इन 4 कारणों से एक ही जगह बार-बार होते हैं पिंपल्स

Sonal Sharma

26th October 2020

चेहरे पर पिंपल्स होना अपने आप भी निराशाजनक स्थिति है। लेकिन तब और बुरा लगता है जब पिंपल्स एक ही जगह बार-बार हो रहे हों।

इन 4 कारणों से एक ही जगह बार-बार होते हैं पिंपल्स

Pimples

पिंपल्स होना आम बात है और कुछ हद तक इससे बचा जा सकता है। लेकिन, अगर आपकी त्वचा पर एक ही स्पॉट्स पर लगभग हर महीने पिंपल्स उगने लगें, तो स्थिति निराशाजनक हो सकती है। इनसे छुटकारा पाना कभी न खत्म होने वाली प्रक्रिया लग सकती है। इससे बार-बार सूजन और घाव भरने की प्रक्रिया भी हो सकती है और यह आपके लुक को मुख्य रूप से प्रभावित कर सकती है। कुछ तो आपकी आदतें भी हैं जो इसकी वजह बन सकती है। कुछ बातों का ध्यान रखकर इससे बचा जा सकता है। यहां ऐसे 4 कारण बताए जा रहे हैं जो कि एक ही जगह बार-बार पिंपल्स उठने की वजह हो सकती है। साथ ही आप समझ पाएंगे कि आप इसके लिए क्या कर सकते हैं।

अपने चेहरे को बहुत ज्यादा छूना

आप एक दिन में कई सतहों को छूते हैं और इससे आपके हाथ और अंगुलियां गंदी होती हैं और कीटाणु जाने की संभावना होती है। यदि आप अपने हाथों को धोए बिना अपने चेहरे को छूते रहते हैं, तो आप अपनी त्वचा के छिद्रों को तेल से भर रहे हैं, साथ ही गंदगी से भी। यह पिंपल के बार-बारे होने की वजह बन सकता है।

त्वचा के छिद्र

आपके चेहरे पर टी-ज़ोन बाकी क्षेत्र की तुलना में तैलीय हो जाता है। यह तब होता है जब इस क्षेत्र में त्वचा के छिद्र सीबम को स्रावित करते रहते हैं। अनियमित एक्सफोलिएशन या आपके चेहरे पर स्क्रबिंग न करने से ब्लैकहेड्स, वाइटहेड्स और यहां तक ​​कि अल्सर भी हो सकते हैं। ये समस्या तब होती है जब आपकी त्वचा के छिद्रों में सीबम मृत त्वचा कोशिकाओं और गंदगी के साथ मिल जाता है। इसलिए, अपने चेहरे से अतिरिक्त तेल को हटाने और सप्ताह में कम से कम तीन बार अपने चेहरे को साफ़ करने के लिए एक अच्छे क्लींजर का उपयोग करना महत्वपूर्ण है।

पीरियड्स के कारण

कुछ लोगों को पीरियड्स के दौरान हर महीने पिंपल निकलते हैं। ये फुंसियां ​​आपके गालों और जॉलाइन पर हो सकती हैं। इस मामले में, आपको एक उचित सफाई की जरूरत है और इसलिए आप क्रायोथेरेपी का विकल्प चुन सकते हैं जिसे कोल्ड थेरेपी के रूप में भी जाना जाता है। इस ट्रीटमेंट के दौरान, ड्राय आइस का उपयोग आपके जिद्दी तेल ग्रंथि को नष्ट करने के लिए किया जाता है। यदि ऐसा नहीं करना है, तो आप कोर्टिसोन इंजेक्शन या ब्लू लाइट थेरेपी अपना सकते हैं।

हार्मोनल समस्या

आपके शरीर में एंड्रोजन हार्मोन के स्तर में असंतुलन हार्मोनल अल्सर पैदा कर सकता है जो एक नियमित पिंपल से अधिक गहरा होता है और ठीक होने में अधिक समय लेता है। ये बड़े पिंपल्स हैं जो अतिरिक्त तेल और बैक्टीरिया के जमा होने के कारण कई बार सूजन के रूप में हो सकते हैं और निशान छोड़ सकते हैं। वे एक ही जगह पर होते रहते हैं। इन पिंपल्स को दबाने से तेल की निकल सकता है और एक ही स्पॉट पर फिर सक्रिय होने की संवेदनशीलता बढ़ सकती है। इसके अलावा, इसे दबाने से आस-पास की जगहों पर मुंहासे भी पैदा करने वाले बैक्टीरिया हो सकते हैं।

बिना मेकअप के भी दिख सकती हैं खूबसूरत, अपनाइए ये 5 तरीके

सर्दियां आ रही हैं, जानिए क्यों बदलना चाहिए आपको अपने स्किन और हेयर प्रोडक्ट

 

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

त्वचा की सेह...

त्वचा की सेहत के लिए जरूरी है मसाज, जानिए...

रूप-लावण्य क...

रूप-लावण्य के प्रति सजगता भी जरूरी

शादी से पहले...

शादी से पहले दुल्हन के लिए हैं ये खास ब्यूटी...

Daily Skin C...

Daily Skin Care Tips in Hindi

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

समृद्धिदायक ...

समृद्धिदायक लक्ष्मी...

यू तो लक्ष्मी साधना के हजारों स्वरूपों की व्याख्या...

कैसे करें लक...

कैसे करें लक्ष्मी...

चौकी पर लक्ष्मी व गणेश की मूर्तियां इस प्रकार रखें...

संपादक की पसंद

कैसे दें घर ...

कैसे दें घर को फेस्टिव...

कैसे दें घर को फेस्टिव लुक

घर पर भी सबक...

घर पर भी सबकुछ और...

‘जब से शादी हुई है सिर्फ लाइफ मैनेज करने में ही सारी...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription