रेकी थेरेपी के स्वास्थ्य और सेक्स पर प्रभाव

मोनिका अग्रवाल

29th October 2020

रेकी: एनर्जी हीलिंग थेरेपी

रेकी थेरेपी के स्वास्थ्य और सेक्स पर प्रभाव

रेकी: एनर्जी हीलिंग थेरेपी

रेकी शब्द दो जापानी शब्दों से मिलकर बना है"रे" जिसका अर्थ है एक उच्च शक्ति और "की" जिसका मतलब है जीवन की ऊर्जा.इसकी शुरुआत 1920 में जापान में हुई थी.लेकिन आज इसे पूरी दुनिया में इस्तेमाल किया जा सकता है.रेकी प्राकृतिक रूप से आध्यात्मिक होती है,लेकिन यह धर्म से सम्बंधित नहीं होती.ये तकनीक इस विचार पर आधारित है कि जीवन की जो ऊर्जा(इसे प्राण भी कहते हैं)हम सबको जीवित रखती है वो कुछ निश्चित तरीक़ों से हमारे शरीर के अंदर ही बहती है.

विधि -रेकी में कई चीज़ों,मैजिक नबर्स और क्रिस्टल आदि पद्धति से उपचार किया जाता है.इसे शांत माहौल में करना सबसे बेहतर रहता है,हालाँकि इसे किसी भी जगह पर किया जा सकता है.प्रक्रिया को शुरू करने के लिए मरीज़ को लेटने या बैठने के लिए कहा जाता है,इसमें कपड़े उतारने की ज़रूरत नहीं पड़ती.मरीज़ की इच्छानुसार मधुर संगीत बजाया जा सकता है.प्रेक्टिशनर अपने हाथों को हल्के से मरीज़ के सिर,ललाट,धड़ या बाहों पर रखते हैं ,जिससे ऊर्जा संचारण प्रक्रिया शुरू  हो जाती है.प्रेक्टिशनर,हर2 से 5मिनट के भीतर अपने हाथों की आक्रति को बदलते रहते हैं.हाथ को एक स्थान पर तब तक रखा जाता है जब तक प्रेक्टिशनर को यह न लगे कि ऊर्जा का संचारण बंद हो गया है.रेकी के दौरान हाथों को मरीज़ के शरीर पर 20 अलग अलग जगहों पर रखा जा सकता है.

रेकी थेरेपी का लाभ लेने से पहले प्रोफ़ेशनल की विश्वसनीयता,प्रशिक्षण और पेशेवर से सवाल अवश्य करें और किसी भी ऐरे ग़ैरे पर विश्वास न करें

फ़ायदे- रेकी प्रेक्टिशनर के अनुसार,इस प्रक्रिया से शरीर को शांत करके इसे प्राक्रतिक तरीक़े से ठीक होने की क्षमता को मज़बूत करना और शरीर में भावनात्मक,मानसिक व आध्यात्मिक शक्ति को विकसित करना है.इस प्रक्रिया से तनाव ,डिप्रेशन और  नकारात्मकता कम होती है और सेहत में भी सुधार होता है.इसके अतिरिक्त,ह्रदय रोग,बांझपन,क्रोन रोग,ऑटिज़म,थकान में भी रेकी प्रक्रिया से फ़ायदा होता है.आसान शब्दों में इस थेरेपी का संबंध शरीर को पूर्ण रूप से स्वस्थ रखने से है.

रेकी लेवल 1-प्रथम चरण में आपको एक योग्य रेकी गुरु द्वारा रेकी की ऊर्जा दी जाती है.इसे शक्ति का संचार भी कहते हैं.इस प्रक्रिया में रेकी मास्टर आपको परमात्मा द्वारा दी जाने वाली ऊर्जा से जोड़ता है.इसे सीखने के लिए आपको 4-5 घंटों की ज़रूरत होती है. इसमें रेकी की थीयरी क्लास और प्रेक्टिकल शामिल हैं.

रेकी लेवल 2-इस के अंतर्गत शरीर के सात चक्रों,मूलाधार,स्वाधिनिष्ठिहान,,मणिपुर,अनाहत,विशुद्ध,आज्ञा,और सहस्त्रार चक्रों की ऊर्जा को बैलेंस करके आप अपनी,ख़ुद की हीलिंग कर सकते हैं.दूसरों को तो हीलिंग दे सकते हैं,इसके अलावा,दूर बैठे व्यक्तियों को कैसे हीलिंग देना है ये भी सिखाया जाता है.रेकी लेवल 2 में कुल 21 दिन तक ख़ुद पर नियमित हीलिंग का अभ्यास करना पड़ता है

मास्टर हीलर- इस चरण में व्यक्ति दूसरों को रेकी सिखा सकता है.इस कोर्स के लिए आपको 10 से 15 हज़ार तक इन्वेस्ट करने पड़ सकते हैं

रेकी और सेक्स-रेकी का व्यक्ति की सेक्सुअल लाइफ़ पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है.जो लोग सेक्स संबंध बनाने से पहले असुरक्षा,और हीनभावना का शिकार होते थे,रेकी प्रक्रिया को अपनाने के बाद उन्हें अपनी सेक्स लाइफ़ ज़्यादा आनंददायक महसूस होने लगी,चरम पर पहुँचकर उन्हें और उनके पार्ट्नर को  विशेष संतोष का अनुभव भी हुआ.एक अध्ययन के अनुसार रेकी,पुरुषों और महिलाओं के जननांगो को हील करने में भी मदद करती है और उन्हें असुरक्षा,ग्लानि,और अन्य परेशानियों से दूर रखने में भी मददगार सिद्ध हुई है.

यह भी पढ़ें-

मन और तन कीजिए स्वस्थ साउंड हीलिंग थेरेपी से

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

जानें क्या ह...

जानें क्या है रेकी हीलिंग थेरेपी

अच्छे शारीरि...

अच्छे शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य...

मन और तन कीज...

मन और तन कीजिए स्वस्थ साउंड हीलिंग थेरेपी...

मन की अद्भुत...

मन की अद्भुत क्षमता का परिणाम है टेलीपैथी...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

घर पर वाइट ह...

घर पर वाइट हैड्स...

वाइट हैड्स से छुटकारा पाने के लिए 7 टिप्स

बच्चे पर मात...

बच्चे पर माता-पिता...

आपकी यह कुछ आदतें बच्चों में भी आ सकती हैं

संपादक की पसंद

तोहफा - गृहल...

तोहफा - गृहलक्ष्मी...

'डार्लिंग, शुरुआत तुम करो, पता तो चले कि तुमने मुझसे...

समझौता - गृह...

समझौता - गृहलक्ष्मी...

लेकिन मौत के सिकंजे में उसका एकलौता बेटा आ गया था और...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription