क्या अनदेखा कर रहीं हैं आप

मोनिका अग्रवाल

7th June 2020

शरीर संकेत देता है लेकिन वे शरीर में होने वाले बदलावों को भी इग्नोर कर देती हैं, जिसके कारण उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है

क्या अनदेखा कर रहीं हैं आप

Symptoms of Illness

अकसर देखा गया है कि घर परिवार का ख्याल रखते-रखते महिलाएं अपनी सेहत के साथ अनदेखी कर देती है, जिससे वह कई खतरनाक बीमारियों की चपेट में आ जाती है। इतना ही नहीं, शरीर संकेत देता है लेकिन वे शरीर में होने वाले बदलावों को भी इग्नोर कर देती हैं, जिसके कारण उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसलिए महिलाओं का अपनी सेहत के प्रति सतर्क होना बहुत जरूरी हो गया है। आइए देखते हैं वह कौन से संकेत है जिसके जरिए हमारा शरीर बार-बार चेतावनी देता है।

1-चक्कर आना

बहुत सी बार  चक्कर आना  एक आम समस्या हो सकती है ।लेकिन कई बार  शरीर में हारमोनल प्रॉब्‍लम या ब्लडप्रेशर  का कम या ज्यादा होना भी इसकी वजह हो सकता है।  एनीमिया होने की स्थिति में या शरीर में पानी की कमी  होने से भी चक्‍कर आ सकता है। अगर चक्कर की समस्या अक्सर रहती हो तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लेकर ट्रीटमेंट शुरू कर दें।

2-थकान महसूस होना

डाक्टर के अनुसार,  भागदौड़ भरी जिंदगी में अधिक कामकाज के कारण थकावट हो ही जाती है। मगर ये थकावट यदि पूरी नींद लेने से, आराम करने पर  या चाय और कॉफी के बाद भी नहीं ठीक होती तो यह क्रोनिक फटीग सिंड्रोम के लक्षण है। इस समस्या के कारण पूरा दिन सुस्ती छाई रहती है। जिसका असर मानसिक और शारीरिक स्तर पर पड़ता है। हार्ट संबंधित समस्या, बीपी, एनीमिया,थायरॉयड, या लिवर की  समस्या कोई भी कारण हो सकता है।इस समस्या पर यदि  ध्यान न दिया जाए तो गंभीर समस्या में बदल सकती  है। तुरंत जाँच करवाने की आवश्यकता है

3-मांसपेशियों में दर्द

अत्याधिक  व्यस्‍तता और भाग-दौड़ भरी दिनचर्या में मांसपेशियों का दर्द एक आम समस्‍या  है। वैसे तो मांसपेशियों का दर्द किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है, लेकिन तीस से चालीस वर्ष की आयुवर्ग में यह समस्‍या तेजी से बढ़ रही है। कामकाजी युवतियों के इसकी चपेट में आने से कार्य क्षमता भी प्रभावित होती है। पहले फीजियोथेरेपिस्ट से सलाह लें। यदि वह आपको डाक्टर से मिलने के लिए कहें तो बिना देर,फौरन मिलें।

 

4-कमर में दर्द होना 

किसी प्रकार की चोट या व्यायाम की वजह से कमर में दर्द होना समझ में आता है। वसा का अत्यधि‍क जमाव,हड्डि‍यों क कमजोर होना ,अत्यधि‍क तनाव  ,नींद में आपकी सोने की मुद्रा,मोटे नर्म गद्दे पर सोना आदि कोई भी कारण हो सकता है।लेकिन लगातार दर्द महसूस कर रहे हैं, तो उसका कारण जानने के लिए डॉक्टर की सलाह लें और तुरंत उपचार कराएं।

5-सिर में दर्द होना

सिरदर्द सिर्फ  बीमारी की वजह से ही नहीं  दूसरी वजहों से भी हो सकता है। जैसे नींद की कमी, चश्मे का गलत नंबर, तनाव, तेज़ शोर वाली जगह में समय बिताना या सिर को कसकर दबाने वाली तंग चीज़ें पहनना आदि। इसकी कुछ भी वजह हो सकती हैं। लेकिन डॉक्टर से परामर्श कर लेना चाहिए। ये माइग्रेन का कारण भी हो सकता है।

6-अत्यधिक खुजली होना

कई बार कुछ देर के लिए एलर्जी या खुजली होना तो आम बात है। लेकिन जब अत्यधिक खुजली हो रही हो तब किसी अच्छे डॉक्टर से संपर्क करें। बहुत सी बार शरीर में लीवर की खराबी के कारण भी ऐसा हो सकता है।

7-बार बार बुखार आना 

बुखार अगर बार-बार हो रहा है या लगातार बना हुआ है, तो यह किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है। ऐसी बीमारियों में टायफायड, हेपेटाइटिस-बी, जॉन्डिस, मलेरिया, डेंगू, लिवर की खराबी, चिकनगुनिया, और कई अन्य बीमारियाँ आतें हैं। अगर आप बार-बार होने वाले बुख़ार को अनदेखा कर रही हैं ,तो आपको इसके घातक परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।

8-होंठों के रंग का बदलना

अगर आपके होंठों का रंग अचानक बदलने लगे या उस पर नीले या काले धब्बे दिखें तो तुरंत जांच करवाएं। होंठों के रंग का अचानक बदलना किसी गंभीर बिमारी का संकेत हो सकता है।



9-यूरिन का रंग पीला होना

शरीर में अच्छी तरह से हाइड्रेशन होने पर यूरिन का रंग साफ होता है। लेकिन जब पीले रंग का यूरिन आए तो कारण ,कम मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करना है। लेकिन फिर भी  समस्या बनी रहे तो समस्या को गंभीर मान कर डॉक्टर की सलाह लें।

10- खर्राटों की तेज आवाज

सांस लेने में किसी तरह की मुश्किल होना खर्राटे आने का खास कारण है। छोटे-मोटे खराटे तो सभी को आते हैं लेकिन यदि खर्राटों की आवाज बढ़ रही है, तो यह किसी गंभीर बीमारी की ओर इशारा कर रही है। डॉक्टर से जरूर मशवरा करें।

सेल्फ केयर टिप्स

डाक्टर अंशु कहती हैं कि," लोगों का अपनी सेहत के प्रति सतर्क होना बहुत जरूरी हो गया है। छोटा मानकर बीमारी को अनदेखा करना सही नहीं"! पढ़िए कुछ ऐसे सेल्फ केयर टिप्स , जिसे अपनाकर आप कई गंभीर बीमारियों से बच सकते हैं। 

1-व्यायाम ,योगा या मेडिटेशन है जरूरी।

2-खाना और खाने के स्टाइल को बदलें।

3-नशीली चीज़ों के सेवन से बचें।

4-भरपूर नींद लें।

5-शरीर सफाई का ध्यान रखें।

6-पानी को कभी ना न कहें।हर्बल या हरी चाय, नारियल पानी, या ग्रीन जूस आदि का सेवन करें।

7-कार्बोहाइड्रेट्स और अन्य पौष्टिक तत्वों का अनुपात व कैल्शियम युक्त भोजन लें।

 8-तनाव से दूर रहें।सकारात्मक सोच रखें।

9- जितना हो सके पैदल चलें। लिफ्ट की जगह सीढ़ियों का प्रयोग करें।

10-आजकल महिलाओं में ब्रैस्ट कैंसर की बीमारी तेजी से बढ़ रही है। इसलिए  आप खुद जांच करें कि कहीं ब्रैस्ट कैंसर का कोई लक्षण  तो नहीं दिख   रहा।

यह भी पढ़ें -

 

  1. महिलाओं में होने वाली एक हार्मोनल समस्या

  2. डिजिटल डिटॉक्स

  3. महिलाओं में होने वाली एक हार्मोनल समस्या

  4. जानें क्या है सर्वाइकल कैंसर, प्रमुख कारण, लक्षण और बचाव

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

अगर पहली बार...

अगर पहली बार हो रही हैं अपने पार्टनर के करीब...

अपने पैरों क...

अपने पैरों का रखें ख्याल

कहीं वजन बढ़...

कहीं वजन बढ़ने के पीछे आपके हारमोंस तो नहीं...

आप की ब्रेस्...

आप की ब्रेस्ट में दर्द होने के पीछे हो सकते...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

घर पर वाइट ह...

घर पर वाइट हैड्स...

वाइट हैड्स से छुटकारा पाने के लिए 7 टिप्स

बच्चे पर मात...

बच्चे पर माता-पिता...

आपकी यह कुछ आदतें बच्चों में भी आ सकती हैं

संपादक की पसंद

तोहफा - गृहल...

तोहफा - गृहलक्ष्मी...

'डार्लिंग, शुरुआत तुम करो, पता तो चले कि तुमने मुझसे...

समझौता - गृह...

समझौता - गृहलक्ष्मी...

लेकिन मौत के सिकंजे में उसका एकलौता बेटा आ गया था और...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription