कार लोन लेने से पहले कर लें तैयारी

चयनिका निगम

10th November 2020

कार खरीदने का सपना लोन लेकर आसानी से पूरा हो जाता है लेकिन लोन लेने से पहले आपको कई बातों का ध्यान कर लेना चाहिए

कार लोन लेने से पहले कर लें तैयारी
कार लेने की तमन्ना, हर शख्स की होती है। हर कोई चाहता है कि इस जिंदगी में एक बार वो अपने पैसों की कार जरूर खरीद ले। भारतीय तो इसे जिंदगी की सफलता के तौर पर देखते हैं। अच्छी बात ये है कि अब इस सफलता का स्वाद चखना थोड़ा आसान हुआ है वो भी कार लोन के सहारे। ज्यादातर लोग अब कार लोन पर ही खरीदते हैं। ये लोग बिना एक बार में बड़ी रकम दिए ही कार के मालिक बनते हैं। जिनके पास एक मुश्त रकम देने के लिए नहीं होती, उनके लिए लोन एक तरह से बेस्ट फ्रेंड बन कर आते हैं। ये बेस्ट फ्रेंड कई आंखों के सपने पूरा भी कर रहा है। नई-नई नौकरी करने वाले से लेकर रिटायरमेंट की कगार पर खड़े लोग भी कर लोन से ही चारपहिया वाहन घर ला रहे हैं। लेकिन याद रहे कि ये फ्रेंड ही बना रहे इसके लिए जरूरी है कि कुछ प्लानिंग पहले ही कर ली जाए। कार लोन लेने के पहले ही कुछ बातों को साफ करने से कार लोन आप पर भारी नहीं पड़ेगा और खूबसूरत सपना, खूबसूरत ही रहेगा। कार लोन लेने से पहले क्या हैं ध्यान देने वाली बातें, चलिए जानते हैं-
बजट हो फाइनल-
कार खरीदने की शुरुआत ही इस बात से होती है कि कार खरीदनी कितने तक की है। लेकिन हम आपको यहां पर सिर्फ कार की कीमत पर सोच-विचार करने के लिए नहीं कह रहे हैं। बल्कि लोन लेकर वो कितने की पड़ेगी, महीने की किश्त कितने की बंधेंगी? आप उन्हें दे पाने में समर्थ हैं या नहीं। या फिर कार घर आने के बाद पेट्रोल का खर्चा उठाने में समर्थ हैं या नहीं। जैसी बातों पर विचार कर लीजिए। इस तरह से आप अपनी आर्थिक स्थिति पर पड़ने वाले दबाव एक आइडिया लगा पाएंगी। 
कार में क्या-क्या-
कार कैसी चाहिए, ये सबको पता होता है लेकिन पर्फेक्ट कार चाहिए तो आपको वो सारी बातें एक जगह लिखनी होंगी, जो एक कार में आप चाहती हैं। इसमें कलर होगा, तो गियर, हिटेड सीट और परफॉर्मेंस भी। सारी ख्वाहिशें एक जगह लिखने के बाद कार ब्रांड और मॉडल फाइनल करें। इससे आपकी खरीददारी में कोई कमी नहीं रहेगी और लोन चुकाना भी खराब नहीं लगेगा। 
रिसेल करना हो तो-
ये तो सब जानते हैं कि कार खरीद कर वापस बेचने पर पूरी रकम वापस नहीं मिलती है। इसलिए आका मकसद ऐसी कार खरीदना होना चाहिए, दोबारा बेचे जाने के समय जादा से ज्यादा मुनाफा दे। इस तरह से जो भी कार खरीदनी है, वो भविष्य में फाइनेंशियल दिक्कतों में मददगार भी होगी। हो सकता है कभी आप लोन चुकाने की स्थिति में न हों तब ये कार आपकी मदद करेगी। इसलिए आपको पता होना चाहिए कि कार को दोबारा बेचने पर खरीद का कितना प्रतिशत धन वापस मिल पाएगा। 
जिसके साथ मैच हो आपकी जेब-
आपको लोन लेते समय ईएमआई और ब्याज की रकम पर विशेष ध्यान देना होगा। ये वो रकम है, जो हर महीने आको देनी ही है। इसलिए ये ऐसी होनी चाहिए कि आपको हर महीने कटते पैसे भारी न लगें। इसके लिए आपको थोड़ी मेहनत और रिसर्च भी करनी होगी। देखिए कौन सी बैंक या संस्था आपके लिए कम से कम ब्याज पर ईएमआई बना रही है। ऐसा करने के लिए आपको कई सारे आंकड़ों को मैच करना होगा। काम भारी भी लग सकता है लेकिन इसका फायदा लोन और आर्थिक आधार, दोनों तरह से आपको ही होगा। इसके लिए ये भी किया जा सकता है कि कुछ जगह की इंकवाइरी किसी से बांट ली जाए। जैसे 10 में से 5 जगह के बारे में आंकड़ों का कलेक्शन आप करें, बाकी 5 के बारे में पति या घर का कोई और सदस्य। 
टेस्ट ड्राइव है जरूरी-
‘यही कार तो फाइनल कर दी है, अब क्या टेस्ट ड्राइव लेना' यही सोच कर अक्सर लोग कर की टेस्ट ड्राइव नहीं लेते हैं लेकिन ये गलत है। टेस्ट ड्राइव के बाद ही पता चलता है कि जिस कार को सपना पूरा करने के नजरिए से खरीद रहे हैं, वो असल में सही निर्णय है या नहीं। याद रखिए, कार के साथ खुद का अनुभव ही आपके निर्णय को सही या गलत साबित करेगा। 
दाम पर हो बात-
कार के दाम को लेकर आपको भी बहुत मेहनत करनी होगी। आपको उसी दाम पर राजी नहीं होना है, जो डीलर ने बता दिए हैं। बल्कि आपको हर तर्क के साथ असल कीमत पर ही कार लेनी है। इस वक्त आपको हर महीने की ईएमआई नहीं बल्कि कुल कीमत पर नजर रखनी होगी। कीमत जितनी कम होगी, ईएमआई भी उतने ही कम समय देनी होगी। आप पर हर महीने का बोझ कम होगा और आप रिलैक्स रह पाएंगी। इस वक्त आपको कई और चार्जेस पर भी ध्यान देना होगा, जैसे टैक्सेस, डीलरशिप चार्जेस, डिलीवरी कॉस्ट आदि। इनके जुड़ने से भी आपकी जेब पर बोझ बढ़ सकता है। इसलिए बहुत ध्यान से असल कीमत और दूसरे चार्जेस को भले ही लिख कर देखें लेकिन इसको बहुत समझदारी से हैंडल करें। 
इंश्योरेंस पर खर्चा-
कार लेंगी तो समय-समय पर इंश्योरेंस पर भी खर्चा होगा। इंश्योरेंस के खर्चे का अंदाजा भी लगा लें। क्योंकि जब इंश्योरेंस का पैसा देना होगा, ईएमआई तो उस महीने भी जाएगी ही। उस महीने आप कर की लोन किश्त में कोई भी रियायत नहीं ले पाएंगी। 
एक्स्टेंडेड वॉरंटी भी -
कई सारे लोग एक्स्टेंडेड वॉरंटी लेने से बचते हैं। दरअसल ज्यादातर बार कीमत के मुक़ाबले सुविधाएं ज्यादा नहीं मिलती हैं। इसलिए किसी भी तरह की वॉरंटी खरीदने से पहले उसमें मिलने वाली सुविधाओं पर ध्यान दें। इससे आपकी कार को भी फायदा होगा और आर्थिक फायदा भी आपको पूरा मिलेगा। 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

ऐसे जल्दी पू...

ऐसे जल्दी पूरा होगा होम लोन...जानिए आसान...

बच्चों का भव...

बच्चों का भविष्य रहेगा 'सिक्योर', ऐसे करें...

है नौकरी छोट...

है नौकरी छोटी पर निवेश है जरूरी

आपके करियर क...

आपके करियर को दे बढ़ावा, कैसे ढूंढे ऐसा पति...

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

समृद्धिदायक ...

समृद्धिदायक लक्ष्मी...

यू तो लक्ष्मी साधना के हजारों स्वरूपों की व्याख्या...

कैसे करें लक...

कैसे करें लक्ष्मी...

चौकी पर लक्ष्मी व गणेश की मूर्तियां इस प्रकार रखें...

संपादक की पसंद

कैसे दें घर ...

कैसे दें घर को फेस्टिव...

कैसे दें घर को फेस्टिव लुक

घर पर भी सबक...

घर पर भी सबकुछ और...

‘जब से शादी हुई है सिर्फ लाइफ मैनेज करने में ही सारी...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription