घर में बांसुरी रखना क्यों है जरूरी, जानिए कुछ खास बातें

Jyoti Sohi

21st April 2021

बांसुरी श्री कृष्ण का प्रिय वाद्य यंत्र है और इसे शांति और शुभता का भी प्रतीक माना जाता है साथ ही यह प्राण वायु प्रदान करने मे मददगार साबित हो सकती हैं। इसलिए इसे वास्तु दोष निवारक भी कहा गया है।

घर में बांसुरी रखना क्यों है जरूरी, जानिए कुछ खास बातें

बांसुरी श्री कृष्ण का प्रिय वाद्य यंत्र है और इसे शांति और शुभता का भी प्रतीक माना जाता है साथ ही यह प्राण वायु प्रदान करने मे मददगार साबित हो सकती हैं। इसलिए इसे वास्तु दोष निवारक भी कहा गया है। फेंगशुई और शास्त्रों में शुभ वस्तुओं में बाँसुरी का अत्यधिक महत्व है।

 

घर के लिए शु

ऐसी मान्यता है कि जब बांसुरी को घर के अंदर बजाया जाता है, तो घर में शुभ चुम्बकीय प्रवाह का प्रवेश होता है। फेंगशुई विद्या के अनुसार बांसुरी घर में रखना बहुत शुभ माना गया है। यह उन्नति और प्रगति दोनों देने में सहायक है। इस प्रकार बांसुरी प्रकृति का एक अनुपम वरदान है। 

 

नौकरी में मिलेगी सफलता 

बांसुरी बांस से बनी होती है तथा इसके पौधे को दिव्य माना जाता है। अतरू घर में बांसुरी का प्रयोग करके कई तरह से लाभ उठाया जा सकता है। ऐसा माना जाता है कि जो व्यक्ति अपनी नौकरी से परेशान रहता हैं। बांसुरी उसकी सारी मुश्किलें आसान कर सकता है। आपको यदि व्यापार व नौकरी में लगातार असफलता मिल रही हो या मेहनत के अनुसार फल न मिल रहा हो, तो अपने कमरे के द्वार पर दो बांसुरी लगाएं।

 

आर्थिक समस्याओं से मुक्ति

बांसुरी को वास्तु दोष दूर करने में बहुत ही खास माना गया है। आर्थिक समस्याओं से मुक्ति पाने के लिए व्यक्ति को चांदी की बांसुरी घर में रखना चाहिए। आप चाहें तो सोने की बांसुरी भी रख सकते हैं। वास्तु शास्त्र में अनुसार, सोने की बांसुरी घर में रखने से घर में लक्ष्मी का वास बना रहता है। अगर सोने अथवा चांदी का बांसुरी रखना संभव नहीं हो तो बांस से बनी बांसुरी घर में रख सकते हैं। इससे भी वास्तु दोष दूर होता है और धन पाने के योग बनने लगते हैं। इसके अलावा यदि घर में धन की आवक रुक गई हो या खर्च बढ़ गया होए तो एक बांसुरी भगवान श्रीकृष्ण को अर्पित कर विधिवत पूजन करके उस बांसुरी को किसी शुभ दिन लाल वस्त्र में लपेटकर तिजोरी में रखें।

 

दांपत्य जीवन को संवार

पति पत्नी में लड़ाई झगड़ा और छोटी छोटी बातों को लेकर मनमुटाव एक आम बात है, लेकिन अगर दांपत्य जीवन में हर वक्त तनाव या कलहपूर्ण वातावरण रहता हो और नौबत अलग होने की आ गई हो, तो ऐसे में सिरहाने बांसुरी लेकर सोने से लाभ मिलता है और पति पत्नी के संबध भी मधुर बनते हैं।

 

बीमारी से राह

इसी प्रकार यदि घर में कोई न कोई सदस्य हमेशा बीमार रहता हो, तो उसके कमरे के द्वार पर व उसके सिरहाने बांसुरी का उपयोग अवश्य करना चाहिए।

 

आकस्मिक परेशानियों का

यदि घर में आकस्मिक परेशानियां आ रही हों, तो ड्रा्रइंग रूम में क्रॉस के आकार में दो बांसुरियां लगाएं। परेशानी दूर हो जाएगी। कहा जाता है कि जिस घर में नित्य कुछ देर बांसुरी की ध्वनि गूंजती हैए वहां सुख.शांति आती है और अशुभ शक्तियां घर से दूर हो जाती हैं।

 

वास्तु सम्बन्धी यह आलेख आपको कैसा लगा ?  अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही  वास्तु से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com

ये भी पढ़े

घर में हाथी की प्रतिमा रखने के ये हैं, फायदे

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

वास्तु अनुसा...

वास्तु अनुसार इन 5 जगहों पर जूते.चप्पल पहनकर...

कछुए की अंगू...

कछुए की अंगूठी पहनने से पहले बरतें ये सावधानियां...

किस रंग की द...

किस रंग की दीवारे लाती है पैसा और खुशहाली...

जन्माष्टमी प...

जन्माष्टमी पर घर ले आएं ये सामान, हर मुश्किल...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

चित्त की महत...

चित्त की महत्ता...

श्री गुरुदेव की कृपा के बिना कुछ भी संभव नहीं। अध्यात्म...

तुम अपना भाग...

तुम अपना भाग्य फिर...

एक बार ऐसा हुआ कि पोप अमेरिका गए, वहां पर उनकी कई वचनबद्घताएं...

संपादक की पसंद

शांति के क्ष...

शांति के क्षण -...

मानसिक शांति के अत्यन्त सशक्त क्षण केवल दुर्बल खालीपन...

सुख खोजने की...

सुख खोजने की कला...

एक महिला बोली : मुनिश्री! मैं बड़ी दु:खी हूं। यों तो...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription