गृहलक्ष्मी के साथ खूबसूरत अदाकारा पौलोमी दास की बातचीत

मोनिका अग्रवाल

4th January 2021

टेलीविजन की खूबसूरत अदाकारा पौलोमी दास अब अपने नये अंदाज़ से फैंस के दिलों को घायल करने वाली हैं। पौलोमी दास जल्द ही पौरुषपुर वेब सीरीज में नजर आएंगी

गृहलक्ष्मी के साथ खूबसूरत अदाकारा पौलोमी दास की बातचीत

खूबसूरत अदाकारा पौलोमी दास

पौलोमी दास जितनी खूबसूरत हैं, उतनी ही ज्यादा वो अपनी अदाकारी से लोगों को दीवाना बनाने में माहिर हैं। बंगाली बाला पौलोमी दास को आपने टीवी सीरियल कार्तिक पूर्णिमा में तो जरुर देखा होगा। सीरियल में पौलोमी दास काफी सिंपल से लुक में नजर आ चुकी हैं। वहीं अब सांवली सलोनी सी पौलोमी दास अपने इस लुक से बिलकुल अलग हॉट एंड बोल्ड अवतार में नजर आने वाली हैं। ये हॉटनेस उनके फैंस को अपना कायल कर देगी। क्योंकि पौलोमी दास अब एक वेब सीरीज में नजर आने वाली हैं। इस वेबसीरिज का नाम है पौरुषपुर। इस वेब सीरीजके बारे में अभिनेत्री पौलोमी दास ने क्या कुछ कहा, वो कितनी उत्साहित हैं? सब कुछ जानिए सिर्फ उन्हीं की जुबानी।

उनके शब्दों में गृहलक्ष्मी

अपने एक एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में उन्होंने गृहलक्ष्मी टीम को बड़े ही खास अंदाज में गृहलक्ष्मी का मतलब समझाया। उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा ,"लक्ष्मी माने धन और यदि आप लड़की को बाहर जाकर काम करने को कहते हैं तो, लड़की कमा कर घर में धन लेकर आएगी। इसलिए उसका मतलब हुआ गृहलक्ष्मी। 

वर्कप्लेस पर कैसी गृहलक्ष्मी

वह अपने आपको किसी वंडरवुमन से कम नहीं समझती। उनके अनुसार वह हर काम कर सकती हैं, चाहे वह खाना बनाना हो या घर साफ करना या वर्कप्लेस पर काम करना। जैसा उन्हें काम दिया जाए बखूबी कर सकती हैं। 

वर्क लाइफ बैलेंस या टाइम मैनेजमेंट फंडा

वह खूब ही अच्छे तरीके से वर्क लाइफ बैलेंस और टाइम मैनेजमेंट करना जानती हैं। जो बहुत जरूरी है।

एक्चुअल जीवन में उनके रोल

उनके अनुसार वह एक बहुत अच्छी बेटी, बहुत अच्छी बहन, अच्छी केयरटेकर, एक अच्छी मां,एक अच्छी दोस्त सब कुछ हैं। 

अपनी भूमिका के लिए उनका फंडा

उन्होंने जो भी भूमिका बतायी वह उसे पूरी ईमानदारी के साथ निभाती हैं। चाहे वह उनके माता-पिता के प्रति हो चाहे उनके डॉग के प्रति या फिर किसी और भी भूमिका में हो। अपने किसी भी बिहेवियर से दूसरों को दुख ना पहुंचे इस बात का वह हमेशा ध्यान रखती हैं। 

मी टाइम कैसे बिताती हैं

जब उनसे पूछा गया कि वे अपना मी टाइम कैसे बिताती हैं? तो उनका जवाब था उनको किताबें पढ़ने का बहुत शौक है। लाइब्रेरी बहुत पसंद है और वह अलग अलग ऑथर्स को पढ़ना चाहती हैं। उनका फेवरेट ऑथर है जेके रॉलिंग। उनको अलग-अलग तरह की जानकारियां एकत्र करना पसंद है। उन्हें कुकिंग करना पसंद है।

उनका फैशन फंडा 

उनका मानना है कि खाना अपने मन से खाओ लेकिन कपड़े जगह के हिसाब से पहनो।फिर वह हमेशा उस तरह के कपड़े पहनती हैं जो उस माहौल और जगह के मुताबिक हो।

उनका किचन फंडा 

खाने को लेकर उनका फंडा है कि वे अपने आप को गृहलक्ष्मी चटोरी के समकक्ष रखती हैं। चटोरी का मतलब यह नहीं है कि उन्हें सफाई ना पसंद है। उन्हें अपनी किचन बिल्कुल नीट एंड क्लीन चाहिए।

उनका ब्यूटी फंडा

उनका ब्यूटी फंडा है हेल्दी स्लिप, फुली ब्रीथ, ड्रिंक लॉट्स ऑफ़ वाटर।

चुनौतीपूर्ण भूमिका

टीवी एक्ट्रेस पौलोमी दास ने पौरुषपुर के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि उनके लिए ये वेब सीरीज काफी रोमांचित है। उन्होंने आगे कहा कि इस वेब सीरीज के चलते उन्हें कुछ अलग करने का मौका मिला है। पौलोमी दास ने पौरुषपुर के बारे में बताया कि ये वेब सीरीज एक ओरिजन पीरियड ड्रामा वेब सीरीज है। जिसमें अनु कपूर, मिलिंद सोमन, शहिर शेख, अनंत जोशी और पौलोमी दास नजर आएंगे। शिल्पा ने बताया कि ये लापता रानियों पर आधारित कहानी है। जिमें राजा भद्रप्रताप सिंह एक ऐसा राजा है, जो सेक्स की चाहत में कई महिलाओं से शादी करता है। पौलोमी दास ने बताया की वो इसमें कला की भूमिका में नजर आएंगी।

भूमिका का रंगत से कनेक्शन

 सांवली सलोनी सी अदाकारा पौलोमी दास ने अपनी रंगत का कनेक्शन अपनी भूमिका से बताया। उन्होंने कहा कि उनकी इस सांवली रंगत के चलते उन्हें ये भूमिका दी गयी है। उनका कहना है कि उन्हें अपनी सांवली त्वचा पर गर्व है, और इसी के चलते वो आज जिस उंचाइयों तक पहुंची हैं, उससे पूरा देश प्यार करता है। उनका कहना है कि वो समाज को जवाब देना चाहती हैं की रंगत मायने नहीं रखती। मायने रखती है तो सिर्फ आपका आत्मविश्वास और कुछ कर गुजरने की चाहत। वैसे पौलोमी दास ने इसके अलावा अपने फैंस को एक गुड न्यूज़ ये भी दी है कि वो अब रीलोडेड उत्पाद "ग्लो एंड प्यारी" का चेहरा बन गई हैं। 

सांवलेपन को ही दोष क्यों?

अपनी उपलब्धियों और सफलता से समाज का नजरिया बदलने की कोशिश में लगीं पौलोमी दास का कहना है कि, हम हमेशा से ही ऐसे देश में रहे हैं जहां की जनता रूढीवादी हैं। जहां पुराने समय से ही भेदभाव चला आ रहा है। ऐसे में अब सोच बदलने की जरूरत ही नहीं, जरूरत नजरिया बदलने की भी है। क्योंकि रंगत मायने नहीं रखती। पौलोमी दास ने कहा कि उनके करियर में भी उनकी रंगत को लेकर कई उतार चढाव आये। जिसके बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और धीरज बनाए रखा। उन्होंने कहा कि जब भी आपको कभी आपकी रंगत को लेकर रिजेक्शन मिले तो हार मत मानियेगा। आपको बड़ा मौका जरुर मिलेगा।

जब मिला था पहला शो

अदाकारा पौलोमी दास ने बताया कि उन्हें अपनी रंगत के साथ सफलता पाने में काफी संघर्ष करना पड़ा। एक समय ऐसा भी था जब उन्हें रिजेक्शन की आदत हो गयी। और इसी के साथ उन्होंने खुद को तैयार भी किया। और उन्हें ब्रेक मिला। पौलोमी दास ने कहा की उन्हें उनकी रंगत की वजह से ही पहला शो भी करने को मिला। 

पौलोमी दासकी सफलता

पौलोमी दास ने अपने करियर को लेकर बताया कि उन्होंने टेलीविजन सीरीज  में कई शो किये हैं। जिसमें दिल ही तो है, सुहानी सी एक लड़की शामिल है। पौलोमी दास ने कहा कि उन्होंने लीड एक्ट्रेस के तौर पर अपने करियर की शुरुआत की। जिसमें उनको काफी सफलता भी मिली। जिसके बाद अब वो एकता कपूर की वेब सीरीज़ पौरुषपुर में भी दिखाई देने वाली हैं। जिसमें वो कला का किरदार निभा रही हैं। उन्हेंने बताया कि एएलटी बालाजी और ZEE5 प्लेटफ़ॉर्म पर रिलीज़ हो रही है। जिससे उन्हें अपने फैंस से काफी उम्मीदें हैं।

टीवी एक्ट्रेस पौलोमी दास आज पूरे देश के दिलों में धडकती हैं। पौलोमी दास ने ना सिर्फ अपनी रंगत की वजह से नई ऊंचाइयां छुई हैं, बल्कि लोगों के रूप रंग में तुलना करने वालों को भी करारा जवाब दिया है। पौलोमी दास ना जाने कितनी महिलाओं के लिए प्रेरणा हैं जो हर रोज अपने सांवले रंग को लेकर रिजेक्शन झेलती हैं। पौलोमी दास जैसी आप भी बनें और उनकी तरह आप भी हिम्मत न हारें। यही पौलोमी दास का फैंस के लिए सन्देश है।

यह भी पढ़ें-

आइडियल हैं जो सिंगल फादर

रिद्धिमा कपूर सहानी: फादर्स डे

हर माता पिता के लिए एक प्रेरणा है-नीना गुप्ता का यह विडियो

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

टेलीविजन अभि...

टेलीविजन अभिनेत्री शिल्पा शिंदे की बातचीत...

हर किरदार मे...

हर किरदार में फिट हैं अनुप्रिया गोयंका

हर माता पिता...

हर माता पिता के लिए एक प्रेरणा है-नीना गुप्ता...

जिन्होंने बद...

जिन्होंने बदल दिया शहादत के मायने...

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

रम जाइए 'कच्...

रम जाइए 'कच्छ के...

गुजरात का कच्छ इन दिनों फिर चर्चा में है और यह चर्चा...

घट-कुम्भ से ...

घट-कुम्भ से कलश...

वैसे तो 'कुम्भ पर्व' का समूचा रूपक ज्योतिष शास्त्र...

संपादक की पसंद

मां सरस्वती ...

मां सरस्वती के प्रसिद्ध...

ज्ञान की देवी के रूप में प्राय: हर भारतीय मां सरस्वती...

लोकगीतों में...

लोकगीतों में बसंत...

लोकगीतों में बसंत का अत्यधिक माहात्म्य है। एक तो बसंत...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription