कैसी हो वास्तु के अनुसार रसोई

Jyoti Sohi

3rd March 2021

रसोई घर परिवार के सदस्यों के स्वास्थ और आर्थिक स्थिति पर बहुत अधिक प्रभाव डालता है। अगर अपने घर की रसोई को इन छोटी.छोटी गलतियों से नहीं बचाया तो कुछ ही दिनों में घर परिवार की सुख.शांति व समृद्धि नष्ट होने लगती है।

कैसी हो वास्तु के अनुसार रसोई
किचन घर का प्रमुख भाग होता है और वास्तु के अनुसार भी इसे विशेष स्थान माना गया है। ऐसे में इसके वास्तु पर खास ध्यान देना चाहिए अन्यथा स्वास्थ्य संबधी समस्या से लेकर आर्थिक तंगी तक आ सकती है। ज्योतिष और वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर परिवार की समस्त सुख.शांति व समृद्धि का सबसे बड़ा स्रोत घर की रसोई होती है। इसलिए कहा जाता है घर में भोजन बनाने का एक कमरा अलग होना चाहिए और पूरी तरह साफ सुथरा होना चाहिए। क्योंकि घर का रसोई घर परिवार के सदस्यों के स्वास्थ और आर्थिक स्थिति पर बहुत अधिक प्रभाव डालता है। अगर अपने घर की रसोई को इन छोटी.छोटी गलतियों से नहीं बचाया तो कुछ ही दिनों में घर परिवार की सुख.शांति व समृद्धि नष्ट होने लगती है। 
इन दिशाओं का रखें खास ख्याल
पूर्व या पूर्व.उत्तर में रखें पानी का कंटेनर
रसोई घर में पीने का पानी, आर ओ यां फिल्टर आदि पूर्व या पूर्व.उत्तर कोने में रखें।
भारी बर्तन दक्षिण की ओर
रसोई घर में भारी बर्तन, सिल, मिक्सी आदि वस्तुएं दक्षिणी दीवार की ओर रखें।
फ्रीज दक्षिण या पश्चिम दिशा में
वैसे तो रसोई घर में रेफ्रिजरेटर रखना उचित नहीं होता है किन्तु यदि रखना आवश्यक हो तो इसे दक्षिण या पश्चिम दिशा में ही रखें।
जूठे बर्तन ज्यादा देर तक न छोड़ें
रसोई घर को पूरी तरह से .साफ सुथरा रखना चाहिए। जूठे बर्तनों को बहुत देर तक रसोई घर में नहीं रखना चाहिए इससे नकारात्मक उर्जा का वास होता है।
रसोईघर के अंदर मंदिर ना बनायें
कभी भी रसोई के अंदर मंदिर ना बनायें क्योंकि ऐसा करने से घर के लोगों का दिमाग गर्म रहता है। इससे परिवार के किसी सदस्य को रक्त संबधी बीमारी भी हो सकती है।
रसोईघर मेन गेट से ना जुड़ा हो
कभी भी रसोईघर मेन गेट से जुड़ा हुआ नहीं होना चाहिए क्योंकि ऐसा होने से पति.पत्नी के बीच बिना किसी कारन के मतभेद होता है। इस वास्तु दोष को दूर करने का उपाय है, रसोई के दरवाजे पर लाल रंग का क्रिस्टल लगा दे।
बाथरूम और किचन एक सीध में ना हो
किचन और बाथरूम कभी भी एक सीध में नहीं होना चाहिए, क्योंकि इससे लोगों का स्वास्थ्य ठीक नहीं रहता है और जीवन में शांति रहती है तथा मन भटकने लगता है।
बिना स्नान रसोई में प्रवेश ना करें
बिना स्नान रसोई में प्रवेश करने से नेगेटिव ऊर्जा आती है और घर के सदस्यों में आलस्य तथा चिढ़चिढापन बढ़ता है। इस वास्तु दोष को दूर करने का उपाय है हमेशा स्नान करके ही रसोई में प्रवेश करें।
मेन गेट के सामने ना बनाये रसोई
रसोई को कभी भी मेन गेट के सामने नहीं बनाना चाहिए यह वास्तु के हिसाब से अशुभ माना जाता है और ऐसा घर के सदस्यों के लिए सही नहीं रहता है।
दवाएं किचन में रखना गलत है
यदि आपकी आदत है कि आप अपनी दवाएं याद रखने के लिए किचन में ही रख देते हैं तो इस आदत को अभी बदल दें। ऐसा करना आपको बीमार बना सकता है। वास्तु में ये माना जाता है कि यदि आप किचन में दवाओं को रखते हैं तो बीमारी को बुलावा दे रहे होते हैं। किचन में किचन से जुड़ी चीजें ही रखनी चाहिए। वास्तु में दवाओं को नकारात्मकता फैलाने वाला माना जाता है।
किचन में मिरर का रहना
किचन में यदि आपने मिरर लगा रखा है तो आपकी परेशानियों को बढ़ने का ये कारण हो सकता है। दरअसल किचन आग्नेयकोण पर होता है और ये अग्नि का प्रतिनिधित्व करता है। ऐसे में यदि मिरर में अग्नि का प्रतिबिंब आएगा तो वह अतिरिक्त ऊर्जा का कारण बनेगा और ये अतिरिक्त ऊर्जा नुकसानदायक होगी। इससे अग्निदेव भी नाराज होंगे।
कबाड़ न रखें किचन में
कई बार उन बर्तनों को भी अपने घरों में जमा करते रहते हैं जो बिना काम के हों या जिनमें क्रैक या हल्की टूट.फूट आ गई हो। ऐसे बर्तन किचन में रखना वास्तु के अनुसार नकारात्मकता का कारण होता है। इससे मां अन्नपूर्णा भी नाराज होती हैं।
किचन में बासी खाना न रखें
किचन में या किचन में फ्रीज हो तो उसमें बासी खाना रखने से बचें। ऐसा करना वास्तुदोष माना गया है। ऐसा करना राहु.केतू और शनि को नाराज करता है। इसलिए फ्रीज में ताजी सब्जियां.फल या दूध आदि को ही रखें। बासी खाना नहीं।
पश्चिम दिशा
जिस घर में किचन पश्चिम दिशा में होता है उस घर का सारा कार्य घर की मालकिन देखती है। उसे अपनी बहू.बेटियों से काफी खुशियां प्राप्त होती हैं। घर की सभी महिला सदस्यों में आपसी तालमेल अच्छा बना रहता है।
उत्तर दिशा 
घर के उत्तर दिशा में रसोई का होनाए उस घर की महिलाओं को बुद्धिमान और बौद्धिक बनाता है। उस घर के पुरुष सरल स्वभाव के होते हैं और उन्हें व्यापार में सफलता मिलती है।
दक्षिण दिशा 
इस दिशा में किचन होने से परिवार में मानसिक अशांति बनी रहती है। घर के मालिक को क्रोध अधिक आता है और उसका स्वास्थ्य साधारण रहता है।
रसोईघर में कभी भी स्टोर रूम नहीं होना चाहिए। ऐसा होने पर घर की लक्ष्मी रूठ कर चली जाती है और घर में निर्धनता का वास हो जाता है।
वास्तु.दोष कैसे दूर करें
घर के द्वार पर आगे वास्तुदोष नाशक हरे रंग के गणपति को स्थान दें। 
बाहर की दीवारों पर हल्का हरा या पीला रंग लगवाएं।
मुख्य द्वार पर वास्तु मंगलकारी यंत्र लगाएं।
घर की मुख्य पूजा में गणपति को स्थान देंण् 
यदि बड़ा किचन होता हो तो 24 घंटे में एक बार रसोई में बैठकर भोजन करना चाहिए इससे किचन का वास्तुदोष दुर होताहोता है। रसोईघरतकरभोजन में पश्चिम की ओर बैठकर भोजन करना ठीक होता है।
स्मार्ट टिप्स 
रसोई में तीन चकले न रखें, इससे घर में कलह और क्लेश हो सकता है।
रसोई में हमेशा गुड़ रखना सुख.शांति का संकेत माना जाता है।
टूटे.फूटे बर्तन भूलकर भी उपयोग में न लाएं, ऐसा करने से घर में अशांति का माहौल बना रहता है।
अंधेरे में चूल्हा न जलाएं, इससे संतान पक्ष से कष्ट मिल सकता है।
नमक के साथ या पास में हल्दी न रखें, ऐसा करने से मतिभ्रम की संभावना हो सकती है।
रसोईघर में कभी न रोएं, ऐसा करने से अस्वस्थता बढ़ती है।
रसोई घर पूर्व मुखी अर्थात् खाना बनाने वाले का मुंह पूर्व दिशा में ही होना चाहिए, उत्तर मुखी रसोई खर्च ज़्यादा करवाती है
यदि आपका किचन आग्नेय या वायव्य कोण को छोड़कर किसी अन्य क्षेत्र में होए तो कम से कम वहां पर बर्नर की स्थिति आग्नेय अथवा वायव्य  कोण की तरफ़ ही हो।
रसोई घर की पवित्रता व स्वच्छता किसी मंदिर से कम नहीं होनी चाहिए। ऐसा करने से मां अन्नपूर्णा की कृपा बनी रहती है।
रसोईघर हेतु दक्षिण.पूर्व क्षेत्र का प्रयोग उत्तम है, किन्तु जहां सुविधा न हो वहां विकल्प के रूप में उत्तर.पश्चिम क्षेत्र का प्रयोग किया जा सकता है, किन्तु उत्तर.पूर्व मध्य व दक्षिण.पश्चिम क्षेत्र का सदैव त्याग करना चाहिए।
वास्तु सम्बन्धी यह आलेख आपको कैसा लगा ?  अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही  वास्तु से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com
ये भी पढ़े: 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

कहीं आप गलत ...

कहीं आप गलत दिशा में तो खाना नहीं पकातीं...

किस रंग की द...

किस रंग की दीवारे लाती है पैसा और खुशहाली...

घर में करें ...

घर में करें 15 सरल बदलाव और दूर करें वास्तु...

वास्तु अनुसा...

वास्तु अनुसार घर में करें कुछ बदलाव और लायें...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

घर पर वाइट ह...

घर पर वाइट हैड्स...

वाइट हैड्स से छुटकारा पाने के लिए 7 टिप्स

बच्चे पर मात...

बच्चे पर माता-पिता...

आपकी यह कुछ आदतें बच्चों में भी आ सकती हैं

संपादक की पसंद

तोहफा - गृहल...

तोहफा - गृहलक्ष्मी...

'डार्लिंग, शुरुआत तुम करो, पता तो चले कि तुमने मुझसे...

समझौता - गृह...

समझौता - गृहलक्ष्मी...

लेकिन मौत के सिकंजे में उसका एकलौता बेटा आ गया था और...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription