हृदय रोगी अपने आहार का रखें ध्यान, जरूरी टिप्स

मोनिका अग्रवाल

19th October 2020

सुस्त जीवन शैली,तनाव,पर्याप्त नींद का अभाव आदि कुछ ऐसे कारण हैं जिनसे ह्रदय रोगियों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है. ह्रदय को अच्छा रखने के लिए सबसे महत्वपूर्ण है अपने आहार पर ध्यान देना क्योंकि ह्रदय रोग के लिए आहार महत्वपूर्ण घटक होता है.

हृदय रोगी अपने आहार का रखें ध्यान, जरूरी टिप्स

हृदय रोगी अपने आहार का रखें ध्यान

दिल के स्वास्थ्य के लिए केवल आहार नहीं,बल्कि पौष्टिक आहार सख़्त ज़रूरी है.शारीरिक चुस्ती और संतुलित आहार के दम पर आप कई बीमारियों को ख़ुद से दूर कर सकते हैं,इसके लिए ज़रूरी है हमें अपने कुछ खाद्य पदार्थों को अपने किचन से हटाकर उनके स्थान पर,कुछ खाद्य पदार्थों को शामिल करना होगा. 

रिफाइंड के स्थान पर होल ग्रेन-रिफाइंड ग्रेन प्रासेस्ड होता है.इसमें चोक़र और बीज निकाल दिया जाता है.इस प्रक्रिया में अनाज में पाए जाने वाले विटामिंस,आयरन और डाइटरी फ़ाइबर का अधिकतर हिस्सा ख़त्म हो जाता है.होल ग्रेन में चोकर,बीज,और एंडस्पर्म सब मौजूद रहता है जैसे होल व्हीट आटा,ओटमील,होल कौर्नमील.इसलिए स्वस्थ ह्रदय के लिए ज़रूरी है,होलग्रेंस से तैयार आटा,ब्रेड आदि को अपनी डाइट में शामिल किया जाये.

रेड मीट के स्थान पर मछली-अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के अनुसार स्वस्थ ह्रदय के लिए,रेड मीट के बजाय हफ़्ते में दो बार मछली ज़रूर खानी चाहिए.सार्डीन,सेमल,मैकरल मछलियों में ओमेगा-3फैटी एसिड़्स होते हैं जो दिल को मज़बूत करते हैं.

तले भूने नमकीन के स्थान पर नट्स-तले,भुने नमकीन के स्थान पर ,ह्रदय रोग से बचने के लिए नट्स का सेवन उचित माना गया है.ये आकार में भले ही छोटे होते हैं,लेकिन हैं बड़े काम के.नट्स में विटामिन्स और खनिज भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं इसीलिए 'छोटी छोटी भूख' यानी दो मील के भीतर ,अगर भूख लगे तो पिस्ता ,बादाम,पहाड़ी बादाम और अखरोट खाने की सलाह दी जाती है

चाय के स्थान पर ग्रीन टी-एंटी ऑक्सिडंट से भरपूर ग्रीन टी पीने से शरीर को कई फ़ायदे होते हैं.इसलिए दिन में एक कप ग्रीन टी पीने से दिल से जुड़ी बीमारियों का ख़तरा कम हो जाता है,इससे हार्ट ब्लोकेज का ख़तरा कम हो जाता है,क्योंकि हार्ट ब्लोकेज़ का सबसे बड़ा कारण शरीर की चर्बी होती है.

फ़ुल क्रीम की जगह कम वसायुक्त डेयरी उत्पाद- कमवसायुक्त डेयरी उत्पाद जैसे बिना मलाई वाला दूध और दही ह्रदय के लिए फ़ायदेमंद होते हैं क्योंकि इनमें पोटेशियम और कैलशियम जैसे पोषक तत्व होते हैं जो कम रक्तचाप में मदद करते हैंअपने ह्रदय को स्वस्थ रखने के लिए अपने आहार में ४०० मिलीलीटर डेयरी उत्पादों को शामिल करना लाभदायक माना गया है

सोया-दिल के स्वास्थ्य के लिए सोया ज़रूरी है,क्योंकि ये शरीर में ब्लड प्रेशर और कौलेस्ट्रोल का लेवल कम करते हैं.इनमे पॉलीसेचुरेटेड फ़ैट्स,फ़ाइबर,विटामिन और खनिज भी भरपूर मात्रा में होता है.बीन्स,टोफ़ू या दूध के रूप में सोया का सेवन किया जा सकता है.

फ़ाइबर युक्त आहार-फ़ाइबर को कम कोलेसट्रोल के लिए जाना जाता है.आहार विशेषज्ञों का कहना है कि अपने आहार में ओट्स,ब्राउन चावल,बाजरा,मसूर जिनमे घुलनशील फ़ाइबर होते हैं,और सब्ज़ियाँ,विशेष रूप से जिनकी त्वचा बैगन और भिंडी जैसी होती है,शामिल करें

डार्क चोकलेट-डार्क चोकलेट में एंटीऔक्सिडेंट गुण होते हैं जो फ़्रीरेडिकल्स से कोशिकाओं की क्षति होने को सीमित करती है.ये रक्तपरिसंचरण को बढ़ा देती है और रक्त को जमने से रोकती है.रोज़ाना 20गरम डार्क चोकलेट खाने से दिल स्वस्थ रहता है

एल्क़ोहोल के स्थान पर रेड वाइन-अपने फ़्रिज में अगर एलकोहल रखते हैं तो तुरंत उसकी जगह रेड वाईन रखिए क्योंकि ये शरीर में मौजूद फ़्री रेडिकल्स  के असर को कम करता है.रेड वाईन शरीर में हाई डेंसिटी लिपोप्रोटीन (HDL) कौलेस्ट्रोल बनाता है जिन्हें स्वास्थ्य के हिसाब से 'गुड कोलेस्ट्रोल'माना गया है।

यह भी पढ़ें- एक्सरसाइज को अपने रुटीन का हिस्सा बनाएं

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

डायबिटीज के ...

डायबिटीज के लिए समझदारी से करें खरीदारी

शेफ से जानें...

शेफ से जानें दिल का हाल

यदि आपका कोर...

यदि आपका कोरोना वायरस का संक्रमण टेस्ट पॉज़िटिव...

मेनपॉज़ के द...

मेनपॉज़ के दौरान योनि में सूखेपन के कारण...

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

समृद्धिदायक ...

समृद्धिदायक लक्ष्मी...

यू तो लक्ष्मी साधना के हजारों स्वरूपों की व्याख्या...

कैसे करें लक...

कैसे करें लक्ष्मी...

चौकी पर लक्ष्मी व गणेश की मूर्तियां इस प्रकार रखें...

संपादक की पसंद

कैसे दें घर ...

कैसे दें घर को फेस्टिव...

कैसे दें घर को फेस्टिव लुक

घर पर भी सबक...

घर पर भी सबकुछ और...

‘जब से शादी हुई है सिर्फ लाइफ मैनेज करने में ही सारी...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription