जब पहली बार लगाएं फेक आईलैशेज

चयनिका निगम

17th July 2020

फेक आईलैशेज लगाना अब काफी पॉपुलर होता जा रहा है। लेकिन शुरुआत दिनों में इसको लगाना कठिन ही माना जाता है।

जब पहली बार लगाएं फेक आईलैशेज
आंखों को सुंदर दिखाने के लिए अब मेकअप में आई लैशेज को भी शामिल कर लिया गया है। यहां बात फेक आई लैशेज की हो रही है। जो अभी भी बहुत लड़कियां नहीं लगाती हैं लेकिन फिर भी बहुत लड़कियां इसका इस्तेमाल करने लगी हैं। मगर सुंदरता पाने की ये कोशिश कई बार दिक्कत भी दे जाती है। इसकी वजह से पलकों को नुकसान होता है तो आई लैशेज का अचानक निकाल जाना या ठीक से न लगना भी परेशान करता है। इसलिए जरूरी है कि जब भी आई लैशेज लगाना शुरू करें तो कुछ बातों को अच्छे से सीख लें। ताकि आई लैशेज सिर्फ सुंदरता बढ़ाएं परेशानी नहीं। 
कैसे चिपकेंगी फेक आई लैशेज-
देखिए इनको चिपकाने का सही तरीका ना समझने का मतलब है कि पूरे मेकअप के साथ अन्याय करना। क्योंकि आपने कितना भी अच्छा मेकअप क्यों न किया हो लेकिन फेक आई लैशेज निकल आएं तो मानिए कि पूरा लुक ही बिगड़ जाएगा। इसलिए जरूरी है कि शुरुआती दिनों में ही इसको सही तरीके से लगाना समझ लिया जाए। इसको समझना कठिन नहीं है। 
आंखों का आकार-
जानकार मानते हैं कि फेक आई लैशेज लगाने से पहले अपनी आंखों के आकार को समझ लेना चाहिए। जैसे अलमंड शेप आंखें किसी भी आई लैशेज के साथ सूट कर जाती हैं। इसके अलावा हूडेड आइज के साथ पतली और छोटी फेक आई लैशेज सही रहती हैं। इन आइज में पलकों के पीछे आंखों की क्रीज दिखती नहीं है।
कैसे निकालें-फेक आई लैशेज को पैकेट से निकालने का भी अपना एक तरीका होता है। जैसे इसके पैकेट पर हमेशा लेफ्ट और राइट का निशान नहीं होता है। इसलिए इसके पैकेट को नाक के पास आंखों के नीचे पकड़ कर शीशे के सामने खड़े हों। फेक पलकें शीशे की तरफ होंगी आपको लेफ्ट और राइट के सही इस्तेमाल का पता चल जाएगा। 
बाहर की ओर से-
आई लैशेज को हमेशा बाहर की ओर से ही उठाएं। ऐसा इसलिए है क्योंकि बाहर की ओर से उठाने में अगर ये टूटेंगी तो फर्क नहीं पड़ेगा क्योंकि कई बार आंखों के आकार में लाने में इन लैशेज को बाहर की ओर से काटना पड़ता है। जबकि अंदर की ओर से ऐसा नहीं किया जा सकता है। अंदर की ओर से टूटेगी तो पलक आंखों में चिपकने में दिक्कत हो सकती है। 
नापतोल-
फेक आईलैशेज को चिपकाने से पहले इसे अपनी नेचुरल पलकों से नाम लेना जरूरी होता है। कभी भी शुरुआत से ही पलकों को ना नापें, इससे आंखों में खुजली हो सकती है। बाहर की ओर का साइज नापना हो तो करीब 2 बालों तक कम ही नापें। क्योंकि फेक लैशेज ऊपर से लगेंगी तो कर्व के चलते वो इस तरह अच्छे से एडजस्ट हो जाएंगी। 
शेप बिगड़े तो-
आईलैशेज को जब बॉक्स बाहर निकालेंगी तो हो सकता है उनका कर्व जैसा आप चाहती हैं, वैसा न हो। इस वक्त आपको एक ट्रिक आजमानी होगी। आप इसको एक पेन पर लपेट कर कुछ देर के लिए छोड़ दीजिए। इसमें कर्व आ जाएगा। 
ग्लू कैसे लगाएं-
पलकों पर ग्लू लगाने की बारी आए तो सीधे ट्यूब से एक कॉर्नर से दूसरे कॉर्नर तक इसे लगाएं वो भी बहुत पतला। इसको हल्का सा एडजस्ट होने दें, फिर ही पलकों पर चिपकाएं। चाहें तो कुछ बूंदें पलकों के किनारे पर भी लगा लें। 
मस्कारा का कमाल-
मस्कारा लगाने से असली और नकली दोनों ही पलकें एक साथ ऊपर की ओर उठ जाती हैं। इस तरह से ये आपस में अच्छे से चिपक भी जाती हैं। 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

इन टिप्स को ...

इन टिप्स को फॉलो करके आप आप भी पा सकती हैं...

जैसा चेहरा, ...

जैसा चेहरा, वैसा आईलाइनर

फ्लॉलेस मस्क...

फ्लॉलेस मस्कारा चाहिए तो बचें इन गलतियों...

मेकअप हो ऐसा...

मेकअप हो ऐसा कि आप दिखें जवां-जवां

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

जन-जन के प्र...

जन-जन के प्रिय तुलसीदास...

भगवान राम के नाम का ऐसा प्रताप है कि जिस व्यक्ति को...

भक्ति एवं शक...

भक्ति एवं शक्ति...

शास्त्रों में नागों के दो खास रूपों का उल्लेख मिलता...

संपादक की पसंद

अभूतपूर्व दा...

अभूतपूर्व दार्शनिक...

श्री अरविन्द एक महान दार्शनिक थे। उनका साहित्य, उनकी...

जब मॉनसून मे...

जब मॉनसून में सताए...

मॉनसून आते ही हमें डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया, जैसी...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription