हिमाचल प्रदेश के ये 3 अचार खाते रह जाएंगे, जानिए रेसिपी

Sonal Sharma

10th August 2020

अचार एंटीऑक्सीडेंट का बहुत अच्छा स्त्रोत है। इसकी वजह यह है कि कच्ची सब्जियों और फलों का इस्तेमाल होता है। जानिए हिमाचल प्रदेश के लोकप्रिय अचार की रेसिपी।

हिमाचल प्रदेश के ये 3 अचार खाते रह जाएंगे, जानिए रेसिपी

Himachal Pradesh Pickles

थाली में कितने ही प्रकार के व्यंजन क्यों न हो, लेकिन अचार के बिना थाली अधूरी लगती है। अचार में इस्तेमाल की जाने वाले सामग्रियों में भरपूर विटामिन होता है और साथ ही अचार पाचन क्रिया को भी सुधारने में मदद करता है। इसमें भी खास बात यह है कि हर राज्य के अचार की अपनी विशेषता होती है। ऐसे ही कुछ अचार हैं जो हिमाचल प्रदेश की विशेषता हैं। यहां ऐसे ही 3 अचार की रेसिपी दी गई है जो कि इस राज्य में काफी फेमस हैं और अन्य राज्यों में भी इसकी रेसिपी फॉलो की जाती है।

गलगल का खट्टा-मीठा अचार हिमाचल प्रदेश में काफी लोकप्रिय है। गलगल  नीबू की जाति का पौधा है और इसके फल बड़े होते हैं। कचनार का अचार भी काफी फेमस है। कचनार एक तरह की औषधि है जो कि हिमाचल प्रदेश में पाई जाती है जो कि सेहत के लिए काफी गुणकारी होती है। नाशपाती काफी हद तक सेब की तरह लगता है। यह सेब से जुड़ा उप-अम्लीय फल है। यह पौष्टिक होने के साथ-साथ स्वादिष्ट भी होता है और इसका अचार भी इस राज्य में बड़े चाव से खाया जाता है। यहां जानिए हिमाचल प्रदेश की तीन फेमस रेसिपी।

गलगल का खट्टा-मीठा अचार

सामग्री

500 ग्राम गलगल

250 ग्राम अदरक

300 ग्राम शक्कर

2 टी स्पून धनिया

2 टी स्पून सौंफ

2 टी स्पून सरसों की दाल

1 टी स्पून कालीमिर्च

2 टी स्पून मेथीदाना

1 टी स्पून कलौंजी

2 टी स्पून अजवायन

2 टी स्पून काला नमक

2 टी स्पून पीसी लालमिर्च

½ टी स्पून गर्म मसाला

¼ टी स्पून हींग

नमक स्वादानुसार

विधि

  • सबसे पहले गलगल को साफ पानी से धोकर एक साफ कपड़े से अच्छे से पोंछ लें।
  • गलगल के दोनों सिरो को काट लें। फिर इसे चार भागों में काटें और गलगल के छोटे-छोटे टुकड़े कर लें।
  • अब एक बर्तन में अदरक को छिलकर छोटे-छोटे टुकड़े कर के पानी में धोले और एक कपड़े पर सूखने के लिए रख दें।
  • अब अदरक के साथ इसमें धनिया, मेथीदाना, काली मिर्च, अजवायन, इन सब मसालों को मिक्सर में दरदरा पीस लें।
  • इसे एक बर्तन में डालें और गलगल को काटकर तैयार किया उसमे धीरे-धीरे सारे मसाले डालें।
  • गलगल में अब सारे मसाले जैसे हल्दी, हींग, गरम मसाला, नमक, लाल मिर्च, काली मिर्च, कलौंजी डालें और हाथों की मदद से मिलाए।
  • अब स्वादनुसार पीसी शक्कर डालें। शक्कर की जगह गुड भी डाल सकते हैं।
  • सारे मसाले मिल जाए फिर एक जार में भरें और ढक्कन को बंद करें और आठ से दस दिन के लिए धूप में रखें।
  • इस बीच जार के अचार को हिलाते रहे। अब गलगल का अचार बनकर तैयार है। इसे आप किसी भी पकवान के साथ थाली में परोस सकते हैं।

कचनार का अचार

 

सामग्री

250 ग्राम कचनार की कली 

2 टी स्पून नमक

1 कप सिरका

1 कप सरसों का तेल

½ कप राई दाल

1 टी स्पून लालमिर्च पाउडर

1 टी स्पून हल्दी पाउडर

1 टी स्पून हींग

विधि

  • सबसे पहले कचनार की कली को एक-एक करके अलग करें और एक बर्तन में निकाल दें।
  •  इसके बाद एक बर्तन में पानी डाले और गैस चालू करें। पानी में उबाल आ जाने पर कचनार को डालें और तीन से चार उबाल आ जाने पर गैस को बंद कर दें।
  • कचनार की कलियों को निकालकर एक छलनी में रात भर के लिए रख दें, ताकि सारा पानी निकल जाए। पानी निकल जाने के बाद एक कढ़ाई गैस पर रखें और गैस मीडियम आंच पर चालू करें। कढ़ाई में सरसों का तेल डालें और गर्म होने दें। अब गैस की आंच को धीमा कर दें।
  • इसमें कचनार की कलियों को डालें और एक चम्मच की मदद से हिलाएं। गैस की आंच तेज कर दें और तेज आंच पर 5-10 मिनट के लिए पकाएं और एक चम्मच से चलाते रहें। ध्यान रहे कचनार में पानी नहीं रहना चाहिए।
  • अब सारे मसाले डालें। सबसे पहले लालमिर्च, हल्दी पाउडर, हींग और नमक डालें। अब मसाला तल जाने पर सिरका डालें और अच्छे से उबालें।
  • गैस बंद कर दें। कचनार को ठंडा होने दें। ठंडा हो जाने पर कचनार में राई डालकर एक चम्मच से मिलाएं। अब कचनार को ठंडा हो जाने पर कचनार में सारे तले मसाले डालें।
  • लीजिए तैयार है हिमाचल प्रदेश का कचनार का ये बहुत ही फेमस अचार। यह अचार खाने में बहुत ही स्वादिष्ट के साथ-साथ यह खूब गुणकारी भी हैं।

नाशपाती का अचार

सामग्री

3 किलो कच्चे नाशपाती

1 किलो सरसों का तेल

250 ग्राम राई की दाल

100 ग्राम सौंफ

3 टेबल स्पून लाल मिर्च पाउडर

3 टेबल स्पून अजवाइन पाउडर

1 टेबल स्पून मेथीदाना दरदरा

3 टेबल स्पून हल्दी पाउडर

1 टी स्पून कशमिरीमिर्च पाउडर  

2 टेबल स्पून नमक

विधि

  • सबसे पहले नाशपाती को साफ पानी से धो लें और साफ कपड़े से पानी को साफ करें। ध्यान रहे नाशपाती में पानी नहीं रहना चाहिए।
  • एक चाकू की मदद से नाशपाती के बीज निकाल लें और नाशपाती के थोड़े बड़े टुकड़े काट लें।
  • काटे हुए नाशपाती को एक बर्तन में निकाल लें।
  • सौंफ को मिक्सर के जार में मोटा-मोटा पीस लें।
  • सबसे से पहले पीसी हुई सौंफ, लाल मिर्च, मेथीदाना पाउडर, अजवाइन, हल्दी पाउडर, कश्मीरी लाल मिर्च पाउडर, राई की दाल और नमक डालें। एक चम्मच की मदद से अच्छे से मिलाएं ताकि सारे मसाले मिल जाएं।
  • दूसरी तरफ, गैस पर एक बर्तन रखें और सरसों का तेल डालकर तेज गर्म करें। फिर इसे ठंडा होने दें।
  • तेल ठंडा हो जाने पर आधा तेल एक बर्तन में निकाल कर अलग रख दें और बचे हुए तेल में तैयार मसाले डालकर हाथों से अच्छे से मिलाएं। एक चम्मच की मदद से अचार को कांच के जार में भरें।
  • ध्यान रहे जार को पूरा न भरें। इसे थोड़ा खाली रखें और अब जो तेल एक बर्तन में निकाला था वह सरसों को तेल भी डाल दें।
  • तैयार है आपका नाशपाती का अचार नाशपाती का अचार खाने मे स्वादिष्ट है, उतना है सेहत के लिए लाभकारी भी हैं।

Janmashtami 2020: लड्डू गोपाल के लिए तैयार कीजिए 5 तरह का प्रसाद

ये 5 सिंधी डिशेज़ बनाकर देखिए हर कोई खुश हो जाएगा

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

भारत के ये 1...

भारत के ये 10 अचार हैं कुछ हटकर, कुछ का तो...

महाराष्ट्र क...

महाराष्ट्र के ये तीन अचार घर पर जरूर बनाएं...

गुजरात के 4 ...

गुजरात के 4 फेमस अचार घर पर बनाइए

घर पर ट्राय ...

घर पर ट्राय एग बिरयानी की 5 यमी रेसिपी

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

वापसी - गृहल...

वापसी - गृहलक्ष्मी...

 बीस साल पहले जब वह पहली बार स्कूल आया था ,तब से लेकर...

7 ऐसे योग आस...

7 ऐसे योग आसन जो...

स्ट्रेस, देर से सोना, देर से जागना, जंक फूड खाना, पौष्टिक...

संपादक की पसंद

हस्त रेखा की...

हस्त रेखा की उत्पत्ति...

जिन मनुष्यों ने हस्त विज्ञान की खोज की उसे समझा और...

अक्सर पैसे ब...

अक्सर पैसे बढ़ाने...

बाई काम पर आती रहे, काम अच्छा करे और पैसे बढ़ाने की...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription