बाई कंट्रोल: अक्सर छुट्टी करती है बाई, ऐसे दें उसे समय पर आने की सीख

चयनिका निगम

6th February 2021

बाई का खूब छुट्टियां लेना आपके लिए हानिकारक हो सकता है लेकिन आप कुछ कदम बढ़ाकर इस हानि से बच सकते हैं।

बाई कंट्रोल: अक्सर छुट्टी करती है बाई,  ऐसे दें उसे समय पर आने की सीख

घर पर समय पर आती बाई किसे बुरी लगती है? बुरा तब लगता है, जब बाई आए ही न। कई दिन ना आए तो समझिए कि जिंदगी में इससे बड़ी कोई दिक्कत ही नहीं है। ऐसा लगता है मानो जिंदगी अधूरी है। बाई न हो गई परिवार का जरूरी हिस्सा हो गया। कोई खास वजह हो तो बाई के छुट्टी पर जाने में कोई बुराई भी नहीं है। लेकिन यही छुट्टी अगर छोटी-छोटी बातों पर ली जाए। या यूंही ले ली जाए तो इसमें खराबी है। इस खराबी को खत्म करना भी जरूरी है। इसके लिए आपको कुछ खास नहीं करना है बल्कि बस अपनी आदतों और व्यवहार में कुछ बदलाव लाने हैं। ये बदलाव बाई को सीख जरूर देंगे। उसे सीखा देंगे कि बेवजह छुट्टी लेना सही नहीं है। कौन-कौन से हैं ये बदलाव, जानते हैं-

कहीं बात छोटी सी तो नहीं

बाई को सुधरने की हिदायत देने से पहले आपको ये देखना होगा कि कहीं आप ही तो छोटी सी बात को बड़ा करके नहीं सोच रही हैं। इस पर थोड़ा सोच-विचार कर लें कि कहीं महीने की 2 छुट्टियां भी तो आपको ज्यादा नहीं लग रही हैं। अगर ऐसा है तो फिर आपको खुद में सुधार करने होंगे। समझना होगा कि हर इंसान को काम से छुट्टी की जरूरत होती ही है। इसको भी छीन लेना सही बिलकुल नहीं है। आप सबसे पहले स्थिति को अच्छे से समझें तब ही आगे का निर्णय लें। 

काम की कीमत-

अब अगर अपने जान लिया है कि आप गलत नहीं हैं, बल्कि बाई का काम करने का तरीका ही गलत है तो उसे बात समझने का समय आ चुका है। इंसान को उसकी मेहनत का ही मेहनताना मिलता है। कभी किसी को आराम करने के पैसे नहीं मिलते। जो नियम से काम पर आएगा, उसे ही मेहनताना भी मिलेगा। ये बात बाई को आप सीधे शब्दों में बता दीजिए। उन्हें पता होना चाहिए कि आप काम करने के ही पैसे देंगी। उन्हें एक्सट्रा छुट्टी नहीं करनी चाहिए ताकि काम अपनी लय में होता रहे। 

कई विकल्प हैं-

बाई कई बार इसलिए भी आपके घर के काम को हल्के में लेती हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि आपको उनकी जरूरत है। ऐसी जरूरत जैसे कोई और पूरा ही नहीं कर सकता है। जबकि ऐसा होता नहीं है। लोगों को काम की जरूरत हमेशा ही होती है और ऐसे लोग मिल भी जाते हैं, जो आपके काम को बखूबी करेंगे। इसलिए ये बात बाई को भी समझा दीजिए। उन्हें बता दीजिए कि आप उनके काम की मोहताज नहीं हैं। 

उनकी जरूरत नहीं-

देखिए अगर हर दिन अगर आपको ये डर लगा रहता है कि ‘कहीं आज बाई नहीं आई तो...' तो इस डर को दिल से निकालने का समय आ गया है। आप घर के काम खुद करना शुरू कीजिए काम करने का एक पैटर्न बनाइए। आप कुछ ही दिनों में देखेंगी कि आपको घर के कामों के लिए किसी की जरूरत है ही नहीं। आप तो अकेले ही वो सारे काम कर सकती हैं, जिसके लिए बाई पर निर्भर हुआ करती थीं। 

हर बार ये संभव नहीं-

बाई को छुड़ा कर खुद काम करते रहना हर बार संभव नहीं होता है। हो सकता है आपको उनकी बहुत जरूरत हो। या फिर आपकी लाइफ ऐसी हो ही न कि बिना बाई के काम चल सके। इसलिए बाई को हटाने और उसके साथ रिश्ते खराब करने से पहले अपनी स्थिति देख लीजिए। ऐसा न हो आप जोश में बाई को निकाल तो दें लेकिन इसके बाद आपकी जिंदगी अस्त-व्यस्त हो जाए। इसलिए निर्णय बहुत सोच समझ कर लीजिएगा। 

दिक्कत समझाएं-

बाई को सुधारने का एक तरीका ये भी है कि उसे बैठ कर समझाया जाए। उसे बताया जाए कि आपको कितनी परेशानी का सामना करना पड़ता है, जब वो नहीं आती हैं। अगर वी आपकी परेशानी समझ जाएंगी तो यकीन कीजिए वो गैरजरूरी छुट्टी बिलकुल नहीं लेंगी। इंसानियत के नाते पूरे मन से आपकी मदद करेंगी। समय से काम पर आएंगी वो भी कम से कम छुट्टियों के साथ। उनको आपकी दिक्कत समझ आ जाएगी तो वो आपको उस दिक्कत में पड़ने ही नहीं देंगी। लेकिन ऐसा हर बार हो ये जरूरी नहीं है। हो सकता है, दिल से बात समझाने के बाद भी वो आपकी बात ना समझें और छुट्टियां लेना जारी रखें। ठीक ऐसे समय पर आप उनको हटाने का निर्णय ले सकेंगी। 

 

ये भी पढ़ें-

सहेली के पति का है अफेयर तो ऐसे दीजिए सहेली का साथ

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

बाई कंट्रोल-...

बाई कंट्रोल- डॉमिनेटिंग बाई कर देगी मानसिक...

हर दूसरे दिन...

हर दूसरे दिन बाई को चाहिए खाना तो ये रहे...

सास-बहू के ब...

सास-बहू के बीच आग लगाने का कम कर रही है बाई...

बाई कंट्रोल:...

बाई कंट्रोल: कामवाली बाई अक्सर मांगती है...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

घर पर वाइट ह...

घर पर वाइट हैड्स...

वाइट हैड्स से छुटकारा पाने के लिए 7 टिप्स

बच्चे पर मात...

बच्चे पर माता-पिता...

आपकी यह कुछ आदतें बच्चों में भी आ सकती हैं

संपादक की पसंद

तोहफा - गृहल...

तोहफा - गृहलक्ष्मी...

'डार्लिंग, शुरुआत तुम करो, पता तो चले कि तुमने मुझसे...

समझौता - गृह...

समझौता - गृहलक्ष्मी...

लेकिन मौत के सिकंजे में उसका एकलौता बेटा आ गया था और...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription