क्या गर्भावस्था के दौरान बुखार या फ्लू से होता है बच्चे में जन्म दोष का खतरा?

Niyati Prakash

23rd March 2021

अमेरिका की सेंटर फॉर डिजीज कण्ट्रोल एंड प्रिवेंशन संस्था के मुताबिक यदि कोई गर्भवती महिला इन्फ्लुएंजा फ्लू का टीका नहीं लगवाती और गर्भावस्था के दौरान फ्लू से बीमार होती है, तो वह अपने साथ साथ, गर्भ में पल रहे शिशु को ख़तरे में डालती है। गर्भावस्था से पहले या शुरुआती महीनों में बुखार, सर्दी या फ़्लू होने से गर्भ में पल रहे शिशु में जन्म दोष देखे जा सकते हैं।

क्या गर्भावस्था के दौरान बुखार या फ्लू से होता है बच्चे में जन्म दोष का खतरा?

अमेरिका की सेंटर फॉर डिजीज कण्ट्रोल एंड प्रिवेंशन संस्था की एक शोधकर्ता, किम न्यूसम के मुताबिक यदि कोई गर्भवती महिला इन्फ्लुएंजा फ्लू का टीका नहीं लगवाती और गर्भावस्था के दौरान फ्लू से बीमार होती है, तो वह अपने साथ साथ, गर्भ में पल रहे शिशु को ख़तरे में डालती है। 

फ्लू से ग्रसित हो कर एक महिला इतनी गंभीर रूप से बीमार हो सकती है कि उसे बिना अस्पताल भर्ती हुए ठीक नहीं किया जा सकता। सीडीसी के नेशनल सेंटर ऑन बर्थ डिफ़ेक्ट्स एंड डेवलपमेंटल डिसाबिलिटीज़ की एक रिपोर्ट की मानें तो फ्लू से गंभीर रूप से बीमार माँ के गर्भ में पल रहे शिशु का समय से पहले पैदा होने और बहुत कम वज़न होने का ख़तरा रहता है। ऐसे शिशुओं का "APGAR" अंक भी बहुत काम होता है। 

 

डब्ल्यूएचओ गर्भवती महिलाओं सहित उच्च जोखिम वाले समूहों के लिए सामयिक और वार्षिक टीकाकरण की सिफारिश करता है। इन्फ्लूएंजा का मौसम शुरू होने से ठीक पहले सभी लोगों को टीका लगाया जाना चाहिए, हालांकि किसी भी मौसम में टीके की मदद से संक्रमण को रोका जा सकता है।

6 महीने और उससे अधिक उम्र के हर व्यक्ति को हर साल फ्लू का शॉट लेना चाहिए। विशेष रूप से गर्भवती महिलाओं, बच्चे, बहुत बूढ़े और पुरानी बीमारी वाले किसी भी व्यक्ति के लिए दिशानिर्देश महत्वपूर्ण है। ये लोग उच्च जोखिम वाली सूची में शामिल हैं।

 

गर्भावस्था से पहले या शुरुआती महीनों में बुखार, सर्दी या फ़्लू होने से गर्भ में पल रहे शिशु में ये जन्म दोष देखे जा सकते हैं:

-एन्सेफली 

-स्पीना बिफ़िडा 

-एन्सेफलोसील- शिशु में मस्तिष्क की बीमारी

-क्लेफ़्ट लिप (क्लेफ़्ट पैलेट के साथ/बिना)

-कोलोनिक अटरेसिआ- शिशु में आंत की बीमारी

-हाइपोप्लासिआ- शिशु में गुर्दे की बीमारी

-हाथों और पैरों का सही से विकास न होना 

-शिशु में पेट की बीमारी 

 

गर्भावस्था से पहले या शुरुआती महीनों में फ़्लू का टीका लगाने से न सिर्फ महिलाएं खुद को सुरक्षित करती हैं, बल्कि अपने गर्भ में पल रही उस नन्ही सी जान की भी जन्म से सम्बंधित गंभीर बिमारियों से रक्षा करती है। 

 

गर्भावस्था में फ्लू के लक्षण दिखने पर क्या करें?

 

यदि आप गर्भवती हैं और आपको लगता है कि आपको फ्लू है, तो बिना समय गंवाए अपने डॉक्टर से मिलें। फ्लू और कोरोना वायरस के लक्षण लगभग एक जैसे दिखते हैं इसलिए कोई भी लक्षण समझ आने पर तुरंत डॉक्टर से सलाह लें। जिन गर्भवती महिलाओं को फ्लू है, उनका इलाज एंटीवायरल दवाओं के साथ किया जाता है क्योंकि ऐसे समय में उन्हें जटिलताओं का अधिक खतरा होता है। फ्लू का लक्षण समझ आने के 48 घंटों के भीतर एंटीवायरल दवाएं सबसे अच्छा काम करती हैं। बिना डॉक्टर की सलाह कोई दवा न लें। बिना सोचे समझे दवा लेने से बच्चे को ख़तरा हो सकता है। 

 

याद रहे कि एंटीवायरल दवा फ्लू को ठीक नहीं करती, आपको फ्लू से लड़ने में मदद करती है। 

डॉक्टर की सलाह से एंटीवायरल दवा लेने से बीमारी का समय कम होता है, लक्षणों से राहत मिलती है और फ्लू की गंभीर जटिलताओं का खतरा भी काम हो जाता है। ऐसे में खूब आराम कीजिये, सुरक्षित रहिये और निर्जलीकरण से बचने के लिए खूब पानी पीजिये। 

गर्भावस्था के समय स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही गर्भावस्था से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

गर्भावस्था क...

गर्भावस्था के 20वें सप्ताह में हो सकता है...

कोरोना वायरस...

कोरोना वायरस के दौरान अधिक सावधान रहें गर्भवती...

जानें आपकी प...

जानें आपकी प्रेगनेंसी प्रोफाइल क्या है?

क्यों और कैस...

क्यों और कैसे होता है वायरल बुखार

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

घर पर वाइट ह...

घर पर वाइट हैड्स...

वाइट हैड्स से छुटकारा पाने के लिए 7 टिप्स

बच्चे पर मात...

बच्चे पर माता-पिता...

आपकी यह कुछ आदतें बच्चों में भी आ सकती हैं

संपादक की पसंद

तोहफा - गृहल...

तोहफा - गृहलक्ष्मी...

'डार्लिंग, शुरुआत तुम करो, पता तो चले कि तुमने मुझसे...

समझौता - गृह...

समझौता - गृहलक्ष्मी...

लेकिन मौत के सिकंजे में उसका एकलौता बेटा आ गया था और...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription