अपमानजनक रिश्ता सहने से अच्छा है आगे बढ़ना

मोनिका अग्रवाल

11th October 2020

जीवन साथी आपकी भावनाओं को चोट पहुँचाता हो तो अपने रिश्ते के बारे में ज़रूर सोचना चाहिए

अपमानजनक रिश्ता सहने से अच्छा है आगे बढ़ना

अपमानजनक रिश्ता सहने से अच्छा है आगे बढ़ना

"मैंने अपने रिश्ते को बचाने की भरपूर कोशिश की लेकिन हमारा रिश्ता एक तरफ़ा था ", कहतीं हैं एक प्रसिद्ध तारिका जिन्होंने दस साल बाद अपने पति से तलाक़ लेने का निर्णय लिया."

कहा गया है कि संबंध बनाना जितना आसान है निभाना उतना ही मुश्किल.एक मज़बूत रिश्ते को भी कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है,लेकिन यदि आपका जीवन साथी निरंतर तनाव का स्त्रोत हो,आपकी भावनाओं को चोट पहुँचाता हो तो आपको अपने रिश्ते के बारे में ज़रूर सोचना चाहिए.

विशेषज्ञों के अनुसार वैसे तो हर रिश्ता अलग होता है,और हर सम्बंध की परिस्थितियाँ अलग अलग होती हैं लेकिन आमतौर पर कुछ ऐसे सामान्य संकेत हैं,जिन्हें देखकर आपको यह समझ जाना चाहिए कि अब रिश्ते को बचाने की कोशिश करना केवल समय की बर्बादी के सिवाय कुछ भी नहीं

आपके साथ दुर्व्यवहार- यदि आपका जीवनसाथी आपको धक्का दे, हाथ उठाए,और दूसरों के सामने आपको अपमानित करे ,और अपमानित करने के बाद ये कहे कि वो "ऐसा नहीं करना चाहता था,लेकिन उससे हो जाता है,फिर कहे कि "क्योंकि आपका व्यवहार ग़लत था,इसलिए उसने ऐसा किया."फिर ये सफ़ाई दे कि "आपको स्वयं को बदलना होगा क्योंकि आप बेहद सम्वेदनशील हैं"

यदि वो आपके साथ भावनात्मक या शारीरिक दुर्व्यवहार करे तो ये उत्साहजनक संकेत नहीं है और तब ,आपको ऐसे रिश्ते से बाहर हो जाना चाहिए.क्योंकि आप भी सम्मान की हक़दार हैं,ऐसे रिश्ते में आप उनकी सोच बदल नहीं सकतीं.

२-हर समय आपको अपना ध्यान ,स्वयं पर ही केंद्रित रखने को ,बाध्य करता हो-और उसके इस व्यवहार के कारण आप अपना,कैरीयर,परिवार,आपके शौंक में ध्यान नहीं लगा पा रही हों तो ऐसे रिश्ते को बचाने का प्रयास व्यर्थ है,विवाह में समझौता करना ठीक है लेकिन समझौते ऐसे भी न हों की रिश्ते में घुटन महसूस होने लगे और लम्बे समय के लिए अन्य क्षेत्रों में आपकी प्रगति प्रभावित होने लगे तो ऐसे रिश्ते को ढोना व्यर्थ है.

आप एकमात्र लड़ाई लड़ रही हैं-जब आपको लगे कि अपना रिश्ता बचाने की सारी कोशिशें आपकी तरफ़ से हैं,तब आप ये लड़ाई जीवन भर नहीं लड़ पायेंगी,चाहे आप सही हों और आपका जीवनसाथी ग़लत.

यदि आपका जीवनसाथी रिश्ते की समस्याओं पर बात नहीं करना चाहता-यदि ऐसा है तो आपको समझ जाना चाहिए कि वे बातें उसके लिए महत्वपूर्ण नहीं हैं ,इसका सीधा सा मतलब है कि वे इस रिश्ते को सुधारना ही नहीं चाहता.

जब आपके जीवन साथी का आपके साथ समय बिताने का मन न करे-जब आपका जीवनसाथी अपना अधिकांश समय कोई न कोई बहाना करके घर से बाहर बिताए.ज़रूरी काम है तो अलग बात है लेकिन हर बार ऐसा हो तो समझ जाना चाहिए कुछ तो ऐसा है जो आपके साथ ग़लत हो रहा है,क्योंकि ,व्यस्तता के आलम के बीच भी पति अपनी पत्नी और परिवार के लिए समय निकाल ही लेते हैं

जब आपके क़रीबी दोस्तों को आपके रिश्ते के बारे में संदेह हो-रिसर्च कहती है कि आपके क़रीबी दोस्तों को आपके रिश्ते के बारे में ज़्यादा सही तरह से पता होता है और वो ज़्यादा अच्छी तरह से आपके रिश्ते को परख सकते हैं.आमतौर पर,आपके दोस्त और परिवार के सदस्य ही आपके रिश्ते में अस्वस्थ व्यवहार के बारे में उल्लेख करेंगे.

यह भी पढ़ें-

आप अपने रिश्ते को लेकर कितनी गंभीर हैं

शादीशुदा लाइफ से गायब हो चुका है सेक्स तो ये हो सकते हैं कारण

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

अब आपका रिश्...

अब आपका रिश्ता लंबे समय तक नहीं चलने वाला,...

मकान मालिक क...

मकान मालिक के साथ रिश्ता कैसा हो

कैसे पता लगा...

कैसे पता लगाएं की आप अपने एक्स के साथ फिर...

भावी जीवन सा...

भावी जीवन साथी से निश्चिन्त होकर पूछिये सवाल...

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

टमाटर से फेस...

टमाटर से फेस पैक...

 अगर आपको भी त्वचा से संबंधी कई तरह की परेशानी है तो...

पतले और हल्क...

पतले और हल्के बालों...

 तो सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए आज हम आपको कुछ ऐसा बता...

संपादक की पसंद

टीवी की आदर्...

टीवी की आदर्श सास,...

हर शादीशुदा महिला के लिए करवा चौथ का त्योहार बेहद ख़ास...

मैं एक बदमाश...

मैं एक बदमाश (नॉटी)...

आप लॉकडाउन कितना एन्जॉय कर रही है... मेरे लिए लॉकडाउन...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription