जानिए ऑनलाइन एग्जाम एंजाइटी को दूर करने के, फटाफट टिप्स

Jyoti Sohi

3rd May 2021

अक्सर एग्ज़ाम के समय स्टूडेंट्स बहुत अधिक तनाव से घिर जाते हैं। इसकी कई वजहें होती हैं जैसे सही प्लानिंग न करना, समय पर कोर्स पूरा न होना, पैरेंट्स का दबाव आदि। मगर इस बार इस एंजाइटी का मुख्य कारण है आनलाइन एग्ज़ाम।

जानिए ऑनलाइन एग्जाम एंजाइटी को दूर करने के, फटाफट टिप्स

अक्सर एग्ज़ाम के समय स्टूडेंट्स बहुत अधिक तनाव से घिर जाते हैं। इसकी कई वजहें होती हैं जैसे सही प्लानिंग न करना, समय पर कोर्स पूरा न होना, पैरेंट्स का दबाव आदि। मगर इस बार इस एंजाइटी का मुख्य कारण है आनलाइन एग्ज़ाम। दरअसल, आनलाइन एग्ज़ाम बच्चों के मन में कई तरह के सवाल पैदा करता है। जैसे एम्ज़ाम पूरे वक्त पर हो पाएगा यां नहीं, सवाल कैसे पूछे जाएंगे यां फिर मार्किंग किस तरह से की जाएगी और अगर आप टाॅपर है, तो अपनी जगह कायम रखने की अलग सी एक जुस्तजू मन में बनी रहती है। इसके लिए ज़रूरी है पैरेंट्स की समझदारी व अन्य ज़रूरी तैयारियां। आइए, जानते हैं आनलाइन एग्ज़ाम एंगजाइटी को दूर करने के कुछ खास टिप्स। 

 

बच्चे को अकेला छोड़े 

परीक्षाएं नज़दीक आने पर पढ़ाई का स्ट्रेस जितना बच्चों पर होता है, उतना ही पेरेटस पर भी होता है। बच्चे को एग्जाम के वक्त बिल्कुल भी अकेला न छोड़ें। हो सके तो पूरे टाइम उसके पास ही रहें और उसकी गतिविधियों पर ध्यान दें। 

 

उनकी तैयारी पर ध्यान दें

बच्चे की कितनी प्रिपरेशन हो गई है और कितनी बाकी है, इस बात पर भी ध्यान रखें। उसे याद दिलाएं कि कोई चीज सेलेबल में छूट रही है। यदि बच्चा  चाहे तो उसे सेलेबस का रिवीजन भी कराएं। 

 

खानेपीने का ख्याल रखें 

पढ़ने के चक्कर  में अक्सर बच्चे अपनी सेहत को नजर अंदाज करने लगते हैं। ऐसे में आपको ही इस बात का ध्या्न रखना है कि वो अपनी डाइट के अनुसार खाना खा रहे हैं या नहीं। बच्चे को समय समय पर कुछ खाने को देती रहें। 

 

रेस्ट भी जरूरी 

बच्चे को प्रोपर रेस्ट जरूर करने दें नहीं तो एग्जाम देते वक्त उसे थकावट महसूस होगी ओर वो चीजें भूलने लगेगा। बच्चे को 6 घंटे की नींद लेने दें। उसकी सुबह जल्दी उठने की आदत डलवाएं। 

 

 

मनोरंजन का समय

एग्जाम हैं तो बच्चे को पूरे दिन पढ़ते न रहने दें। आम दिनों से कुछ कम ही समय के लिए मगर बच्चे के मनोरंजन का पूरा ध्यान रखें। दो घंटे लगातार पढ़ने के बाद आधे घंटे का ब्रेक बच्चे  को जरूर दें। इस ब्रेक में बच्चे से पढ़ाई से अलग बातें करें। पढ़ाई के समाप्त होने के बाद बच्चे को टीवी भी देखने दें और दोस्तों से बात भी करने दें। 

 

ब्रेक लें और कुछ देर टहलें

पढ़ाई के साथ साथ कुछ वक्त खुद को देना भी ज़रूरी है। कई बार ज्यादा पढ़ लेने के बाद हमें ऐसा एहसास होने लगता है कि हम सब कुछ भूलते जा रहे है। ऐसे में दिमाग का शांत करने के लिए कुछ देर ताज़ी हवा में घूमने से हम फिर से पढ़ाई पर पूरे मन से फोकस कर पाएंगे।

 

एग्ज़ाम टाइम में इन चीजों को करें

दूसरों की बनाई रूपरेखा के भरोसे रहना

टाइम टेबल फॉलो न करना

एग्ज़ाम के एक दिन पहले रात में अधिक देर तक पढ़ना

लंबे समय तक बिना ब्रेक के लगातार पढ़ते रहना

अधिक चाय.कॉफी, कोल्ड ड्रिंक्स लेना

 

पेरेंटिंग सम्बन्धी यह आलेख आपको कैसा लगा ?  अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही  धर्म -अध्यात्म से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com

 

यह भी पढ़ें

शिशु की मालिश के लिए अपनाएं ये बेहतरीन तेल

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

पढ़ाई का प्र...

पढ़ाई का प्रेशर बच्चों पर न होने दें हावी...

शिशु की मालि...

शिशु की मालिश नहलाने से पहले करना सही है...

प्री-टीन  बच...

प्री-टीन बच्चे से करें कुछ जरूरी बातें

परिवार के सा...

परिवार के साथ गैजेट फ्री टाइम, अब होगा आसान...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

वापसी - गृहल...

वापसी - गृहलक्ष्मी...

 बीस साल पहले जब वह पहली बार स्कूल आया था ,तब से लेकर...

7 ऐसे योग आस...

7 ऐसे योग आसन जो...

स्ट्रेस, देर से सोना, देर से जागना, जंक फूड खाना, पौष्टिक...

संपादक की पसंद

हस्त रेखा की...

हस्त रेखा की उत्पत्ति...

जिन मनुष्यों ने हस्त विज्ञान की खोज की उसे समझा और...

अक्सर पैसे ब...

अक्सर पैसे बढ़ाने...

बाई काम पर आती रहे, काम अच्छा करे और पैसे बढ़ाने की...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription