स्वास्थ्य का साथी - सूप

अनुज श्रीवास्तव

8th February 2021

अक्सर लोग सूप का सेवन अस्वस्थ होने पर ही अधिक करते हैं, लेकिन सूप को अनिवार्य तौर पर अपनी दिनचर्या में शामिल करने के कई लाभ हैं। सूप पीना हमारे स्वास्थ्य के लिए कितना फायदेमंद है, आइए हम आपको बताते हैं।

स्वास्थ्य का साथी - सूप

कुछ सब्जियां व दालें ऐसी होती हैं जो हमारे सेहत के लिए तो बहुत ही अच्छी होती हैं लेकिन बच्चे तो बच्चे कई बार बड़े भी उसे खाने में आना-कानी करते हैं तो ऐसे में सूप ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा वो सब्जियां उनको सरलता से खिला सकते हैं।

सूप एक ऐसा पेय पदार्थ है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा है। इसे बनाने के लिए हम इच्छा अनुसार विभिन्न सब्जियों व चिकन का प्रयोग करते हैं जिसके कारण यह बहुत ही पौष्टिक भी होता है। 

सूप के स्वास्थ्य लाभ

सर्दी-जुकाम - सर्दी व ठंड से बचने के लिए गर्मागर्म सूप बेहद कारगर उपाय है। इसके अलावा जुकाम होने या गला खराब होने की स्थिति में भी कालीमिर्च मिला हुआ सूप पीने से बहुत जल्दी आराम होता है।

पौष्टिक - सूप पीने से हमारे शरीर में कई पोष्टिïक तत्त्वों की पूर्ति होती है। सूप कोई भी हो, पौष्टिक तत्त्वों से भरपूर होता है। दरअसल जिस सब्जी या अन्य खाद्य पदार्थ का सूप बनता है, उसका पूरा सत्व सूप में होता है। इसके अलावा कई तरह के पोषक तत्त्वों से भरपूर सूप अंदरूनी तौर पर ताकत देने का काम करता है।

विटामिन से भरपूर - सूप में भरपूर मात्रा में विटामिन होता है। शरीर में अगर विटामिन की कमी है तो आप सूप पीना शुरू कर दें क्योंकि वेजीटेरियन सूप में विटामिन ्र, ष्ट, श्व और विटामिन बी 6 उच्च मात्रा में पाया जाता है। सब्जियों के सूप में आप गाजर, ब्रॉक्ली, पालक या टमाटर का सूप पी सकते हैं।

एंटीऑक्सिडेंट्स - सबसे ज्यादा एन्टीऑक्सडेंट सब्जियों के सूप से हमारे शरीर को मिलता है। सब्जियां हमारे शरीर को ताकतवर बनाने में बहुत मदद करती है। इन हरे रंग की सब्जियों में विभिन्न प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो शरीर को उन ऌफ्री रेडिकल्स से बचाते हैं जो शरीर के ऊतकों को खराब करते हैं।

कमजोरी को करे दूर - शरीर में कमजोरी महसूस होने पर सूप का सेवन करना बहुत लाभदायक होता है। यह कमजोरी तो दूर करता ही है, साथ ही प्रतिरक्षा तंत्र को भी और अधिक मजबूत करने में मदद करता है। यह बुखार, शारीरिक दर्द, सर्दी-जुकाम जैसी परेशानियों से लड़ने में मदद भी करता है। इसके अलावा तबियत खराब होने पर सूप के सेवन से किसी प्रकार की कोई परेशानी भी नहीं होती।

पचने में आसान - सूप का सेवन बिमारियों में इसलिए भी किया जाता है, क्योंकि यह आसानी से पच जाता है और किसी प्रकार की परेशानी पैदा नहीं करता। इससे बीमारी के बाद सुस्त पड़ा पाचन तंत्र भी सुव्यवस्थित तरीके से काम करने लगता है।

भूख खुल जाती है - अगर आपको भूख नहीं लगती या कम लगती है, तो सूप पीना बहुत अच्छा विकल्प है। क्योंकि इसे लेने के बाद धीरे-धीरे भूख खुलने लगती है और भोजन के प्रति आपकी रुचि भी बढ़ती है।

ऊर्जा के लिए - शारीरिक कमजोरी में सूप का सेवन आपको ऊर्जा देता है और आप पहले से स्वस्थ महसूस करते हैं। 

हाइड्रेशन - जब आप अस्वस्थ होते हैं या फीवर के दौरान शरीर डिहाइड्रेट हो जाता है तो ऐसे समय में शरीर को हाइड्रेट रखने के लिए सूप का सेवन करना चाहिए। इससे शरीर में पानी की मात्रा और पोषक तत्त्व दोनों प्रवेश करते हैं।

म्यूकस पतला करे - कमजोरी होने पर म्यूकस मोटा हो जाता है, जिसके कारण बैक्टीरिया और वायरस का खतरा बढ़ जाता है। सूप का प्रतिदिन प्रयोग करने पर म्यूकस पतला हो जाता है जिससे संक्रमण नहीं होता।

मोटापा करे कम - सूप का सेवन मोटापा कम करने में भी सहायक है। अगर आप कम कैलोरी लेना पसंद करते हैं, और जल्दी वजन कम करना चाहते हैं, तो सूप से बेहतर क्या हो सकता है। इसमें आपको फाइबर्स और पोषक तत्त्व भी भरपूर मात्रा में मिलते हैं, और कैलोरी भी ज्यादा नहीं होती। सूप पीने से पेट भी जल्दी भर जाता है और भारीपन भी नहीं होता।

सूप पीने के नियम 

  • सूप हमेशा भोजन ग्रहण करने से पहले लें। 
  • सूप पीने के एक घंटे पहले या बाद में चाय, कॉफी या दूध न लें। 
  • सूप हमेशा ताजा व गरम ही पिएं। एक दिन से ज्यादा रखे हुए सूप को न पियें।

एनर्जी लेबल को बढ़ाता है सूप

स्वस्थ रहने के लिए भोजन में संतुलित आहार के साध लिक्विड पदार्थों को शामिल करना भी जरूरी है। सूप इसका बेहतरीन विकल्प हो सकता है।

  • एक खुशनुमा और सुकून भरा जीवन जीने के लिए सुख-सुविधा के साथ-साथ अच्छी सेहत का होना भी बेहद जरूरी है। वैसे भी कहते हैं न तन स्वस्थ हो मन स्वस्थ और इसके लिए हमारा भोजन संतुलित और पौष्टिकता से भरपूर होना चाहिए। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में हम सभी के पास अधिक काम के चलते अपने लिए बहुत कम वक्त मिल पाता है। ऐसे में हेल्दी सूप एक महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है। एक ओर जहां यह तन मन में तरो-ताजगी का एहसास कराता है वहीं दूसरी ओर शरीर में विटामिंस की कमी को भी पूरा करता है। ऑफिस की दिनभर की थकान को मिनटों में दूर करता है, एक टेस्टी व हेल्दी सूप। 
  • कई बार शाम के समय भूख लगने पर हम कुछ भी उल्टा सीधा जैसे ऑयली जंक ऌफूड या फास्ट ऌफूड खा लेते हैं। जो कि हेल्थ के लिए नुकसानदायक होता है। इससे वजन बढ़ना, मोटापा और थकान-आलस्य आदि परेशानियां घेर लेती हैं। भूख लगने पर ऑयली या जंक ऌफूड खाने से बेहतर है कि पौष्टिकता से भरपूर सूप लिया जाए। सूप कम कैलोरीयुक्त होने के साथ-साथ विटामिन से भरपूर होता है। दिनभर के काम के तनाव और थकान के बाद शाम के समय लिया गया पौष्टिकता से भरपूर सूप ताजगी और स्फूर्ति ला देता है। वैसे भी देखा जाए तो शाम के समय बी.एम.आर. बेसल मेटाबोलिक रेट थोड़ा कम हो जाता है। सुबह से काम करते-करते बॉडी का एनर्जी लेवल भी कम हो जाता है। ऐसे में शाम के समय टोमैटो मिक्स वेजिटेबल मशरूम या अन्य कोई फ्रेश सूप लेने से आपका एनर्जी लेवल बढ़ जाता है। 
  • हम सभी जानते हैं कि वजन घटाने यानी कि मोटापा कम करने में सूप काफी फायदेमंद रहता है। यदि आप भी ऐसा चाहते हैं तो हर रोज भोजन के साथ व शाम के समय सूप जरूर पिएं।
  • सूप भोजन को पचाने और पाचन क्रिया को संतुलित रखने में मदद करता है। 
  • अक्सर बीमार व्यक्ति को भी सूप दिया जाता है। रिसर्च द्वारा भी इस बात की जानकारी मिलती है कि सर्दी होने पर सूप पीने से काफी फायदा होता है। 
  • हर तरह के स्किन प्रॉब्लम में भी सूप महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है। सूप में नमक और काली मिर्च के साथ थोड़ी सी शक्कर भी डाल देनी चाहिए।
  • डायबिटीज के मरीजों के लिए सूप काफी लाभकारी होता है। ब्लड प्रेशर, हार्ट पेशेंट के लिए शाम के समय लिया गया फ्रेश व न्यू डीशियल सूप उनके एनर्जी लेवल को काफी बढ़ा देता है। 
  • वैसे भी कई बार हम अपनी रूटीन लाइफ से बोर हो जाते हैं। रोज-रोज के भोजन से भी उकता जाता है। ऐसे में शाम के समय केवल फ्रूट्स सूप आदि ले लेने से भी पूरे दिन की विटामिन की कमी की भरपाई हो जाती है। 
  • सूप हमेशा पोटैशियम रिच होते हैं। यह दिर की थकान को दूर करने के साथ-साथ आलस और कमजोरी को भी दूर करते हैं। 
  • हर तरह के भोजन का लिक्विड रूप ठोस। रूप की अपेक्षा कम कैलोरी वाला होता है। सूप, जूस तथा इसी तरह के अन्य लिक्विड भोजन चॉकलेट की अपेक्षा अधिक संतृप्त होते हैं। टमाटर का सूप अच्छी सेहत के लिए एक बेहतरीन विकल्प है।

यह भी पढ़ें -डिप्रेशन को करना चाहते हैं दूर तो डाइट में शामिल करें ये 4 चीज़ें

स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें-editor@grehlakshmi.com

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

कई रोगों को ...

कई रोगों को बढ़ावा देता है मोटापा

गर्मियां और ...

गर्मियां और झुलसती त्वचा

गर्मी नाशक, ...

गर्मी नाशक, रोग रक्षक-मट्ठा

देसी घी यानी...

देसी घी यानी एक संपूर्ण औषधि

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

जन-जन के प्र...

जन-जन के प्रिय तुलसीदास...

भगवान राम के नाम का ऐसा प्रताप है कि जिस व्यक्ति को...

भक्ति एवं शक...

भक्ति एवं शक्ति...

शास्त्रों में नागों के दो खास रूपों का उल्लेख मिलता...

संपादक की पसंद

अभूतपूर्व दा...

अभूतपूर्व दार्शनिक...

श्री अरविन्द एक महान दार्शनिक थे। उनका साहित्य, उनकी...

जब मॉनसून मे...

जब मॉनसून में सताए...

मॉनसून आते ही हमें डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया, जैसी...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription