आईटीसी निमवाश वेमिनार- शैफ कुनाल कपूर

Jyoti Sohi

13th December 2020

टीवी शो मास्टरशेफ इंडिया में तीनों सीजन के होस्ट और जज रहे कुनाल कपूर को बचपन से ही कुकिंग का शौक है। शेफ कुनाल कपूर कुकिंग को एक आर्ट मानते हैं। उनकी एक कुकबुक ए शेफ इन एवरी होम प्रकाशित हो चुकी है और उन्हें चार बार बेस्ट रेस्तरां अवॉर्ड भी मिल चुका है। आईटीसी निमवाश के वेमिनार में उनसे बातचीत के कुछ अंश

आईटीसी निमवाश वेमिनार- शैफ कुनाल कपूर

खाना बनाने के दौरान आपका फोकस किस बात पर होता है। 

बतौर शैफ मेरी कोशिश हमेशा यही रहती है कि खाना स्वादिष्ट बने और ऐसा बने] जो सबको पसंद आएं। मगर सबसे ज़रूरी बात ये है कि खाना खूबसूरत दिखने और स्वादिष्ट बनने के साथ पौष्टिक भी होना चाहिए। इसीलिए मैं अपनी हर रेसिपी को बनाने से पहले सभी सब्जियों और फलों को निमवॉश से जरूर धोता हूं।   

 

सब्जियों और फलों में से पेस्टिीसाईडस और कीटाणुओं को निकालने के लिए आप क्या सुझााव देंगे

पेस्टिीसाईडस और कीटाणुओं को बाहर निकालने के लिए मैं सब्जियों और फलों को निमवाश के पानी में कुछ देर तक भिगो कर रख देता हूं। दरअसल] ये 100 पर्सेनट नेचुरल है इसीलिए मैं इसपर भरोसा करता हूं।

 

जो सब्जी और फलों को हम कच्चे सलाद में काटते हैं, उसके लिए कोई खास टिप्स

इन कच्चे फलों और सब्जियों को साफ करना बेहद महत्वपूर्ण है। उन्हें धोने और साफ करने के लिए मैं आईटीसी के निमवाश को इस्तेमाल करने का सुझााव दूंगा। ताकि आप जो भी सब्जी सलाद में काटें वो सिर्फ टेस्टी ही नहीं बल्कि पूरी तरह से साफ और सुरक्षित भी हो। निमवाश फलों और सब्जियों पर लगे 99-9 पर्सेनट कीटाणुओं को धो डालता हैं।  

 

खाने का अरोमा बढ़ाने के लिए आप हमारी गृहलक्ष्मियों को क्या टिप्स देंगे।

खाना पकाने के दो तरीके होते है फास्ट फूड और स्लो फूड। अगर आप फास्ट फूड यानि जल्दबाज़ी में खाना पकाएंगी] ऐसे में खाना तो जल्दी बन जाएगा। मगर कई बार वो स्वादए अरोमा और लज्जत अधूरी सी रह जाती है। उसकी तुलना में अगर आप पूरी विधि से और बिना वक्त की चिंता किए हुए आराम में खाना बनाएंगे और गर्मागर्म परोसेंगे, तो उसकी खुशबू से पूरी रसोई महकती है। तो ताज़ा पकाकर ताज़ा खाने में आपको अरोमा जरूर मिलेगा।

 

खाने को पौष्टिक बनाने के साथ साथ उसमें स्वाद का तड़का कैसे लगाएं। 

सभी गृहलक्ष्मियां बखूबी जानती है कि खाने को स्वादिष्ट बनाने के लिए किन चीजों का इस्तेमाल किया जाता है। मगर कई बार हमें लगता है कि खाने में पूरा टेस्ट नहीं आ रहा है, तो ऐसे में कान्फिडेंस लूज़ मत कीजिए। आप रेसिपी को थोड़ा सा बदल सकती हैं और अपने ज़ायके के हिसाब से इसमें इंग्रीडिएनट इस्तेमाल कर सकती हैं। ताकि पौष्टिकता के साथ साथ स्वाद भी बरकरार रहे। 

 

कोई ऐसी खास रेसिपी जिसका ज़ायका आज तक आपकी जुबान पर बरकरार हो। 

मुझे आज भी याद है कि शाम को खेलते वक्त पूरा टैरेस समोसों की लाजवाब खुशबू से महका करता था। दरअसल] घर के पास एक नहीं दो समोसे की दुकानें हुआ करती थी। एक दुकान से समोसे लेते थे और दूसरी दुकान से चटनी। तो उन लाजवाब समोसों का ज़ायका आज तक जुबान पर बरकरार है।  

 

कई बार हम खाना बनाते हैं और वो टेस्टलैस सा लगता हैं, तो ऐसे खाने को खाने योग्य बनाने के लिए आप गृहलक्ष्मियों को क्या टिप्स देंगे। 

सबसे पहली बात खाने को वेस्ट नहीं करना चाहिए। अगर खाना स्वादिष्ट नहीं बना यां जल गया है] तो पहले कोशिश कीजिए की वो खाना ठीक हो जाए। अगर ऐसा नहीं हो पा रहा है, तो आप उसे फेंकने की जगह किसी भी जानवर को दे सकते हैं। कुनाल ने बताया कि वो दिनभर के फल और सब्जियों के सभी छिलके एक पतीले में इकट्ठा करके जानवरों को हर सुबह खिलाते हैं। 

 

घर में चाकलेट कैसे बना सकते हैं। 

फेस्टिव सीज़न में चाकलेट को एक बेहतरीन गिफ्ट के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। आप कोको पाउडर] आईसिंग शुगर और नारियल के तेल को मिस्क करके बना सकते है। इसके अलावा बाज़ार से चाकलेट लाकर उसे मेल्ट करें और फिर उसमें भुने हुए मेवे मिलाकर उसे ठंडा होने के लिए रख दें और फिर सर्व करें।

 

खाना इम्यून सिस्टम को कितना इम्प्रूव करता है।

खाना हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में सबसे विशेष भूमिका निभाता है। जब आप सही समय] सही मात्रा और सही ढ़ग से पका खाना खाते हैं] तो आपकी इम्यूनिटी खुद ब खुद इम्प्रूव हो जाती है। दूसरी तरफ, टेबल वेजीटेबल जैसे खीरा, मूली, टमाटर, सूखी हल्दी और ककड़ी आदि को ढंग से धोकर ही खाएं और पकाएं अन्यथा वो शरीर को नुकसान पहुंचा सकते हैं और इम्यून सिस्टम ठीक होने की बजाय बिगड़ भी सकता है। 

 

हैल्दी लाईफस्टाईल का क्या फंडा है

मेरी थयोरी है कि अगर आप कोई भी चीज़ ज्यादा और रोज़ाना नहीं खाते हैं, तो वो आपको नुकसान नहीं पहुंचाएगी। कोई भी खाना अनहेल्दी नही होता है हमारा लाइफस्टाईल गलत और सही होता है। हेल्दी लाइफ जीने के लिए आपको अपने वज़न और भूख पर लगााम लगानी चाहिए। आपकों बर्न करीए और फिर अर्न करिए के फंडे को अपनाना चाहिए।

 

हमारी गृहलक्ष्मियां मेडिकल प्लांटस को डेली खाने में कैसे शामिल कर सकती हैं। 

स्वीट बेसिल के पत्ते आप दाल में डाल सकते हैं और चाय में उबालकर भी पी सकते हैं। इसके अलावा कड़ी पत्ते को तेल में छौंक लगाकर दही में डाल सकते हैं। इतना ही नहीं] कड़ी पत्ते को पीसकार तेल में मिलाकर बालों में लगाा सकते हैं। 

 

आप मी टाईम में क्या करना पसंद करते हैं। 

मुझे शहर से दूर एकांत जगहों पर लॉन्ग ड्राइव पर निकलना भी पसंद है। किताबों से बहुत सुकून मिलता है। स्वाद से जुडी हर चीज् पसंद है मुझे। इसके लिए यात्राएं करता हूंए पढता हूं। बाइकिंग भी मेरे प्रिय शौक हैं।

 

अच्छी कुकिंग का आपका फंडा क्या है

किचन में एक स्त्री दिन का सबसे महत्वपूर्ण समय बिताती है। किचन को घर का बेस्ट कमरा बनाएं फिर देखें कमाल! आपको यहां समय बिताना अच्छा लगने लगेगा। कुकिंग का मेरा फंडा बहुत सिंपल है ताज़ा खाएं ।

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

अपने भोजन मे...

अपने भोजन में बढ़ाएं पोषक तत्वों की मात्रा...

बरसात में हे...

बरसात में हेल्थ एंड सेफ्टी टिप्स

मोटापे में  ...

मोटापे में क्या, कैसे और कितना खाएं?

फिटनेस के लि...

फिटनेस के लिए टॉप-13 खानपान मंत्रा

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

घर पर वाइट ह...

घर पर वाइट हैड्स...

वाइट हैड्स से छुटकारा पाने के लिए 7 टिप्स

बच्चे पर मात...

बच्चे पर माता-पिता...

आपकी यह कुछ आदतें बच्चों में भी आ सकती हैं

संपादक की पसंद

तोहफा - गृहल...

तोहफा - गृहलक्ष्मी...

'डार्लिंग, शुरुआत तुम करो, पता तो चले कि तुमने मुझसे...

समझौता - गृह...

समझौता - गृहलक्ष्मी...

लेकिन मौत के सिकंजे में उसका एकलौता बेटा आ गया था और...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription