यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन यानि की यूटीआई

मोनिका अग्रवाल

9th January 2021

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन यानि की यूटीआई ऐसे कीटाणुओं से होने वाला संक्रमण है जो काफी छोटे होते हैं। ज्यादातर यूटीआई बैक्टीरिया के कारण होते हैं। आमतौर पर यूटीआई इंसानों में होने वाला सबसे आम संक्रमण है।

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन यानि की  यूटीआई

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन यानि की यूटीआई यूरिन साइड पर कहीं भी हो सकता है। जिससे गुर्दे, युट्रेस, ब्लेंडर में संक्रमण फैलता है। ज्यादातर यूटीआई की समस्या मूत्राशय में होता है जिसमें गुर्दे शामिल होते हैं। जो कभी कभी बेहद गम्भीर भी हो सकते हैं। यूटीआई की समस्या तब होती है जब मूत्राशय और इसकी नली बैक्टीरिया की वजह से संक्रमित होने लगती है। बता दें इस तरह के संक्रमण का मुख्य कारण ई-कोलाई बैक्टिरीया होता है। ज्यादातर ये समस्या तब होती है जब आप  सेक्स करते हैं, लम्बे समय तक पेशाब को रोके रखते हैं, अगर गर्भवती हैं या पीरियड्स बंद होने वाले हो या आप डायबटीज की समस्या से जूझ रहे हों।  देखा जाए तो ज्यादातर  महिलाओं को उनके जीवन में कम से कम एक बार यूटीआई से जुड़ा संक्रमण जरुर होता है। आज इस लेख के जरिये हम आपको यूटीआई से जुडी कई जानकारियां देंगे जो आपके काम आएंगी।

1. सबसे पहले जानें लक्षण- आप सतर्कता तभी बरत सकते हैं जब आपको यूटीआई से जुड़े लक्षणों के बारे में जानकारी होगी। अगर एक बार आप इसके लक्षणों को जान लेंगे तो ये समस्या गम्भीर होने से पहले कंट्रोल कर पाएंगे। आपको ये भी बता दें यूटीआई के लक्षण इस बात पर भी निर्भर करते हैं कि कौन सा हिस्सा इससे संक्रमित हो रहा है।

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन

• पेशाब करते वक्त जलन महसूस करना।

• बार-बार पेशाब लगना।

• पेशाब से खून आना।

• पेशाब का रंग गहरा होना।

• पेशाब से ज्यादा बदबू आना।

• महिलाओं को पैल्विक दर्द होना।

• पुरुषों के मलाशय में दर्द होना।

2. क्या है उपचार?- यूटीआई का उपचार इस बात पर निर्भर करता है कि किस तरह के संक्रमण से ऐसी परेशानी बढ़ रही है। ज्यादातर मामलों में यूटीआई का कारण बैक्टीरिया ही होता है। आप इसका इलाज एंटीबायोटिक दवाओं के साथ कर सकते हैं। इसके लिए सबसे अच्छा विकल्प एंटीवायरल नामक दवाए हैं। इस दवाओं के साथ फंगल यूटीआई का इलाज भी किया जाता है। शुरुआती लक्षणों के मामले में रोगी को पानी की खपत की मात्रा बढ़ानी चाहिए और आगे की जांच और उपचार के लिए डॉक्टर से मिलना चाहिए। रोगी की स्थिति के अनुसार मौखिक एंटीबायोटिक दवाओं और इंजेक्शन के साथ उपचार दिया जाता है जो डॉक्टर द्वारा तय किया जा सकता है।

3. कैसे करें घरेलू इलाज- वैसे देखा जाए यूटीआई का कोई भी ख़ास घरेलू उपचार नहीं है। लेकिन आप सावधानी बरतकर इसका इलाज कर भी कर सकते हैं। जो आपकी दवा से ज्यादा बेहतर काम आएगा। इसके लिए आप ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं जिससे जल्दी से जल्दी संक्रमन को कम करने में मदद मिल सके। आप साफ़ सफाई का ख्याल रखें जिससे संक्रमण ज्यादा ना फ़ैल सके।

4. क्या हो सकती है गम्भीरता?- यूटीआई एक बड़ी और गम्भीर बिमारी का रूप ले सकती है। कई ऐसी वजह भी हैं जो इस तरह की संक्रमण को और भी ज्यादा बढ़ा सकता है। जिससे जान तक जा सकती है।

• वयस्कों में यूटीआई होने की संभावना सबसे ज्यादा होती है।

• यूटीआई से आपको पथरी की समस्या झेलनी पड़ सकती है।

• समय पर इलाज ना होने पर इससे कैंसर तक हो सकता है।

• डायबटीज का स्तर खराब हो सकता है।

• पेशाब करने में बड़ी समस्या हो सकती है।

5. कैसे हो यूटीआई की रोकथाम- समय पर यूटीआई की रोकथाम सबसे ज्यादा जरूरी है। इसके लिए आपको कुछ खास कदम उठाने चाहिए।

• हर रोज कम से कम आठ से 10 गिलास पानी पिएं।

• लंबे समय तक पेशाब को ना रोकें।

• अगर आपको पेशाब करने में दिक्कत आ रही है तो डॉक्टर से सम्पर्क करें।

• पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को सबसे ज्यादा यूटीआई की समस्या होती है।

• एंटीबायोटिक दवाओं का इस्तेमाल करें।

• साफ़ जगह पर ही पेशाब करें।

• शराब और कैफीन से खुद को दूर रखें।

• अपने गुप्तांगों को साफ़ रखें।

• सेक्स करने के बाद सफाई का ख्याल रखें।

• पीरियड्स के दौरान सिर्फ पैड्स का इस्तेमाल करें।

• हमेशा साफ़ और काटन के अंडरवियर पहनें।

अगर आपको बार-बार यूटीआई यानि की यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन समस्या हो रही है तो ज्यादा दवाओं का उपयोग करना भी घटक हो सकता है। अगर आप भी हमारे बताये हुए लक्षणों को महसूस करते हैं तो किसी अच्छे डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। साथ ही बताई ही विशेष सतर्कता भी बरत सकते हैं।

डॉ मनीषा तोमर, सलाहकार प्रसूति एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ, मदरहुड अस्पताल, नोएडा

यह भी पढ़ें-

जानें क्या है सर्वाइकल कैंसर, प्रमुख कारण, लक्षण और बचाव

इंटीमेंट हाइजीन प्रोडक्ट बन सकता है यूटीआई का कारण 

हेल्‍दी सेक्‍स लाइफ के लिए  रखें इन जरूरी बातों का  ध्‍यान

 

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

महिलाओं को ब...

महिलाओं को बार-बार पेशाब आने का कारण

शरीर में दिख...

शरीर में दिखें बदलाव तो हो जाएं सतर्क

सेक्स के तुर...

सेक्स के तुरंत बाद महिलाओं को इन्फेक्शन से...

क्या आप इग्न...

क्या आप इग्नोर करती हैं Private Parts की...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

बरसाती संक्र...

बरसाती संक्रमण और...

बारिश में भीगना जहां अच्छा लगता है वहीं इस मौसम में...

खाओ लाल और ह...

खाओ लाल और हो जाओ...

 इसी तरह 'जिनसेंग' जिसके मूल का आकार शिश्न जैसा होता...

संपादक की पसंद

ककड़ी एक गुण ...

ककड़ी एक गुण अनेक...

हममें से ज्यादातर लोग गर्मियों में अक्सर सलाद या सब्जी...

विटामिनों की...

विटामिनों की आवश्यकता...

स्वस्थ शरीर के लिए विटामिन बहुत आवश्यक होता है। इनकी...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription