बीमारी में अपनाएं शिष्टाचार, इस तरह से रखें अपना और दूसरों का ख्याल

Jyoti Sohi

14th September 2020

चाहे आफिस हो यां फिर घर, हम बीमारी में न तो खुद की चिंता करते हैं, और न ही साथ उठने बैठने वालों की, इसका खमियाज़ा हमारे इर्द गिर्द रहने वाले लोगों को हमसे कहीं ज्यादा भुगतना पड़ता है। हमें इसके लिए कुछ खास बातों का ध्यान रखने की ज़रूरत है। जो हम पूरी तरह से भूल जाते हैं यां भुला चुके हैं। हम बात कर रहे हैं शिष्टाचार की, जो हमें सीखाता है कि दूसरों के प्रति हमारी क्या जिम्मेदारियां है।

बीमारी में अपनाएं शिष्टाचार, इस तरह से रखें अपना और दूसरों का ख्याल
अक्सर ये कहते हुए सुना होगा की बीमारी पूछकर यां फिर बताकर दस्तक नहीं देती है। रोग कभी भी देर सवेर आपको अपनी चपेट में ले लेता है। दरअसल बीमारी एक ऐसा बिन बुलाई मेहमान है कि कभी भी चुपके से आपके पहलू में आकर बैठ सकती है। आमतौर पर बीमारी की चपेट में आने के बावजूद भी हम काम में उलझे रहते हैं। चाहे आफिस हो यां फिर घर, हम बीमारी में न तो खुद की चिंता करते हैं, और न ही साथ उठने बैठने वालों की, इसका खमियाज़ा हमारे इर्द गिर्द रहने वाले लोगों को हमसे कहीं ज्यादा भुगतना पड़ता है। हमें इसके लिए कुछ खास बातों का ध्यान रखने की ज़रूरत है। जो हम पूरी तरह से भूल जाते हैं यां भुला चुके हैं। हम बात कर रहे हैं शिष्टाचार की, जो हमें सीखाता है कि दूसरों के प्रति हमारी क्या जिम्मेदारियां है।
खाना बनाने से परहेज करें
जब हम किसी संक्रिमत रोग की चपेट में होते हैं, तो उसके फैलने का खतरा हर वक्त बना रहता है। ऐसे में दूसरों को खाना खिलाने और खाना बनाने दोनों से दूर रहना चाहिए। अन्यथा खाद्य सामग्री के साथ साथ सक्रंमण भी थाली में परोसा जा सकता है, जो आगे चलकर दूसरे लोगों को भी रोग की चपेट में ले सकता है। 
जब कलीग हो बीमार
सर्दी के मौसम में खांसी, जुकाम और बुखार एक आम समस्या है। ऐसे में अधिकतर लोग ऐसे होते हैं, जो बीमार होने के बावजूद भी आफिॅस के लिए निकल पड़ते हैं। क्यों की रोज़ाना छुट्टी लेना आसान नहीं है। हांलाकि कर्मचारी के तौर पर वो भले ही अपनी डयूटी निभा रहे हैं, मगर बाकी स्टाॅफ के लिए वो परेशानी का सबब साबित हो सकते हैं।  ऐसे में खुद को बाकी लोगों से दूर रखें और कम से कम बातचीत करें और हाथ मिलाने और खाना बांटकर खाने से भी बचें। इसके साथ साथ बाकी लोगों की भी जिम्मेदारी बनती है कि वो बीमार व्यक्ति से ज्यादा बातचीत न करें और न ही उनके करीब बैठें।
दूसरों का भी रखें ख्याल
अगर आप बीमारी की चपेट में हैं, तो दूसरों को इससे बचाना आपकी जिम्मेदारी बन जाती है। ध्यान रखें की दूसरों से हाथ मिलाने से बचें और उनसे दूरी बनाकर बैठे क्यों की जुकाम हो यां फिर अन्य संक्रमित बीमारी छूने यां ज्यादा बातचीत करने से आसानी फैलती है। हमेषा हाथ में रूमाल रखें और मास्क पहल कर रखें। 
हाथों को साफ रखें
संक्रमित रोग आसानी से फैलते है इसीलिए इनसे बचने के लिए हमेशां हाथों को साफ रखें। लिक्विड सोप से हाथों को बार बार धोएं और दूसरों के सम्पर्क में आने से बचें अनयथा  
मास्क से करें बचाव
मास्क पहनने से संक्रमित रोग नज़दीक नहीं आते हैं। दरअसल, स्वाइन फलू का वायरस नाक के ज़रिए शरीर में प्रवेश करता है और फिर शरीर के अन्य भागों में पहुंचता है। बीमार व्यक्ति को मास्क पहनने की सलाह दें अन्यथा आप खुद भी बीमारी से बचने के लिए मास्क का इस्तेमाल कर सकते हैं। 
संयम बरतें
बीमारी में संयम सबसे ज़रूरी है। जब भी कोई बीमार होता है, तो वो जल्द जल्द ठीक होने की चाह रखता है। मगर आपका व्यवहार मरीज़ को हिम्मत प्रदान करता है। इसीलिए बीमार व्यक्ति से अच्छा व्यवहार करें ताकि वो निराष न हो और जल्द से जल्द ठीक हो जाए। 
मूंह ढ़ककर खांसी करें
मौसम का बदलता मिजाज़ हो यां फिर धूल मिट्टी, इनसे होने वाली एलर्जी से छींकें और खांसी आना एक आम समस्या है। आमतौर पर छींकते यां खांसते वक्त हम आसपास के लोगों का ध्यान नहीं रखते हैं, जिसकी बदौलत बाकी लोगों के लिए ये परेशानी का कारण बन सकता है। अगर आप लगातार खांस रहे हैं, तो एकांत में जाएं और तुरंत दवा लें। इसके अलावा अपने पास पानी, अलग गिलास, गले की खराष के लिए मिंट यां कोई अन्य टैबलेट रखें। जो आपको कुछ देर के लिए राहत पहुंचा सकती हैं। 
बीमार हो महमान
अगर आपके घर आया हुआ महमान बीमार है, तो उनके रहने, खाने और सोने का सबसे अलग और खास इंतजाम करें। पीने के लिए उबला पानी, साफ तौलिये और खाना अलग थाली में परोसें। इसके अलावा अगर वो रहने वाले हैं, तो सोने के लिए अलग बिस्तर दें ताकि बाकी लोग रोग की चपेट में आने से बच सकें। 
सह यात्री हो बीमार
यात्रा के दौरान अगर अन्य यात्री बीमारी है, तो आपकी जिम्मेदारी और भी बढ़ जाती है। ऐसे में बीमार यात्री को खांसते यां छींकते वक्त टीशु पेपर दें और गर्म पानी पीने की सलाह दें। इसके अलावा अगर उन्हें जोड़ों का यां कोई अन्य दर्द है, तो उनकी आवष्यकता के मुताबिक उनकी मदद करें। ट्रेन यां बस से उतरते यां चढ़ते वक्त उनका सामान उठा लें और उन्हें मंज़िल तक हिफाज़त से पहुंचा दें। 
बीमारी में लें जल्द उपचार
अगर आप बीमार हैं यां घर का कोई अन्य सदस्य किसी बीमारी से जूझ रहा है, तो उससे नम्रता से पेष आएं और उसका तुरंत उपचार करवाएं। समय पर दवाई दें और उनकी जरूरत का ध्यान रखें अन्यथा देख्ते ही देखते बीमारी पूरे घर को अपनी चपेट में ले सकती है। 
अच्छी सेहत के पांच आसान उपाय
साफ सफाई का रखें ख्याल
बीमारी से बचने का सबसे आसान तरीका है अपने हाथों की साफ सफाई यानि कुछ भी खाने से पहले यां बनाने से पहले हाथ जरूर धोएं। इससे आप आसानी से संक्रमित रोगों से बच सकते हैं।
साफ पानी का करें इस्तेमाल
अगर आपके घर साफ पानी की सप्लाई नही है, तो पानी उबालकर पीऐं। आंकड़ों की मानें तो गंदा पानी पीने से हर साल करोड़ों लोग निमोनिया, मलेरिया, दस्त और टायफाईड  जैसी बीमारियों के षिकार हारेते हैं।
खान पान का रखें ख्याल
प्रोटीन और विटामिन से भरपूर चीजें खाएं ताकि आपका शरीर तंदरूस्त बना रहें। इसके अलावा बाजार का खाना खाने से परहेज करें। दरअसल छिलकेदार अनाज सेहत के लिए मैदे से ज्यादा फायदेमंद साबित होता है।   
व्यायाम करें
रोज़ाना आधा घंटा कसरत ज़रूर करें ताकि आपका शरीर चुस्त और दुरूस्त बना रहे। अगर आप दिल की बीमारी यां फिर कमर दर्द से परेषान हैं, तो डाक्टरी सलाह के बाद ही कसरत करना षुरू करें।  
नींद भरपूर लें
रोज़ाना आठ घंटे की नींद लेना ज़रूरी है। हांलाकि सब अपनी ज़रत के मुताबिक नींद लेते हैं। मगर पूरी नींद लेने से आप न सिर्फ बीमारियों से दूर रहेंगे बल्कि शारीरिक विकास भी होगा।   
                                                        

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

रक्षा बंधन क...

रक्षा बंधन के मौके पर रहें सावधान, रखें इन...

10 आम गलतिया...

10 आम गलतियां जो हम करते हैं डेली डाईट में...

14 ऐसी आदतें...

14 ऐसी आदतें, जिन्हें बदलना है ज़रूरी

कपड़ों से लेक...

कपड़ों से लेकर जूतों तक मानसून में क्या पहनें...

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

टमाटर से फेस...

टमाटर से फेस पैक...

 अगर आपको भी त्वचा से संबंधी कई तरह की परेशानी है तो...

पतले और हल्क...

पतले और हल्के बालों...

 तो सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए आज हम आपको कुछ ऐसा बता...

संपादक की पसंद

टीवी की आदर्...

टीवी की आदर्श सास,...

हर शादीशुदा महिला के लिए करवा चौथ का त्योहार बेहद ख़ास...

मैं एक बदमाश...

मैं एक बदमाश (नॉटी)...

आप लॉकडाउन कितना एन्जॉय कर रही है... मेरे लिए लॉकडाउन...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription