जीजा-साली के रिश्ता न हो दागदार

चयनिका निगम

31st August 2020

जीजा साली का रिश्ता अनोखा होता है क्योंकि चाहें तो ये दोनों एक दूसरे के सहयोगी बन सकते हैं। लेकिन इस रिश्ते से जुड़ा मजाक का पुट इसे खराब भी कर सकता है।

जीजा-साली के रिश्ता न हो दागदार
‘जीजा जी आ गए, फिर वही घटिया मजाक। सोचते ही नहीं कि क्या बोलना है। दीदी के चलते घर में भी कोई कुछ नहीं बोलता है।' पूजा के मुंह से निकली ये बात जीजा-साली एक रिश्ते का सच है। दरअसल जीजा-साली के रिश्ते को अक्सर मजाक से जोड़ा जाता है। अक्सर घरों में जीजा जी घर में आते हैं और साली को लेकर लोग आंखें तरेरने लगते हैं। आधी घरवाली के मजाक तो होते ही हैं, कई बार बात अश्लीलता की तरफ भी बढ़ जाती है। उनके बीच कभी समझदारी के रिश्ते की अपेक्षा की ही नहीं जाती है। ज़्यादातर घरों में जीजा-साली के बीच इतना मजाक हो जाता है कि रिश्ते बिगाड़ भी जाता है। हां, ये बात सही है कि ऐसा मजाक हमेशा हो ये जरूरी भी नहीं। लेकिन थोड़ी सी समझदारी से इस मजाक को सीमाओं में बांधा जा सकता है। ताकि रिश्ते न बिगड़ें और बाकी रिश्तों की तरह जीजा-साली का रिश्ता भी सही चलता रहे। इस रिश्ते की आत्मियता बनाए रखने के लिए कुछ बातों को अपनाया जाना फायदेमंद हो सकता है। चलिए रिश्ते बचाए रखने के लिए कुछ टिप्स पर नजर डाल लीजिए-
जरूरत से ज्यादा ध्यान-
हमेशा ही मजाक करने वाले और मजाक में सीमाएं भूल जाने वाले जीजा जी अगर आपके भी हैं तो उनसे बचकर रहने और रिश्ते खराब होने से बचाने का एक सबसे अच्छा तरीका है। ये तरीका है उन पर मतलब भर का ही ध्यान रखना। उनको ये दिखाना ही नहीं है कि वो बहुत जरूरी हैं। या वो आए हैं तो आपके परिवार का तो मानो मान ही बढ़ गया। अगर उनको लगेगा कि आप उन पर ही ध्यान दे रही हैं, तो उनकी हिम्मत जरूर बढ़ती ही जाएगी। 
गलती सिर्फ गलती है-
याद रखिए अगर एक गलती को आप मजाक में उड़ा देंगी तो वो फिर मजाक करेंगे। इसलिए जरूरी है कि आप उनकी किसी भी गलती को बढ़ावा न दें। बल्कि उनको उनकी हद में रहने की सलाह जरूर दे दें। उनका कोई भी मजाक भद्दा लगे तो तुरंत उन्हें टोकें जरूर चूकें न। अगर आप ऐसा नहीं करेंगी तो जीजा जी रिश्ते के नाम पर गलतियां करते ही जाएंगे। और आप हर बार रिश्ते के चलते कुछ नहीं कह पाएंगी। 
समझदारी है जरूरी-
सतर्क रहने और गलती को बढ़ावा न देने का ये मतलब बिलकुल नहीं है कि आप हर हरकत को शक की निगाह से ही देखें। बल्कि आपको कई दफा समझदारी का साथ देना होगा। समझना होगा कि हर व्यवहार आपके बुरे के लिए नहीं होता है। बल्कि इसमें कई बार गलतफहमी भी हो सकती है। इसलिए कई मौकों पर समझदारी से ही काम लें। कोई बात समझने में दिक्कत हो तो किसी बड़े या आपके खास इंसान से राय भी ली जा सकती है। 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

तलाक लेकर वा...

तलाक लेकर वापस आई ननद बन जाए दोस्त

पति के तनाव ...

पति के तनाव को आप कर दें 'जीरो'

शादी के बाद ...

शादी के बाद ना करें ये 5 समझौते

सास करती हैं...

सास करती हैं आपकी बुराई....आप दिखाएं अपनी...

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

क्या आप भी स...

क्या आप भी स्किन...

स्किन केयर डिक्शनरी

सुपर फूड्स फ...

सुपर फूड्स फाॅर...

माइग्रेन का सिरदर्द अक्सर सुस्त दर्द के रूप में शुरू...

संपादक की पसंद

क्या आज जानत...

क्या आज जानते हैं,...

आज हम आपको बताने जा रहे हैं एक नायाब घड़ी के बारे में।...

महिलाएं पीरि...

महिलाएं पीरियड्स...

मासिक धर्म की समस्या

सदस्यता लें

Magazine-Subscription