जब कुछ समझ में ना आए तो क्या करें

मोनिका अग्रवाल

22nd July 2020

हमारे जीवन में अक्सर ऐसे मौके आते हैं जब हम बेहद निराश और उदास होते हैं। ऐसे मौके पर हमें खुद को अपने परिवेश की अच्छी चीजों की याद दिलानी पड़ती है। ऐसा करने से नकारात्मक चीजें अपने आप विलुप्त हो जाती हैं

जब कुछ समझ में ना आए तो क्या करें

जब कुछ समझ में ना आए

कहीं आप को आदत तो नहीं हर बात को अपने मन में बैठाने की .आपका मन जितना, इधर उधर की बातों से दूर रहेगा उतना ही आप हल्का महसूस करेंगे. यह मन है साहब कोई स्टोर रूम नहीं जिसमें जब मन आया कुछ भी भर दिया.

मन को करें खाली

उत्तराव चढ़ाव का नाम ही जिंदगी है और यह हर किसी के जीवन में आते जाते रहते हैं.लेकिन अहम बात ये हैं कि हम उतराव के समय परिस्थितियों से कैसे निपटते हैं. तो जब आप परेशानी के दौर से गुजरते हैं, तब क्या करते हैं? उनसे भागने की कोशिश करते हैं, या खुद को शांत रखते हुए उनका हल निकल लेते हैं! यकीनन इसका दूसरा विकल्प ही सही है, खुद को शांत रखना और डट कर परेशानियों का सामना करना और फिर उन्हें सुलझा लेना. लेकिन परेशानी में खुद को शांत कैसे किया जाए?

मेडिटेशन है जरूरी

मेडिटेशन यानी ध्यान कमाल की चीज है. ये ना सिर्फ आपके शरीररिक बल्कि मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक होता है. दिन में बस थोड़ा समय निकाल कर ब्रीदिंग एक्सरसाइज और मेडिटेशन कर आपका दिमाग शांत और तरो-ताज़ा हो जाता है. 

 आदर्श तरीका- रनिंग

गति, फोकस, विनियमित श्वास, और शारीरिक श्रम के मिश्रण वाली रनिंग मन से नकारात्मक विचारों को दूर करने के लिए एक आदर्श तरीका है. रनिंग करते हुए जैसे-जैसे आपका पसीना बाहर निकलता है और दिल की धड़कनें तेज होती हैं, सारी परेशानियां भी बाहर निकल जाती हैं. 

पॉजिटिवली ले

यदि आप को गुस्सा आ रहा है और आप तनाव में है .ऐसे में यह गुस्सा किसी दूसरे पर उतरे उससे अच्छा है कि आप कोई वर्क आउट करें .वर्कआउट करने से आपका गुस्सा उतनी ही जल्दी शांत हो जाएगा.तो अपने गुस्से और झुंझलाहट को प्रेरणा बनाएं . डांस करें.

बॉक्सिंग  करें

का मतलब यह नहीं है कि आप किसी से कुश्ती लड़ने लग जाएं. बल्कि कई बार मन करता है कि अपने मन के क्रोध को, झल्लाहट को किसी पर उतारा जाए. तो क्यों ना ऐसे में आप अपने पिलो को ही 2-3 पंच मार र्ले.सुनने में शायद थोड़ा अजीब लगे, लेकिन कभी-कभी गुस्सा और मन दोनों को शांत करने के लिए आपको किसी को पंच मारना पड़ता है. 

पर्वतारोहण

शांती प्राप्त करने के लिए सबसे बेहतरीन जगह प्रकृति की गोद ही होती है. तो मन की उलझनों को निकाल फैंकने के लिए बस थोड़ा समय निकालें, अपना ट्रेवल बैग उठाएं और निकल पड़े पहाड़ों पर पर्वतारोहण के लिए. 

लेखन

ब्लॉग लिखें या फिर डायरी ही लिखें. इससे आपका मन शांत होता है और आप सही फैंसले लेने के काबिल बनते हैं. अगर आपको लिखने का शौक है तो आप ब्लॉग लिख कर पैसा भी कमा सकते हैं. 

चीखें और रोएं

देखिये जब मन परेशानी से पूरी तरह भरा हो और दिमाग फटने को हो तो अकेले में थोड़ा चीख और रो लें. इससे आपके मन के भीतर का सारा बोझ बाहर निकल जाएगा और आपका मन शांत होगा.

यह भी पढ़ें-

ऐसे पौधे जिनसे हमे सकारात्मक ऊर्जा मिलती है

माफ करना नामुमकिन नहीं

 

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

फेशियल एक्सर...

फेशियल एक्सरसाइज जिससे आप पा सकती है सुन्दर...

भावी जीवन सा...

भावी जीवन साथी से निश्चिन्त होकर पूछिये सवाल...

झपकी लेने के...

झपकी लेने के स्वास्थ्य लाभ

बच्चों में क...

बच्चों में कोविड-19 का डर दूर करें। अपनाएं...

पोल

आपकी पसंदीदा हिरोइन

वोट करने क लिए धन्यवाद

सारा अली खान

अनन्या पांडे

गृहलक्ष्मी गपशप

उफ ! यह मेकअ...

उफ ! यह मेकअप मिस्टेक्स...

सजने संवरने का शौक भला किसे नहीं होता ? अच्छे कपड़े,...

लाडली को गृह...

लाडली को गृहकार्य...

उस दिन मेरी दोस्त कुमुद का फोन आया। शाम के वक्त उसके...

संपादक की पसंद

प्रेग्नेंसी ...

प्रेग्नेंसी के दौरान...

प्रेगनेंसी में अक्सर हर कोई अपने क्या पहनने क्या नहीं...

क्रेश डाइट क...

क्रेश डाइट के क्या...

क्रैश डाइट क्या होता है और क्या ये इतना खतरनाक है कि...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription