बच्चे की देखभाल और शारीरिक दर्द

मोनिका अग्रवाल

16th October 2020

क्रोनिक पेन है तो आप के लिए अपने बच्चों की देख भाल करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है।

बच्चे की देखभाल और शारीरिक दर्द

बच्चे की देखभाल और शारीरिक दर्द

यदि आप एक माता या पिता हैं और आप को पहले से ही शरीर में किसी प्रकार का क्रोनिक पेन है तो आप के लिए अपने बच्चों की देख भाल करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। ऐसे में आप क्या कर सकते हैं? ऐसे में एक मां बताती हैं कि एक बार उनका ऐक्सिडेंट हो गया था उनको ऐसे दर्द होता था जैसे उनके शरीर पर कोई ट्रक गुजर गया है। परंतु उन्हें फिर भी अपनी छोटी बेटी की देखभाल करनी होती थी। और यह समय उनके लिए बहुत मुश्किल समय था। तो आइए जानते हैं इस प्रकार की स्थिति में आप क्या कर सकते हैं?

अपने बच्चों को अपनी हालत के बारे में बताएं 

यदि आप को किसी प्रकार का दर्द है और अपने बच्चों को आप इस बारे में नहीं बताते हैं और उनसे लगातार काम कराते रहते हैं तो वह सोचेंगे कि वह आप की परवरिश कर रहे हैं न कि आप उनकी। इसलिए आप को अपने बच्चों को अपनी हालत के बारे में सब सही तरीके से बता देना चाहिए। वह यदि आप के बारे के जानेंगे तो ही आप को व आप की हालत को समझेंगे। यदि आप उन्हें नहीं बताते हैं तो आप का व उनका रिश्ता थोड़ा परेशानियों से भर सकता है। ऐसे में आप को निम्न बातों पर ध्यान देना चाहिए।

उनको एक बार से अधिक इस बारे में बताएं

अपने क्रोनिक पेन के बारे में अपने बच्चों को बताना उसी प्रकार का हो जाता है जैसे आप अपने बच्चों को सेक्स के बारे में समझते हैं। आप को उन्हें इसके बारे में बार बार समझना होगा ताकि आप का बच्चा आप को अच्छे से समझ सके। 

 इसे सामान्य रखें व ईमानदारी से उन्हें बताएं 

यदि आप के बच्चे ज्यादा छोटे हैं तो आप उन्हें अपने दर्द के बारे में बताएं। आप उन्हें सामान्य तरीके से समझाएं की कुछ काम जो अन्य बच्चों के माता पिता कर सकते हैं वह आप नहीं कर सकते हैं। 

उन्हें आप की सहायता करने दे 

यदि आप उन्हें अपने लिए कोई कार्य करने देंगी तो इससे आप के बच्चों को स्पेशल महसूस होगा। परंतु ध्यान दें कि आप हर काम अपने बच्चों से ही न कराने लग जाएं। उन्हें उनका बचपन भी एंज्वॉय करने दें। 

उन्हें विश्वास दिलाएं

अपने बच्चों को विश्वास दिलाएं की आप इस दर्द से मरने नहीं वाली हैं। और यदि आप को क्रोनिक पेन है तो इसका अर्थ यह नहीं है कि आप के बच्चों को भी यह दर्द विरासत में मिलेगा। 

क्रोनिक पेन के साथ अपने बच्चों की कैसे देखभाल करें

आप को यदि क्रोनिक पेन है तो इसका अर्थ यह नहीं है कि आप अपने बच्चों की परवरिश में कोई कमी छोड़ेंगी। आप निम्न टिप्स का पालन कर सकती हैं। 

प्लान करें

यदि आप के बच्चों का कोई इवेंट आ रहा है और आप उन्हें इसकी तैयार कराने में असमर्थ हैं तो आप को पहले से ही प्लान कर लेना चाहिए कि आप को क्या करना है। जैसे यदि आप के बच्चे ने डांस में हिस्सा लिया है तो आप इनके लिए एक डांस टीचर को हायर कर सकती हैं।

पहले से ही दवाई लेकर रखें 

यदि आप के बच्चे का कोई इवेंट है जिसमें आप का जाना भी जरूरी है तो आप को पहले से ही अपनी दवाई ले लेनी चाहिए ताकि आप को उस दिन तक थोड़ी बहुत राहत मिल सके। 

यह भी पढ़ें

आइए मिलवातें हैं कुछ खास तरह की बुआओं से

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

कैसे पता करे...

कैसे पता करें कि आप का बच्चा बुलिंग का शिकार...

सिर में दर्द...

सिर में दर्द क्यों होता है

अपने बच्चों ...

अपने बच्चों की आंखों को ऑनलाइन क्लास के दौरान...

बच्चों में स...

बच्चों में सबसे आम 5 बीमारियां क्या हैं

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

रम जाइए 'कच्...

रम जाइए 'कच्छ के...

गुजरात का कच्छ इन दिनों फिर चर्चा में है और यह चर्चा...

घट-कुम्भ से ...

घट-कुम्भ से कलश...

वैसे तो 'कुम्भ पर्व' का समूचा रूपक ज्योतिष शास्त्र...

संपादक की पसंद

मां सरस्वती ...

मां सरस्वती के प्रसिद्ध...

ज्ञान की देवी के रूप में प्राय: हर भारतीय मां सरस्वती...

लोकगीतों में...

लोकगीतों में बसंत...

लोकगीतों में बसंत का अत्यधिक माहात्म्य है। एक तो बसंत...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription