पकोड़े के साथ खाई जाने वाली खास चटनियां

नीलम एच. तोलवानी

22nd December 2020

मानसून के सुहाने मौसम में चटपटे पकौड़े और तीखी चटनी का स्वाद मौसम को खुशनुमा बना देता है, ऐसे में विभिन्न प्रकार के पकौड़े और स्वादिष्ट चटनी से आप मौसम का आनन्द दोगुना कर सकते हैं, तो आइए शुरू करते हैं कुछ नया।

पकोड़े के साथ खाई जाने वाली खास चटनियां

ब्रेड  के भरवां पकौड़े और टमाटर की चटनी सामग्री:

6 स्लाइस ब्रेड, उबला आलू एक कप, जीरा एक चम्मच, गर्म मसाला एक चम्मच, अमचूर एक चम्मच, धनिया पाउडर एक चम्मच, कटी हरी मिर्च एक चम्मच, नमक स्वादानुसार, बेसन दो कप, तलने के लिए तेल।विधि: पेन में एक चम्मच तेल गर्म करें। जीरा, अमचूर, हरी मिर्च, धनिया पाउडर डालकर तुरंत आंच बंद करें और उबले आलू में मिक्स कर दें।

तीन ब्रेड स्लाइस पर आलू का मिश्रण रखकर दूसरी ब्रेड से कवर करें। भरवां ब्रेड के लम्बाई में पतले-पतले स्लाइस काटें और बेसन के घोल में डिप करके तल लें।

चटनी बनाने के लिए दो टमाटर काटें, बारीक कटी धनियां पत्ती और दो मिर्च डालकर पीस लें।

लौकी के पकौड़े और पुदीने की चटनी

सामग्री: कद्दूकस की हुई लौकी एक कप, खसखस एक चम्मच, कटी हुई धनिया पत्ती दो चम्मच, कटी हुई तीन हरी मिर्च, आधा कप स्लाइस किया प्याज़, एक कप बेसन, आधा कप सूजी, नमक स्वादानुसार, तलने के लिए तेल।

चटनी के लिए सामग्री: धुली कटी हुई धनिया पत्ती एक कप, कटा पुदीना एक कप, तीन हरी मिर्च, एक चम्मच अमचूर पाउडर, एक टमाटर, नमक स्वादानुसार।

विधि: पकौड़े की सारी सामग्री मिक्स करें, पानी बिलकुल न डालें क्योंकि लौकी में पानी होता है। मध्यम आकार के पकौड़े मोयन डालकर तलें और निकालकर दबाकर दोबारा तलें, चटनी की सारी सामग्री मिलाकर पीस लें।

कैरी के पकौड़े और प्याज़ की चटनी

सामग्री: बड़े आकार की कैरी, बेसन आधा कप,

गेहूं का आटा आधा कप, लाल मिर्च पाउडर एक टी स्पून, नमक स्वादानुसार, तलने के लिए तेल, चटनी के लिए सामग्री, एक बड़ा प्याज़, दो चम्मच महीन कतरी धनिया पत्ती, महीन कतरी दो हरी मिर्च।

विधि: कैरी छील कर लम्बे आकार में पतली-पतली स्लाइस काट लें और नमक डालकर दस मिनट रख दें। बेसन और गेहूं के आटे को गुनगुने पानी से पतला घोल लें। नमक, मिर्च पाउडर डालें। कैरी की स्लाइस डिप करके मध्यम आंच पर तलेें।

चटनी बनाने के लिए प्याज़ कद्दूकस करें और सारी सामग्री मिक्स करके सर्व करें।

कमल ककड़ी के भरवां पकौड़े

सामग्री: छ: इंच के कमल ककड़ी के दो पीस, एक टी स्पून अमचूर, एक टीस्पून गर्म मसाला, धनिया पाउडर एक टी स्पून, एक टीस्पून बारीक कटी हरी मिर्च, दो चम्मच हरी धनिया पत्ती, एक चम्मच नींबू का रस, नमक स्वादानुसार, तलने के लिए तेल।

विधि: कमल ककड़ी छील कर एक इंच के टुकड़े में काट लें और गलने तक उबाल लें। लम्बाई में चीरा लगाएं। बाकी सारी सामग्री मिक्स करें और कमल ककड़ी के अंदर भरकर उसे हथेलियों की सहायता से दबा लें। बेसन के घोल में डिप करके तल लें। इन पकौड़ों के साथ चटनी की आवश्यकता नहीं होती।

मिक्स वेज पकौड़े और दही की चटनी 

सामग्री: महीन कटा प्याज़ दो चम्मच, महीन कटा शिमला मिर्च दो चम्मच, महीन कटा टमाटर दो चम्मच, महीन कटा आलू दो चम्मच, महीन कटी हरी मिर्च एक चम्मच, महीन कटी धनिया पत्ती दो चम्मच, एक कप बेसन, आधा कप सूजी, एक चम्मच खसखस, एक चम्मच खड़ी धनिया, नमक स्वादानुसार, तलने के लिए तेल।

चटनी के लिए सामग्री: आधा कप दही, आधा कप भुने चने, दो हरी मिर्च, आधा कप धनिया पत्ती कटी हुई, नमक स्वदानुसार।

विधि: पकौड़ों की सारी सामग्री मिक्स करके पानी से फेंट लें और मोयन डालकर गर्म तेल में तल लें। तेल से पकौड़े निकालकर हथेली से दबाकर दोबारा तल लें। चटनी की सारी सामग्री मिक्स करके पीस लें।

बैगन के पकौड़े और इमली की चटनी

सामग्री: एक मध्यम आकार का बैगन, बेसन एक कप, लाल मिर्च पाउडर एक चम्मच, नमक स्वादानुसार, चटनी के लिए सामग्री, आधा कप इमली पल्प, आधा कप गुड़, एक चुटकी नमक, महीन कतरा प्याज़।

विधि: बैगन  को लम्बाई में काटकर दो हिस्से करें। लंबे-लंबे पतले स्लाइस में काट लें और नमक लगाकर पांच मिनट के लिए रख दें। बेसन का घोल तैयार करें और मोयन डाल दें। बैगन के स्लाइस में लाल मिर्च पाउडर डालकर अच्छी तरह से मिला लें, बेसन के घोल में डिप करके तल लें।

चटनी बनाने के लिए इमली पल्प, गुड़, नमक डालकर उबालें। बैगन के पकौड़ों पर चटनी डालें और उसके ऊपर कतरे प्याज़ डालकर सर्व करें, चाहें तो आप सेव डाल कर सजा दें।

यह भी पढ़ें -स्वीट ड्राईफ्रूटी पास्ता

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

ईद के खास व्...

ईद के खास व्यंजन

हैल्दी ओट्स ...

हैल्दी ओट्स से बनाएं टेस्टी व्यंजन

मुंह में पान...

मुंह में पानी लाने वाले स्ट्रीट स्नैक्स

लीजिए गुजरात...

लीजिए गुजराती व्यंजनों का जायका

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

रम जाइए 'कच्...

रम जाइए 'कच्छ के...

गुजरात का कच्छ इन दिनों फिर चर्चा में है और यह चर्चा...

घट-कुम्भ से ...

घट-कुम्भ से कलश...

वैसे तो 'कुम्भ पर्व' का समूचा रूपक ज्योतिष शास्त्र...

संपादक की पसंद

मां सरस्वती ...

मां सरस्वती के प्रसिद्ध...

ज्ञान की देवी के रूप में प्राय: हर भारतीय मां सरस्वती...

लोकगीतों में...

लोकगीतों में बसंत...

लोकगीतों में बसंत का अत्यधिक माहात्म्य है। एक तो बसंत...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription