'गॉसिप ग्रुप' से बनानी हो दूरी तो अपनाएं ये टिप्स

चयनिका निगम

31st October 2020

गॉसिप करना कुछ लोगों की आदत होती है लेकिन जरूरी नहीं कि ऐसे लोगों के साथ रिश्ते बनाए रखने के लिए आप भी वही करें। गॉसिप से दूरी बनाना कठिन नहीं है।

'गॉसिप ग्रुप' से बनानी हो दूरी तो अपनाएं ये टिप्स
गॉसिप...बातों का वो सिलसिला, जो खुद को छोड़ किसी भी बारे में हो सकता है। इसमें टॉपिक ही दूसरे होते हैं। ये ऑफिस में भी खूब होता है और पड़ोसियों के बीच भी। ये रिश्तेदारों के बीच भी पनपता है और दोस्तों के बीच भी। खास बात ये है कि मनोरंजन के अलावा इसका कोई भी फायदा नहीं होता है और होता है तो लोगों के बीच मनमुटाव। दोस्ती टूटती है तो रिश्ते भी। प्यार भरे रिश्ते मान लीजिए दुश्मनी में बदल जाते हैं। लेकिन आपको इन बातों का एहसास है और आप इन चीजों से दूर रहना चाहती हैं तो ये आपको एक बड़ा काम लग सकता है। क्योंकि जिन लोगों की गॉसिप वाली आदत से आपको दिक्कत है, वो आपके दिल के करीब हैं या सीनियर हैं, जिन्हें आप ऐसी बातें करने से रोक नहीं सकतीं। लेकिन इस स्थिति से निपटने के लिए आपको खुद में कुछ बदलाव करने होंगे ताकि लोग अपनी आदत भले न बदलें लेकिन आप गॉसिप के रंग में रंगने से खुद को जरूर रोक पाएं। आप खुद को समझा पाएं कि गॉसिप बिलकुल अच्छी बात नहीं है और किसी भी तरह इससे दूरी बहुत जरूरी है। पर खुद को गॉसिप ग्रुप से दूर रखने का आसान तरीका है क्या, आइए जानें-
याद रखिए-
याद रखिए कि ज्यादातर गॉसिप करने वाले लोग वो होते हैं, जिन्हें दूसरों की अटेन्शन की बहुत चाहत होती है। उनकी एक खासियत ये भी होती है कि इन्हें दूसरों की सफलता अच्छी नहीं लगती है। ये लोग दूसरों के आगे बढ़ने से जलते बहुत हैं। लेकिन हां, इनमें वो लोग भी होते हैं, जो सिर्फ मनोरंजन के लिए ही ऐसा करते हैं। बाद में कई बार यही  गॉसिप बड़ी परेशानियों की वजह भी बनता है। इसलिए जरूरी है कि दूसरों को बदलने से पहले खुद इन चीजों से दूरी बनानी शुरू करें। 
जब कोई करे गॉसिप-
जब आपके सामने कोई गॉसिप करे तो सबसे पहले तो उसे ये दिखाइए कि आप उसमें बिलकुल रुचि नहीं रखती हैं। लेकिन सामने से ऐसा कह देना या भावभंगिमा से दिखा देना शायद परेशानी खड़ी कर दे। लेकिन अगर आप कोई सवाल जवाब न करें, या बात पलट दें, तो वो अपने आप ही आपके सामने ऐसी बातें नहीं करेगा। वो समझ जाएगा कि आपके साथ गॉसिप का खेल नहीं खेला जा सकता है। यहीं आर अगर आपको कोई बात पता चल भी जाए तो अपनी जिम्मेदारी महसूस करते हुए उस बात को किसी से न कहना ही अच्छा रहेगा। इस तरह आप किसी की जिंदगी को दूसरों के सामने कहने से बच जाएंगी। 
पॉजिटिविटी का तड़का-
आप जब भी गॉसिप करने वालों के बीच में खड़े होकर बातें करें तो उनके साथ मिलकर बुराई न करें बल्कि आप उस व्यक्ति के बारे पॉजिटिविटी बातें कहें। ये बातें, गॉसिप करने वालों को ऐसा करने से रोकेंगी। इस तरह से देखिएगा कैसे गॉसिप भी बंद होगी क्योंकि सामने वालों को अचानक से गॉसिप के लिए कुछ मिलेगा ही नहीं। गॉसिप ग्रुप अपने ट्रैक से हट जाएंगे। वो खुद अचंभित भी हो सकते हैं कि ये अभी तक उन्होंने ये साइड क्यों नहीं देखा। 
गॉसिप करने से वाले नो दोस्ती-
कई दफा ऐसा होता है कि गॉसिप करने वाला आपका अच्छा दोस्त भी होता है। लेकिन आपको ऐसे लोगों से दूरी बनानी उस वक्त तो दोस्ती मत ही रखिए, जब सामने वाला बुराई में मशगूल हो। धीरे-धीरे वो भी समझ जाएगा कि आपको इन चीजों में कोई रुचि नहीं है। बल्कि आप तो गॉसिप के फंडे को पसंद ही नहीं करती हैं। कह सकते हैं आप दोस्त को कंट्रोल नहीं कर सकती हैं लेकिन खुद को दोस्त के पास जाने से तो रोक सकती हैं। इसके लिए आप ये ध्यान रखिए कि दोस्त फ्री कब होता है? कब गॉसिप करने के लिए वो फ्री हो सकता है? बस इस वक्त पर उसके साथ समय बिलकुल न गुजारें। या वो आ जाए तो उसकी गॉसिप से जुड़ी बात काटकर दूसरी बात जरूर करने लगें। 
प्राइवेट रखें-
प्राइवेट जिंदगी अलग और प्रोफेशनल जिंदगी अलग। आपको इस फंडे को भूलना बिलकुल नहीं है। अपनी ऑफिस की बात परिवार में मौजूद गॉसिप करने वालों से दूर रखनी है और परिवार की बात ऑफिस में गॉसिप करने वालों से, ये याद रखिए। इस तरह से दोनों ही ग्रुप कम से कम आपके बारे में तो गॉसिप नहीं करेंगे। इस तरह की बातों से जितना खुद को दूर रखना जरूरी है, उतना ही खुद को इसका कारण बनने से भी रोकना होगा। लोग आपसे दूसरों की बात न करें तो दूसरों से भी आपकी बात ना करें, ये आपको ध्यान रखना होगा। 
फोकस रहना ही जरूरी-
गॉसिप ग्रुप्स से दूरी बनाने के लिए जरूरी है कि खुद को इस ड्रामे के आकर्षण से दूर रखा जाए। और इसके लिए जरूरी होगा कि आप अपने काम पर फोकस करें। दरअसल गॉसिप कहीं न कहीं मनोरंजन का साधन है ही। अब ऐसे में कभी न कभी इस ओर ध्यान आकर्षित हो ही सकता है। लेकिन आप अपने काम पर ध्यान देंगी और इस पर से फोकस नहीं हटाएंगी तो समझ लीजिए कि आपकी रुचि इस काम में विकसित ही नहीं होगी। और जब आपकी रुचि होगी ही नहीं तो आप इसमें हिस्सेदारी करने से खुद को जरूर रोक लेंगी। 
सुनना भी नहीं है-
अगर आपको लग रहा है कि आप बात आगे नहीं बढ़ा रहीं और खुद भी कोई इनपुट नहीं दे रहीं तो ऐसे गॉसिप से आपका कोई रिश्ता नहीं है और आप इसे बढ़ावा भी नहीं दे रही हैं तो आप गलत हैं। गॉसिप को बढ़ाने की शुरुआत इसको सुनने के साथ ही हो जाती है। आपको इसे सुनना भी नहीं है। कैसे भी करके गॉसिप वाली बातें बताते शख्स को सुनिए ही न। गॉसिप से दूरी बनाने की ओर ये आपका पहला कदम होगा। 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

सास करती हैं...

सास करती हैं आपकी बुराई....आप दिखाएं अपनी...

जब दूसरे उड़ा...

जब दूसरे उड़ाएं आपके लुक का मजाक...

कंजूस बनिए, ...

कंजूस बनिए, भविष्य सुरक्षित कीजिए

जब पति हों ख...

जब पति हों खर्चीले

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

समृद्धिदायक ...

समृद्धिदायक लक्ष्मी...

यू तो लक्ष्मी साधना के हजारों स्वरूपों की व्याख्या...

कैसे करें लक...

कैसे करें लक्ष्मी...

चौकी पर लक्ष्मी व गणेश की मूर्तियां इस प्रकार रखें...

संपादक की पसंद

कैसे दें घर ...

कैसे दें घर को फेस्टिव...

कैसे दें घर को फेस्टिव लुक

घर पर भी सबक...

घर पर भी सबकुछ और...

‘जब से शादी हुई है सिर्फ लाइफ मैनेज करने में ही सारी...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription