राम मंदिर की बनावट क्यों है खास, बनने के बाद दिखेगा ऐसा

Jyoti Sohi

5th August 2020

सदियों के लंबे इंतज़ार के बाद एक बाद फिर अयोध्या राम मंदिर के निर्माण के लिए तैयार है।सभी के मन में यह जिज्ञासा जरूर है कि मंदिर कैसा होगा और प्रभु श्रीराम अपने भाईयों के साथ कहां विराजेंगे। इसके लिए मंदिर निर्माण के लिए बने ट्रस्ट ने भव्य मंदिर के प्रस्तावित मॉडल की तस्वीरें भी जारी कर दी हैं। पुराने डिजाइन में कुछ बदलाव किया गया है। मंदिर के नए मॉडल में ऊंचाई, आकार, क्षेत्रफल और बुनियादी संरचना में भी काफी परिवर्तन है।

राम मंदिर की बनावट क्यों है खास, बनने के बाद दिखेगा ऐसा
अयोध्या नगरी एक बार फिर राम मंदिर की भव्यता से जगमगा उठेगी। सदियों के लंबे इंतज़ार के बाद एक बाद फिर अयोध्या राम मंदिर के निर्माण के लिए तैयार है।सभी के मन में यह जिज्ञासा जरूर है कि मंदिर कैसा होगा और प्रभु श्रीराम अपने भाईयों के साथ कहां विराजेंगे। इसके लिए मंदिर निर्माण के लिए बने ट्रस्ट ने भव्य मंदिर के प्रस्तावित मॉडल की तस्वीरें भी जारी कर दी हैं। पुराने डिजाइन में कुछ बदलाव किया गया है। मंदिर के नए मॉडल में ऊंचाई, आकार, क्षेत्रफल और बुनियादी संरचना में भी काफी परिवर्तन है। ऐसा बताया जा रहा है कि यह देश का सबसे भव्य मंदिर होगा। 
मंदिर की लंबाई-चैड़ाई 
मंदिर की लंबाई-चैड़ाई पूर्व निर्धारित माप के अनुरूप 268 गुणे 140 फीट होगी, पर ऊंचाई में वृद्धि को देखते हुए अब यह दो नहीं बल्कि तीन मंजिला होगा। प्रत्येक तल पर पूर्व की तरह 106 स्तंभ लगेंगे और तीन तल का होने की वजह से मंदिर में लगने वाले स्तंभों की संख्या 212 से बढ़कर 318 होगी। स्तंभों की ऊंचाई 14 फीट 6 इंच होगी। हर खंभे में 16 मूर्तियां तराशी जाएंगी। 
राम मंदिर की ऊंचाई 
नए राम मंदिर की ऊंचाई बढ़ाई गई है, लेकिन यह भारत में सबसे ऊंचे शिखर वाला मंदिर नहीं होगा। दक्षिण भारत में कई मंदिरों के शिखर की ऊंचाई 200 से 250 फीट से ज्यादा है। अक्षरधाम समेत कई मंदिरों में पांच शिखर हैं। द्वारका मंदिर तो सात मंजिला है। 
नींव की खुदाई
मिट्टी परीक्षण की रिपोर्ट के आधार पर मंदिर के लिए नींव की खुदाई होगी। यह 20 से 25 फीट गहरी हो सकती है। प्लैटफॉर्म कितना ऊंचा होगा इस पर निर्णय राम मंदिर ट्रस्ट करेगा। अभी 12 फीट से 14 फीट तक की ऊंचाई की बात चल रही है। राम मंदिर के नए मॉडल के मुताबिक, पूरे मंदिर में कुल 318 स्तंभ होंगे। मंदिर के प्रत्येक तल पर 106 स्तंभ बनाए जाएंगे।
मंदिर में लगने वाले पत्थर
भरतपुर के बंशी पहाड़पुर के पत्थरों के बारे में मान्यता है कि इसकी गुणवत्ता काफी अच्छी होती है. साथ ही यह लंबे समय तक चमकता रहता है. इतना ही नहीं इससे पहले भी भरतपुर से काफी मात्रा में राम मंदिर निर्माण के लिए पत्थर अयोध्या आ चुका है. भरतपुर के रुदावल क्षेत्र के बंशी पहाड़पुर के पत्थर का इस्तेमाल पहले भी कई प्राचीन इमारतों के निर्माण कार्य में इस्तेमाल हो चुका है. बंशी पहाड़पुर से निकलने वाले पत्थर की उम्र करीब 5000 वर्ष तक मानी जाती है. कहा जाता है कि इन पत्थरों पर पानी पड़ने से ये और ज्यादा निखर जाता है और हजारों वर्षों तक एक रूप में ही कायम रहता है. 
मंदिर में होंगे ये 5 गुंबद
जहां रामलला का गर्भगृह बनेगा, उसके ऊपर के हिस्से को ही शिखर बनाए जाएगा। मंदिर में पांच गुंबद होंगे। पहले के मंदिर मॉडल में सिर्फ दो ही गुंबद थे लेकिन नए मॉडल में मंदिर की भव्यता को बढ़ाने के लिए इसे 5 कर दिया गया है। राम मंदिर के पांचों गुंबदों के नीचे के हिस्से में चार हिस्से होंगे। इसमें सिंहद्वार, नृत्य मंडप, रंगमंडप बनेगें। यहां श्रद्धालुओं के बैठने विचरण करने और विविध कार्यक्रम आयोजित करने के लिए जगह रहेगी।
 लागत
मंदिर के शिल्पकार सोमपुरा के मुताबिक, मौजूदा डिजाइन के हिसाब से मंदिर निर्माण में कम से कम 100 करोड़ रुपये की लागत आ सकती। यह खर्च बढ़ भी सकता है। निर्धारित समय सीमा के भीतर निर्माण पर ज्यादा संसाधन और बजट की जरूरत पड़ सकती है।
कितने होंगे स्तंभ
राम मंदिर के नए मॉडल के मुताबिक, पूरे मंदिर में कुल 318 स्तंभ होंगे। मंदिर के प्रत्येक तल पर 106 स्तंभ बनाए जाएंगे।

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

रामलला की अय...

रामलला की अयोध्या नगरी में अगर जाएं, तो इन...

घूमने जाएं ग...

घूमने जाएं गंगा किनारे जहां विराजते हैं स्वयं...

जानिए क्या ह...

जानिए क्या है अयोध्या का पौराणिक महत्व

रामलला के दर...

रामलला के दर्शन के पहले अयोध्या नगर कोतवाल...

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

क्या आप भी स...

क्या आप भी स्किन...

स्किन केयर डिक्शनरी

सुपर फूड्स फ...

सुपर फूड्स फाॅर...

माइग्रेन का सिरदर्द अक्सर सुस्त दर्द के रूप में शुरू...

संपादक की पसंद

क्या आज जानत...

क्या आज जानते हैं,...

आज हम आपको बताने जा रहे हैं एक नायाब घड़ी के बारे में।...

महिलाएं पीरि...

महिलाएं पीरियड्स...

मासिक धर्म की समस्या

सदस्यता लें

Magazine-Subscription