बच्चा करे गुस्सा, आप ऐसे करें उसे शांत

चयनिका निगम

18th January 2021

आजकल के समय में ये देखा जा रहा है कि अक्सर छोटे बच्चों को भी गुस्सा आ जाता है। लेकिन थोड़ी सूझ-बूझ से इसे हैंडल किया जा सकता है।

बच्चा करे गुस्सा, आप ऐसे करें उसे शांत
‘मम्मा'
ये एक शब्द नहीं है इसमें गुस्से वाली कई सारी भावनाएं मिली हुई हैं क्योंकि ये एक शब्द बंटी ने चिल्लाकर गुस्से में बोला है। वो अब अक्सर ऐसे ही बात करता है। फिर चाहे बात छोटी सी ही क्यों न हो। 8 साल का बंटी सिर्फ चिढ़ा हुआ रहता है, फिर बात-बात पर गुस्सा करना उसकी पहचान बन गया है।  बंटी ऐसा करने वाला अकेला नहीं है बल्कि अब बहुत से बच्चे गुस्से को अपनी पर्सनालिटी में शामिल कर रहे हैं। समय का बदलाव मानकर बच्चों में हो रहे इस बदलाव को मामूली मान लेते हैं लेकिन ये बात बिलकुल भी मामूली है नहीं। छोटे बच्चे अभी गुस्से को महसूस कर रहे हैं तो एक उम्र के बाद यही गुस्सा उनके अपने स्वभाव को मानिए खा ही जाएगा। जरूरत है कि बच्चों के गुस्से को हैंडल किया जाए। ऐसे हैंडल किया जाए कि बच्चे अपना गुस्सा निकाल फेंके, आइये जानें इसके टिप्स-

खुद का गुस्सा-

बच्चा भावनाओं को वैसे बयां नहीं कर पाता, जैसे हम और आप कर सकते हैं। ऐसे में अगर गुस्सा आ जाए तो उसे उसकी गलती मानकर खुद भी गुस्सा करने लग जाना सही नहीं है। आप भी गुस्सा करेंगी तो इसका बच्चे के सुधार पर असर नहीं होगा बल्कि वो और ज्यादा गुस्सा करने लग जाएगा। इसलिए उसके गुस्से को शांत कराने से अच्छा है कि अपने गुस्से को बढ़ने ही न दिया जाए। उनके गुस्से को शांति से हैंडल करेंगी तो वो अपनी गलती मानेंगे लेकिन आपका गुस्सा इसमें मिल जाएगा तो उनको लगेगा गुस्सा ही हर बात का हल है। 

शांत हो जाओ बेटा-

अब जब समझाने की कोशिश शुरू की जाए तो याद रखिए जब बच्चा गुस्सा हो रहा हो तब ही उसे समझाने लग जाना सही नहीं रहेगा। बल्कि ठीक उसके गुस्से के समय उसे ‘सब ठीक है', ‘कोई बात नहीं', या ‘शांत हो जाओ' जैसे शब्द कहना उसे सच में अपनी गलती समझा देगा। वो समझ जाएगा कि जब उसे गुस्सा आएगा तब मां कभी भी बात नहीं करेंगी। कभी भी बहस नहीं करेंगी, बल्कि उस मुद्दे पर बात ही तब होगी, जब वो शांत मन रखेगा। इसलिए जब वो गुस्सा हो तो बस उसे शांत होने के लिए कहिए और कुछ नहीं। 

आपका सहयोग-

याकिन मानिए जब बच्चे को लगेगा कि मां तो पलट कर गुस्सा करती ही नहीं है। बल्कि शांत हो जाती है तो वो अपना गुस्सा संभालेगा और समझेगा कि आपका उनको पूरा सहयोग है। सहयोग उसे ऐसे समझ आएगा कि आप उस पर गुस्सा नहीं कर रहीं। आप उससे शांति से बात करने के लिए कह रहीं। वो समझेगा कि आप समस्या का हल चाहती हैं ना कि मामले को बढ़ाना। 

गुस्से से काम नहीं चलेगा-

गुस्सा किसी भी बात का हल नहीं है। ये बात आपलो बच्चे को ब्तानी ही होगी। उन्हें बताना होगा कि गुस्से से जिंदगी नहीं चलेगी। गुस्सा करके बात सिर्फ बिगड़ती है। ये अप और आपके पति को अपने व्यवहार से भी दिखानी होगी। आप लोग भी बच्चे के सामने एक दूसरे पर या किसी और पर गुस्सा बिलकुल न करें। बच्चे को दिखाएं कि आमने-सामने बैठ कर बात करना ही हर दिक्कत को खत्म करने का अचूक इलाज है। इसके अलावा कोई भी तरीका नहीं है किसी परेशानी को खत्म करने का। 

उसे प्यार चाहिए-

छोटी उम्र में बच्चा गुस्सा करने लगा है तो आप समझिए कि उसे प्या की जरूरत है। कहीं कोई कोना तो है, जहां उसके लिए प्यार कम पड़ रहा है। इसके लिए आपको उसके साथ ज्यादा से ज्यादा समय साथ में बिताना होगा। उसके खालीपन को भरने में आपका साथ अहम रोल निभा सकता है। ये बात अप जितनी जल्दी समझ लेंगी उतना ही अच्छा है। 

अकेले तो नहीं-

कई बार लोग अकेले होने पर भी भावनाओं को अन्दर दबाते चले जाते हैं और फिर ये भावनाएं गुस्से के तौर पर बाहर निकलती हैं। इसलिए देखिए कहीं आपका बच्चा अकेला तो नहीं महसूस करता है। अगर ऐसा है तो उसको दोस्त बनाने के लिए प्रेरित कीजिए। अगर दोस्त बनाना मुश्किल काम लग रहा है तो उसकी दोस्त खुद बन जाइए। उसके दोस्त बनिए और फिर उसके दिल का हाल जाना लीजिए। 

क्या-क्या कर सकते हैं-

बच्चे को क्या लगता है, गुस्सा कैसे शांत होगा? ये उससे ही पूछें और इसकी एक लिस्ट बनाकर फ्रिज पर लगा दें। अब जब भी उसे गुस्सा आए, कोशिश करें वो उस लिस्ट में से गुस्सा शांत करने कोई तरीका जरूर चुनें।  

 

ये भी पढ़ें-

पति हैं'सिंगल चाइल्ड'तो इन7बातों पर रखना होगा ध्यान

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

बच्चे करे टै...

बच्चे करे टैंट्रम यूं करें हैंडल

जब पति को आए...

जब पति को आए गुस्सा...करें कुछ ऐसा

बच्चों को प्...

बच्चों को प्यार करें पर सीमा में

सालों से आ र...

सालों से आ रही बाई कभी-कभी बच्चों का भी रखती...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

जन-जन के प्र...

जन-जन के प्रिय तुलसीदास...

भगवान राम के नाम का ऐसा प्रताप है कि जिस व्यक्ति को...

भक्ति एवं शक...

भक्ति एवं शक्ति...

शास्त्रों में नागों के दो खास रूपों का उल्लेख मिलता...

संपादक की पसंद

अभूतपूर्व दा...

अभूतपूर्व दार्शनिक...

श्री अरविन्द एक महान दार्शनिक थे। उनका साहित्य, उनकी...

जब मॉनसून मे...

जब मॉनसून में सताए...

मॉनसून आते ही हमें डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया, जैसी...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription