अपनी मेकअप किट में शामिल करें ये 4 कलर करेक्टर

Sonal Sharma

4th February 2021

कलर करेक्टर का इस्तेमाल आपकी त्वचा की खामियों को छिपाने के लिए किया जा सकता है।

अपनी मेकअप किट में शामिल करें ये 4 कलर करेक्टर

Colour Corrector

कौन नहीं चाहता है कि उसकी बेदाग त्वचा हो लेकिन किसी भी वजह से अगर चेहरे पर कोई समस्या हो तो उसमें ज्यादा परेशान होने की ज़रूरत नहीं है। चेहरे पर रेडनेस, डार्कनेस या हाइपरपिग्मेंटेशन जैसी समस्याओं से महिलाएं परेशान होती हैं। कई बार इस समस्या को छुपाने के लिए वे कंसीलर, फाउंडेशन का इस्तेमाल करती हैं लेकिन मेकअप के लिए इन चीजों के इस्तेमाल से उनकी समस्या का ज्यादा हल नहीं मिल पाता है। मेकअप के बाद भी उनका लुक प्रॉपर नहीं हो पाता है। उनकी इस समस्या से छुटकारा दिलाने में कलर करेक्टर काम में आ सकता है। कलर करेक्टर का इस्तेमाल आपके चेहरे का हुलिया बदल सकता है।

कलर करेक्शन एक आवश्यक मेकअप टेक्नीक है जिसका इस्तेमाल आपकी त्वचा की खामियों को छिपाने के लिए किया जा सकता है और वह भी रंग-बिरंगे रंगों के ज़रिए। आपके सभी बेस मेकअप भी लाल, नीले, हरे और पीले रंग की तरह प्राइमरी कलर्स से बने होते हैं और इन्हें सफेद या काले कलर के साथ मिलाया जाता है। कलर के लेवल अलग-अलग टोन और शेड्स देते हैं।

यह बिगिनर्स के लिए एक ज़रूरी स्किल नहीं है, लेकिन यह एक ऐसी चीज है जिसकी आपको विशेष रूप से उम्र के साथ बुनियादी समझ होनी चाहिए और त्वचा पर मुंहासे या पिगमेंटेशन के पुराने डार्क सर्कल जैसे त्वचा के मुद्दे होने चाहिए।

ग्रीन
ग्रीन रेडनेस को हटा देता है,  इसलिए यदि आपको मुंहासे के कारण रेडनेस है या संवेदनशीलता के कारण लालिमा और सूजन की संभावना है,  तो ग्रीन चमत्कार कर सकता है। यदि आपको रेडनेस है, तो आप अपनी बेस के लिए ग्रीन कलर को करेक्ट करने वाले प्राइमर को अप्लाई कर सकते हैं। यह दाग-धब्बों को छुपाता है और हर तरह की स्किन टोन के लिए अच्छा होता है। यदि ये समस्याएं हैं तो फाउंडेनश लगाने से पहले ग्रीन कंसीलर की पतली लेयर फेस पर लगाएं।

ऑरेंज
नारंगी यानी ऑरेंज कलर का करेक्टर अंडर आई डार्क सर्कल्स,  गहरे दाग-धब्बों को बहुत प्रभावी ढंग से कवर कर सकता है। गहरे दाग-धब्बों पर ऑरेंज  कलर करेक्टर का लगाने के बाद नॉर्मल कंसीलर का इस्तेमाल करें।

यलो
हाइपरपिग्मेन्टेशन के बैंगनी और भूरे रंग के स्पॉट्स को को छुपाने में यलो कलर करेक्टर कमाल कर सकता है। येलो कलर करेक्टर ग्रे डलनेस और पर्पल नसों के कलर को बेअसर करता है।

पर्पल
आपकी डल या पीले रंग की त्वचा है तो पर्पल कलर करेक्टर आपके लिए है। यह शेड हर तरह की स्किन टोन को सुधारने में मददगार है। खासकर डार्क स्किन टोन या फिर टैन स्किन के लिए बेहतरीन विकल्प है। आपको इसके लिए चेहरे को प्राइम करें और फिर कंसीलर लगाएं। आखिर में फेस को फाउंडेशन से कवर करें।

ऐसे करें इस्तेमाल
कलर करेक्टर का इस्तेमाल स्किन पर सबसे पहले करें। फिर स्पॉन्ज की मदद से फाउंडेशन और फिर कंसीलर का यूज करें। कलर करेक्टर को पूरे चेहरे पर नहीं लगाना है। जहां रेडनेस, डलनेस या हाइपरपिग्मेंटेशन हो, कलर करेक्टर वहीं पर इसका यूज करें। बहुत ज्यादा अप्लाई न करें क्योंकि ऐसा करने से मेकअप ईवन नहीं लगेगा।

आपको हमारे ब्यूटी टिप्स कैसे लगे? अपनी प्रतिक्रियाएं हमें जरूर भेजें। ब्यूटी-मेकअप से जुड़े टिप्स भी आप हमें ई-मेल कर सकते हैं- editor@grehlakshmi.com

त्वचा पर मलाई लगाने के ये हैं 10 फायदे, जानिए इस्तेमाल के 5 तरीके

जानिए वजन घटाने में कैसे मदद करता है जिंजर वाटर: Weight Loss Tips

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

मेकअप के लिए...

मेकअप के लिए हैं ये 10 चीजें ज़रूरी

कैसे करें कं...

कैसे करें कंसीलर का प्रयोग ताकि मिले फ्लोलैस...

होंठों की खू...

होंठों की खूबसूरती के लिए ही नहीं, इन 5 तरह...

Makeup Mista...

Makeup Mistakes: कंसीलर लगाते हुए आप भी कर...

पोल

आपको कैसी लिपस्टिक पसंद है

वोट करने क लिए धन्यवाद

मैट

जैल

गृहलक्ष्मी गपशप

रम जाइए 'कच्...

रम जाइए 'कच्छ के...

गुजरात का कच्छ इन दिनों फिर चर्चा में है और यह चर्चा...

घट-कुम्भ से ...

घट-कुम्भ से कलश...

वैसे तो 'कुम्भ पर्व' का समूचा रूपक ज्योतिष शास्त्र...

संपादक की पसंद

मां सरस्वती ...

मां सरस्वती के प्रसिद्ध...

ज्ञान की देवी के रूप में प्राय: हर भारतीय मां सरस्वती...

लोकगीतों में...

लोकगीतों में बसंत...

लोकगीतों में बसंत का अत्यधिक माहात्म्य है। एक तो बसंत...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription