विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस- क्या ऑनलाइन थेरेपी मेंटल हैल्थ के लिए एक वरदान है

मोनिका अग्रवाल

14th October 2020

इस महामारी ने सभी चीजों को ऑनलाइन कर दिया है जिस में हमारा मानसिक स्वास्थ्य का चैक अप भी शामिल है। ज्यादातर समय हमें घर ही गुजारना पड़ता है इसलिए हो सकता है आप के मानसिक स्वास्थ्य के लिए यह समय बहुत ही कठिन हो।

विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस- क्या ऑनलाइन थेरेपी मेंटल हैल्थ के लिए एक वरदान है

इस महामारी ने सभी चीजों को ऑनलाइन कर दिया है जिस में हमारा मानसिक स्वास्थ्य का चैक अप भी शामिल है। ज्यादातर समय हमें घर ही गुजारना पड़ता है इसलिए हो सकता है आप के मानसिक स्वास्थ्य के लिए यह समय बहुत ही कठिन हो। क्योंकि हम यदि बाहर घूमते हैं, अपने दोस्तो के साथ समय बिताते हैं तो हम उन चीज़ों की तरफ ज्यादा ध्यान नहीं देते जिनसे हमारा मूड खराब होता है। परंतु घर पर अकेले रहने से हमारा मानसिक स्वास्थ्य ज्यादा खराब रहता है। 

पहले यदि हमें अपने मानसिक स्वास्थ्य के इलाज के लिए किसी मनोवैज्ञानिक के पास जाना होता था तो हमारे कई घंटे उनके क्लिनिक में ही खराब हो जाते थे परन्तु अब आप किसी भी समय अपने डॉक्टर से ऑनलाइन कंसल्ट कर सकते हैं। इनसे आप का व डॉक्टर का सबसे बड़ा लाभ यह है कि आप के समय की बचत होगी। 

अपना सुरक्षित स्थान चुन लें 

गोआ की मनो वैज्ञानिक रचना पाटनी कहती हैं कि ऑनलाइन थेरेपी कोई नई चीज नहीं है। वह अपने मरीजों को जोकि दुनिया भर में अलग अलग जगहों से थे को पहले भी ऑनलाइन थेरेपी देती थी जब कोई महामारी नहीं थी। इसके लिए आप के द्वारा एक सुरक्षित स्थान बनाना बहुत आवश्यक होता है। आप को अपने घर के किसी ऐसे हिस्से में बैठ कर यह थेरेपी लेनी चाहिए जहां शांति हो और आप को किसी तरह की डिस्टर्बेंस न महसूस हो। 

यदि आप का डॉक्टर व आप एक ही शहर में हैं तब भी दिल्ली, मुंबई जैसे शहरों के ट्रैफिक जाम में भी आप को उन तक पहुंचने में लगभग पूरा दिन लग जाएगा। ऐसे में कुछ लोग इस को ऑनलाइन शिफ्ट करके भी खुश हैं। आप यदि एक बार ऑनलाइन थेरेपी लेने लग जाएंगे तो यह फिर आप के लिए नॉर्मल हो जाएगा और आप को क्लिनिक जाने से बेहतर यह ऑप्शन ही लगेगा।

इसके कुछ नुक़सान भी हो सकते हैं जैसे यदि आप ऑनलाइन मीटिंग कर रहे हैं तो आप के चिकित्सिक आप की बॉडी लैंग्वेज नहीं देख पाएंगे, वह आप को अच्छे प्रकार से नहीं समझ पाएंगे और बीच बीच में आवाज आने की या दिखने कि भी समस्या खड़ी हो जाती है। कई लोगों के पास घर में अकेली जगह भी नहीं होती है जिस वजह से वह खुल कर अपनी बात चिकित्सक के सामने नहीं रख पाते हैं। 

हालांकि ऑनलाइन थेरेपी से लोगो की कुछ मदद भी हुई है। जो लोग जवान हैं या अपनी यौन अवस्था में हैं तो वह अपने मानसिक स्वास्थ्य को ज्यादा तवजजो नहीं देते हैं और इसलिए वह इसके बारे में बात करने के लिए चिकित्सक के क्लिनिक पर भी आने में संकोच महसूस करते हैं। ऐसे में ऑनलाइन चिकित्सा ने इन जैसे लोगों की मदद की है। वह बिना किसी संकोच के किसी भी चिकत्सक से अपनी दशा के बारे में पूछ सकते हैं। 

गांव आदि में रहने वाले लोगों को यह नहीं पता होता है कि फोन व टेक्नोलॉजी का प्रयोग करने कैसे हम ऑनलाइन चिकित्सा ले सकते हैं। इसलिए वह इस सुविधा का लाभ नहीं उठा पाते हैं। अतः उन लोगो के लिए सरकार द्वारा एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है जिसकी सहायता से वह फोन कॉल पर अपनी मानसिक सेहत के बारे में बात कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें-

आप अपने रिश्ते को लेकर कितनी गंभीर हैं

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

स्वयं की ओर ...

स्वयं की ओर ध्यान देना जरूरी है

ऑनलाइन डॉक्ट...

ऑनलाइन डॉक्टर से सलाह लेने के क्या क्या फायदे...

आप अपने रिश्...

आप अपने रिश्ते को लेकर कितनी गंभीर हैं

क्या है म्यू...

क्या है म्यूजिक थेरेपी?जानें

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

टमाटर से फेस...

टमाटर से फेस पैक...

 अगर आपको भी त्वचा से संबंधी कई तरह की परेशानी है तो...

पतले और हल्क...

पतले और हल्के बालों...

 तो सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए आज हम आपको कुछ ऐसा बता...

संपादक की पसंद

टीवी की आदर्...

टीवी की आदर्श सास,...

हर शादीशुदा महिला के लिए करवा चौथ का त्योहार बेहद ख़ास...

मैं एक बदमाश...

मैं एक बदमाश (नॉटी)...

आप लॉकडाउन कितना एन्जॉय कर रही है... मेरे लिए लॉकडाउन...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription