कुछ ऐसे एंटीओक्सिडेंट्स हैं जिन्हें हम रोज़ाना सेवन कर सकते हैं

मोनिका अग्रवाल

17th November 2020

एंटीऑक्सीडेंट है जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मज़बूत बनाने में विटामिन सी और ई से अधिक प्रभावशाली सिद्ध होता है.

कुछ ऐसे एंटीओक्सिडेंट्स हैं जिन्हें हम रोज़ाना सेवन कर सकते हैं

फ़्रीरेडिकल्स से होने वाले रोगों को दूर करने का काम एंटीऑक्सीडेंट्स करते हैं.ये  फलों और सब्ज़ियों  में पाए जाते हैं.इसके अलावा सप्पलिमेंट्स में भी ये पाए जाते हैं.बीटा-कैरोटीन,विटामिन E और विटामिन C से युक्त खाद्य पदार्थ एंटीऑक्सीडेंट्स के बेहतेरीन स्त्रोत हैं और बड़ी आसानी से इन्हें अपने आहार में शामिल किया जा सकता है.कुछ ऐसे एंटीऑक्सीडेंट्स हैं जिन्हें हम रोज़ाना सेवन कर सकते हैं.जैसे-

विटामिन A-1076 मिलिग्राम

विटामिन सी-107 मिलिग्राम

विटामिन ई-9 मिलिग्राम

एंटीएंटीऑक्सीडेंट्स से होने वाले फ़ायदे-

1-उम्र को बढ़ने से रोके-एंटीऑक्सीडेंट्स न सिर्फ़ उम्र को बढ़ने से रोकते हैं बल्कि,उम्र को बढ़ाने वाले कारकों को भी कम कर देते हैं.विटामिन सी,ई व कैरोटीनौयड इसमें बेहद कारगर होते हैं. इसके साथ ही एंटीऑक्सीडेंट्स लीवर को भी  स्वस्थ रखता है,और बाल को झड़ने से बचाता है.

2-सूजन को कम करे-नियमित आहार में एंटीऑक्सीडेंट्स की कमी के कारण सूजन व कई अन्य तरह के रोग हो सकते हैं. प्रकृति से मिलने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स को निवारक दवाओं के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

3-ह्रदय को रोग मुक्त रखता है-इसकेलिए विशेष तरह की प्रक्रिया को बनाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स को लेना होता है. इस विशेष तरह की प्रक्रिया के तहत ,एंटीऑक्सीडेंट्स ह्रदयरोग के लिए घातक फ़्री रेडिकल्स को ,सामान्य अवस्था में ले आता है. ये एंटीऑक्सीडेंट्स आहार से भी प्राप्त हो सकते हैं.अध्ययन के अनुसार बीटा कैरोटीन व विटामिन सी ह्रदय रोगों के लिए प्रभावी की तरह से काम करते हैं.एंटीऑक्सीडेंट्स ,ह्रदय रोगों के लिए ज़िम्मेदार कोलेस्ट्रल के स्तर को भी सकारात्मक तरीक़े से ठीक करते हैं.

4-आँखों को स्वस्थ रखें-अमेरिकन औप्टोमैक्ट्रिक एसोसिएशन के द्वारा जारी एक रिपोर्ट में इस बात का पता चला कि एंटीऑक्सीडेंट्स उम्र के साथ आँखों पर पड़ने वाले दुशप्रभावों के ख़तरे को 25% कम कर सकता है.एस्टेंक्सैंटीन एंटीऑक्सीडेंट्स आँखों के स्वास्थ्य के लिए बेहतर होता है.यह विटामिन सी के मुक़ाबले 65 % अधिक प्रभावशाली होता है.इसके अलावा ल्यूटीन व जियाकस्थीन भी आँखों के लिए अच्छे माने जाते हैं.यह मोतियाबिंद की समस्या से भी आपको दूर रखते हैं

5-डाईबिटीज को नियंत्रित रखने में कामगार-फ़्री रेडिकल्स के कारण डायबिटीज़ का ख़तरा बढ़ जाता है.अध्ययन के अनुसार एंटीऑक्सीडेंट्स इस स्थिति को क़ाबू में रखते हैं

6-दिमाग़ को स्वस्थ रखते हैं-फ़्री रेडिकल्स मस्तिष्क की तंत्रिका तंत्र को नुक़सान पहुँचते हैं एंटीऑक्सीडेंट्स में उपस्थित विटामिन सी और ई कोशिकाओं को क्षति पहुँचाने से रोकते हैं

7-रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है- विटामिन सी और ई,सेलेनियम,बीटा-कैरोटीन और जस्ता जैसे एंटीऑक्सीडेंट्स पोषक तत्वों से रोग प्रतिरोधक क्षमता में सुधार होता है.अल्फ़ा-लिपोइक ऐसिड एक अन्य तरह का महत्वपूर्ण एंटीऑक्सीडेंट्स है जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मज़बूत बनाने में विटामिन सी और ई से अधिक प्रभावशाली सिद्ध होता है.

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

एंटीऑक्सीडें...

एंटीऑक्सीडेंटसः शरीर के बाडीगार्ड

एंटी-एजिंग व...

एंटी-एजिंग विटामिन्स से थामें उम्र

स्वस्थ शरीर ...

स्वस्थ शरीर के लिए जरूरी बातें, रखें ख्याल...

फलों के इस्त...

फलों के इस्तेमाल से निखारें अपनी त्वचा

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

क्या है वो ख...

क्या है वो खास कारण...

क्या है वो खास कारण जिसकी वजह से ब्यूटी कांटेस्ट में...

ननद का हुआ ह...

ननद का हुआ है तलाक,...

आपसी मतभेद में तलाक हो जाना अब आम हो चुका है। कई बार...

संपादक की पसंद

दुर्लभ मगरगच...

दुर्लभ मगरगच्छ के...

रूस की लग्जरी गैजेटस कंपनी केवियर ने सबसे मंहगा हेडफोन...

शिशु की मालि...

शिशु की मालिश के...

बच्चे के जन्म के साथ ही अधिकांश माँए हर रोज शिशु को...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription