्पल और्गैज्म
निप्पल और्गैज्म
एक्सर्सायज़ और्गैज्म/कोरेग़ैज़्म
एक्सर्सायज़ और्गैज्म/कोरेग़ैज़्म
क्लिटोरिस की उत्तेजना

३- योनि और क्लिटोरिस दोनों की उत्तेजना द्वारा औरग़ैज़्म- विशेषज्ञों का कहना है कि,दोनों की संयुक्त उत्तेजना द्वारा और्गैज्म सबसे ज़्यादा शक्तिशाली होता है.

४-मल्टीपल और्गैज्म- महिलाओं और पुरुषों में यही अंतर होता है.यदि कोई महिला उत्तेजित होती रहे तो ,एक बार के ही संभोग में कई बार और्गैज्म तक पहुँच जाती हैं.

५-एनल और्गैज्म- ऐनस  और गुदा मार्ग एक पतली झिल्ली 'पेरिनीयम' से जुड़े  होने के कारण एक दूसरे से कई नसों और माँसपेशियों से जुड़े होते हैं.कुछ महिलाएँ एनल सेक्स से संतुष्ट होकर शीघ्र ही औरग़ैज़्म  तक पहुच जाती हैं. कुछ एनल सैक़्स से कतई संतुष्ट नहीं होती हैं.

६- डीप वैज़िनल इरॉजेनस ज़ोन और्गैज्म- सिर्फ़ G स्पॉट और क्लिटोरियस ही महिलाओं को और्गैज्म तक पहुँचाने में अपनी भूमिका नहीं निभाते हैं.वैजिना के अंदर इरॉजेनस ज़ोन पर सही तरह से दबाव पड़े तब भी महिला चरमोत्कर्ष  तक पहुचती है.A स्पॉट.वैजिना की बाहरी दीवार और करविक्स के नीचे,तथा ओ स्पॉट वैजिना की पिछली दीवार पर भी आपको और्गैज्म पर पहुँचाता है

७-स्कविर्टिंग और्गैज्म- महिलाओं में भी एजैक्यूलेशन होता है. कभी कभी जब महिला की कामेच्छा अत्यधिक तीव्र हो जाती है तब यूरेथ्रा या वैजिना के बाहरी सतह से ,और्गैज्म के समय फ़्लूइड निकलना शुरू हो जाता है,हालाँकि ये अभी तक चर्चा का विषय बना हुआ है कि ये फ़्लूइड आता कहाँ से है?और एजेक्यूलेशन कितनी महिलाओं को होता है?

वास्तव में G स्पॉट को छूने से ही महिला की कामेच्छा उग्र हो जाती है और एजेक्यूलेशन हो जाता है.

८-निप्पल और्गैज्म- कई नसों से जुड़े होने ,और संवेदनशील हिस्सा होने के कारण ,महिला की निप्पल को छूने या थपथपाने से ही कामेच्छा तीव्र होने लगती है और डिस्चार्ज हो जाता है..ये पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हुआ है कि ,संभोग के बिना कितनी महिलाएँ और्गैज्म तक पहुँचती हैं,

लेकिन ,यदि कोई महिला सम्भोग का आनंद उठाना चाहे तो ,इस तरह से भी उठा सकती है.

९-एक्सर्सायज़ और्गैज्म/कोरेग़ैज़्म- ताक़तवर एक्सरसाइज़ करते समय  भी और्गैज्म को बढ़ावा मिलता है. इसे एक्सरसायज से प्रेरित और्गैज्म कहा जाता है.लेकिन ज़्यादातर महिलाएं क्लिटोरियल या वैज़िनल उग्रता की इच्छा भी रखती हैं

०-स्लीप और्गैज्म- सपनों के बारे में कौन नहीं जानता? लेकिन ये सपने कुछ अलग क़िस्म के होते हैं.कभी कभी ,कोई कोई महिला जब कोई भयानक सपना देखटी है तो उस समय भी और्गैज्म तक पहुँच जाती हैं..

११-ब्लैंडेड़ औरगैज्म - जब एक से ज़्यादा इरॉजेनस ज़ोन को उत्तेजित किया जाता है तब ब्लैनडेड और्ग़ैज्म होता है  ये और्गैज्म सेक्स को बेहद मज़ेदार बनाता है.जितनी ज़्यादा उत्तेजना उतना ही ज़्यादा मज़ेदार औरगैज्म.

 

यह भी पढ़ें-

सेक्स के समय अजीब स्थिति

बेहतर सेक्स लाइफ़ के लिए अपनाएँ ६ सीक्रेट्स

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

ऐसे पौधे जिन...

ऐसे पौधे जिनसे हमे सकारात्मक ऊर्जा मिलती...

लहंगे व साड़...

लहंगे व साड़ियों के लिए 6 बाॅलीवुड इंस्पायरड...

जहरीले पौधों...

जहरीले पौधों जिनको छूना खतरनाक हो सकता है...

सेक्स के समय...

सेक्स के समय अजीब स्थिति

पोल

आपकी पसंदीदा हिरोइन

वोट करने क लिए धन्यवाद

सारा अली खान

अनन्या पांडे

गृहलक्ष्मी गपशप

उफ ! यह मेकअ...

उफ ! यह मेकअप मिस्टेक्स...

सजने संवरने का शौक भला किसे नहीं होता ? अच्छे कपड़े,...

लाडली को गृह...

लाडली को गृहकार्य...

उस दिन मेरी दोस्त कुमुद का फोन आया। शाम के वक्त उसके...

संपादक की पसंद

प्रेग्नेंसी ...

प्रेग्नेंसी के दौरान...

प्रेगनेंसी में अक्सर हर कोई अपने क्या पहनने क्या नहीं...

क्रेश डाइट क...

क्रेश डाइट के क्या...

क्रैश डाइट क्या होता है और क्या ये इतना खतरनाक है कि...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription