ज्यादा कामयाब होने के चक्कर में कहीं आप खुद को अधिक चिंतित तो नहीं कर रहे

मोनिका अग्रवाल

7th August 2020

दुनिया का प्रत्येक व्यक्ति सफलता हासिल करता चाहता है और सफल बनने के लिए कड़ी मेहनत और कई आदतों में चेंजेस करने पड़ते हैं। कुछ बातों को अपनी लाइफ में अपनाकर हर व्यक्ति कामयाबी यानी की सफलता की ऊचांइयों को छू सकता है।

ज्यादा कामयाब होने के चक्कर में कहीं आप खुद को अधिक चिंतित तो नहीं कर रहे

यदि आप पहले से ही कामयाब हैं और और अधिक कामयाबी पाने की चाह रखते हैं तो हो सकता है आप को चिंता, स्ट्रेस व डिप्रेशन जैसी समस्याओं का अक्सर सामना करना पड़ता हो, क्योंकि यदि आप एक बिजनेस करते हैं तो आप को हर तरह से सोचना पड़ता है। आप अपनी समस्याओं को कम करने की बजाय उन्हें और बढ़ा लेते हैं। यदि आप सच में ही अपनी समस्याओं को खत्म करना चाहते हैं तो सबसे पहले आप को उन्हें अच्छे से समझना पड़ेगा। निम्नलिखित कुछ कारण हैं जिनकी वजह से आप कामयाब होने की चाह में अपने आप को ही परेशान कर लेते हैं।

1. हर समय परेशानियों के बारे में सोचना : यदि आप अपनी कामयाबी के मार्ग में आने वाली बाधाओं के बारे में हर समय सोचते रहते हैं तो आप की परेशानियां और अधिक बढ़ जाएंगी। आप को हर समय मुसीबतों के बारे में न सोच कर अपनी कामयाबी पर ध्यान देना चाहिए। क्योंकि आपके आगे वहीं चीजें अधिक आएंगी जिनके बारे में आप ज्यादा सोचेंगे। जिंदगी में हर तरह की स्थितियों का सामना करना आपको आना चाहिए। तभी आप आगे बढ़ने में सफल हो पायेंगे। एक जगह न अटकें। 

2. जब कुछ गलत हो तो उसके लिए तैयार न रहना : जो लोग हमेशा किसी न किसी परेशानी को सॉल्व करते रहते हैं वो उस समय के लिए तैयार नहीं रहते जब उनके सामने सबसे बड़ी बाधा आने वाली होती है। यह समस्याएं फिर आप के नियंत्रण से बाहर हो जाती हैं। आप उन्हें सुलझाने में असफल रहते हैं इसलिए आप को निराशा का सामना भी करना पड़ सकता है। और निराश होने से आपकी परेशानियां और अधिक बढ़ जाएंगी। इसलिए हर स्थिति के लिए तैयार रहें। 

3. जब सब कुछ सही होता है, उसके लिए भी तैयार न रहना : आप की सबसे बड़ी समस्या यह होती है कि जो खुशी आप को हाल में मिल रही है आप उससे खुश नहीं रहते हैं। आप को जो उपलब्धियां प्राप्त होती हैं आप को उनके लिए खुश होना चाहिए लेकिन यदि आप बदले में यह खोजने में लग जाते हैं कि इस उपलब्धि में भी कोई बाधा आ सकती है तो यह फिर आप को परेशानी का कारण बन सकता है। खुशियां व दुख जीवन का हिस्सा होते हैं। आप को दुखों में भी उतना ही सम रहना चाहिए जितना आप खुशियों में रहते हैं। 

4. अच्छी चीजों पर ध्यान न देना : मनुष्य को खुश छोटी छोटी चीज ही करती हैं। यदि आप के पास छोटी छोटी चीजों में खुशियां ढूंढने की शक्ति है तो आप स्वयं को बहुत खुश रख सकते हैं। लेकिन यदि आप छोटी छोटी बातो पर ध्यान ही नहीं देते बल्कि बड़ी बड़ी परेशानियों पर फोकस करते हैं तो हो सकता है आप को बहुत कामयाब होने के बाद भी आंतरिक खुशी न मिले। इसलिए आप को हर छोटी से छोटी बात को ध्यान में रखना चाहिए। अपनी खुशियों के हर पल को एंज्वॉय करना चाहिए। हर बात पर परेशान होना छोड़ देना चाहिए।

यह भी पढ़ें-

झपकी लेने के स्वास्थ्य लाभ

सुबह खाली पेट एक गिलास गर्म पानी बस

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

झपकी लेने के...

झपकी लेने के स्वास्थ्य लाभ

क्या आप एक प...

क्या आप एक पैरेंट के रूप में भावनात्मक रूप...

अब आपका रिश्...

अब आपका रिश्ता लंबे समय तक नहीं चलने वाला,...

अपने रिश्तो ...

अपने रिश्तो में लाएं स्पार्क

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

क्या है वॉटर...

क्या है वॉटर वेट?...

आपने कुछ खाया और खाते ही अचानक आपको महसूस होने लगा...

विजडम टीथ या...

विजडम टीथ यानी अकल...

पिछले कुछ दिनों से शिल्पा के मुंह में बहुत दर्द हो...

संपादक की पसंद

नारदजी के कि...

नारदजी के किस श्राप...

कहते हैं कि मां लक्ष्मी की पूजा करने से पैसों की कमी...

पहली बार खुद...

पहली बार खुद अपने...

मेहंदी लगाना एक कला है और इस कला को आजमाने की कोशिश...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription