जानिए, डाइट में क्यों जरूरी है नारियल का दूध

Jyoti Sohi

17th February 2021

आमतौर पर अधिकतर लोगों को लगता है कि नारियल के अंदर का पानी, नारियल का दूध होता है लेकिन ऐसा नहीं है। अधिक मलाईदार होने के कारण, इसको दूध के विकल्प में इस्तेमाल किया जा सकता है। दक्षिण पूर्व एशिया में यह अक्सर एक आम खाद्य घटक के रूप में प्रयोग किया जाता है।

जानिए, डाइट में क्यों जरूरी है नारियल का दूध

नारियल का दूध वास्तव में दूध नहीं होता बल्कि नारियल से निकलने वाला एक गाढ़ा और तरल पदार्थ होता है। जो स्किन, बाल और अन्य स्वास्थ्य फायदों के लिए दुनिया भर में बड़े पैमाने पर खूब इस्तेमाल किया जाता है। दरअसल नारियल का दूध निकालने के लिए नारियल को कसा जाना है और फिर उसमें से निकलने वाले रस को नारियल का दूध कहा जाता है। आमतौर पर अधिकतर लोगों को लगता है कि नारियल के अंदर का पानी, नारियल का दूध होता है लेकिन ऐसा नहीं है। अधिक मलाईदार होने के कारण, इसको दूध के विकल्प में इस्तेमाल किया जा सकता है। दक्षिण पूर्व एशिया में यह अक्सर एक आम खाद्य घटक के रूप में प्रयोग किया जाता है। 

सनबर्न से बचाने में कारगर

सादे नारियल के दूध को लगाने से सन डैमेज स्किन का इलाज किया जा सकता है। इसके लिए नारियल के दूध की पतली परत को सनबर्न क्षेत्र में लगाएं। इस दूध में वसा और तेल की मदद से लालिमा कम हो जाती है और त्वचा की नमी वापिस आने लगती है। सनबर्न से जल्द राहत के लिए नारियल के दूध को रात भर प्रभावित क्षेत्रों के ऊपर लगाकर छोड़ दें और सुबह उठ कर स्नान कर लें। यह सूर्य के संपर्क में होने वाली जलन और दर्द को कम कर सकता है। 

हेयर कंडीशनर के रूप में करता है कार्य

नारियल का दूध एक बहुत ही अच्छा हेयर कंडीशनर है, जो आपको लंबे और मोटे बाल प्रदान करता है। आप अपने हाथों में बराबर मात्रा में नारियल के दूध और शैंपू को लेकर बालों को शैम्पू करें और उसके बाद अच्छे से धो लें। अपनी हथेली पर छोटी मात्रा में नारियल का दूध लें और अपने हाथों को एक साथ रगड़ें और जड़ से अपने बाल पर रगड़ें।

गठिया के लक्षणों को करे कम

नारियल के दूध में सेलेनियम पाया जाता है जो एक एंटीऑक्सिडेंट है। नारियल का दूध मुक्त कणों को नियंत्रित करने और जोड़ों की सूजन के जोखिम को कम करने के द्वारा गठिया के लक्षणों से दूर रखने में मदद करता है। 

इम्यूनिटी बढ़ाता है

नारियल दूध में पाया जाने वाला लॉरेक एसिड एंटीसेप्टिप गुणों के चलते जाना जाता है। अपनी डाइट में नारियल दूध को शामिल कर बैक्टीरिया, वायरस और फुनगी के कारण पैदा होने वाले संक्रमणों के खिलाफ शरीर को लड़ने योग्य बनाया जा सकता है।

एनीमिया रोकता है

आज कल ज्यादातर महिलाओं को एनीमिया की शिकायत है और नारियल दूध इसके लिए शानदार उपाय है। नारियल दूध आयरन की पर्याप्त मात्रा से शरीर को ईंधन मुहैया करा सकता हैं। नारियल दूध में मौजूद आयरन की अच्छी मात्रा स्वस्थ लाल रक्त कोशिकाओं की बनावट के लिए जरूरी है। पाबंदी से लगातार इस्तेमाल एनीमिया को रोक सकता है।

खाना पकाने में करें इस्तेमाल

खाना पकाने के लिए नारियल का दूध आमतौर पर डिब्बे में उपलब्ध होता है। यह खाना पकाने के लिए एक शानदार विकल्प है, भोजन को एक स्वादिष्ट सुगंध देता है। नारियल का दूध सभी प्रकार के व्यंजनों में स्वादिष्ट है। करी से लेकर सब्जी, सूप, स्मूदी चिया सीड पुडिंग और यहां तक कि आइसक्रीम तक में इसका उपयोग किया जा सकता है। पीने के लिए पतला नारियल का दूध एक कप कॉफी या दलिया के लिए एक शानदार विकल्प है।

क्यों फायदेमंद है नारियल का दूध

नारियल का दूध बहुत ज्यादा फायदेमंद इसलिए है क्योंकि इसमें बालों को स्ट्रॉन्ग बनाने के लिए प्रोटीन है। इसी के साथ इसमें  फैटए सोडियम, आयरन, कैल्शियम, फॉसफोरस और पोटैशियम भी मौजूद है। ये सब कुछ स्कैल्प में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाने के लिए बहुत अच्छा हो सकता है। इसके अलावाए एक महत्वपूर्ण एलिमेंट जो इसमें मौजूद है वो है विटामिन ई। जैसा कि हम जानते हैं कि विटामिन ई कैप्सूल्स का इस्तेमाल हेयर और स्किन केयर के लिए किया जाता है। ऐसे में नारियल के दूध से मिलने वाला नेचुरल विटामिन ई हमारे लिए फायदेमंद होगा। ये बालों की डीप कंडिशनिंग के लिए जरूरी है। 

नारियल दूध 

डाइट  -  इसे हफ्ते में 3.4 बार ले सकते हैं। कच्चे नारियल को कूटकर निकाला गया ताजा दूध शरीर के लिए पौष्टिक होता है।

पौष्टिकता - 100 ग्राम नारियल के दूध से 145 कैलोरी ऊर्जा मिलती है। इसमें आयरन, फॉस्फोरस और मैग्नीशियम तत्त्व भी होते हैं। अधपके नारियल में से ही दूध निकल सकता है।

फायदे - खासकर बच्चों के लिए यह संपूर्ण डाइट है। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है।

न पीए  - अधिक वजन व हृदय से जुड़ी समस्या वाले कम पीएं।

स्टोरेज  - इसे तुरंत इस्तेमाल में लेना बेहतर है।

कैसे इस्तेमाल करना है नारियल का दूध. 

डायरेक्ट बालों में लगाना

सबसे पहला तरीका है कि आप इसे डायरेक्ट बालों में लगाएं। अगर आप चाहें तो इसे थोड़ा गर्म कर लें और उसके बाद साफ बालों में धीरे.धीरे गर्म नारियल के दूध की मसाज करें। आपको ये मसाज बहुत आराम से करनी है ताकि स्कैल्प का ब्लड सर्कुलेशन बहुत अच्छा हो जाए। 

कंडिशनर बनाना

3 चम्मच नारियल का दूधए 1 चम्मच शहद और 1 चम्मच एवोकाडो मिलाकर आप एक बेहतरीन होम मेड कंडिशनर बना सकती हैं। ये कंडिशनर लगाने के बाद 15 मिनट तक बालों को गीला न करें। इसके बाद बालों को धो लें और कोशिश करें कि बाल धोते समय ठंडे पानी का इस्तेमाल करें। 

लीव इन कंडिशनर

लीव इन कंडिशनर मतलब वो कंडिशनर जिसे लगाने के बाद बालों को धोने की जरूरत नहीं होती है। इसके लिए आप एसेंशियल ऑयल्स का इस्तेमाल कर सकती हैं। लीव इन कंडिशनर बनाने के लिए नारियल के दूध को स्प्रे बॉटल में 8.10 बूंद एसेंशियल ऑयल्स के साथ मिलाएं। इसे बाल धोने के बाद अपने बालों पर स्प्रे करें और थोड़ी देर में बालों के सूखने के बाद आपको खुशबू का अहसास होगा। बस इसे लगाने के बाद बालों को धोने के लिए आप ड्रायर से बालों को न सुखाएं।  

ऐसे बनाएं होम मेड कोकोनट मिल्क

वैसे तो ये आसानी से बाज़ार में मिल सकता है, लेकिन आप घर पर भी बहुत अच्छा नारियल का दूध बना सकती हैं। इसके लिए आप नारियल को ग्रेट कर लें और उसे एक कपड़े की मदद से छान लें।  

आपको पूरा नारियल एक साथ रखकर निचोड़ना है।  इसके बाद जो दूध निकलेगा उसे 5 मिनट के लिए लो फ्लेम पर गर्म करना है। इसे तुरंत इस्तेमाल न करें बल्कि रात भर के लिए फ्रिज में रख दें और सुबह इस्तेमाल करें। अगर आप बाज़ार से नारियल का दूध इस्तेमाल करने जा रही हैं तो ध्यान रखें कि नॉन फ्लेवर्ड और बिना शक्कर या नमक वाला कोकोनट मिल्क इस्तेमाल करें।  

ये भी पढ़े

अगर प्लास्टिक के बर्तनों से न हटें दाग, तो अपनाएं ये आसन उपाय
आखिर बहू में कैसे गुण होने चाहिए

स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें-editor@grehlakshmi.com

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

इन तरीकों से...

इन तरीकों से घर पर ही निखार सकते हैं त्वचा...

करवा चौथ के ...

करवा चौथ के लिए ब्यूटी टिप्स और मेकअप

किचन मेें मौ...

किचन मेें मौजूद इस जादुई चीज से निखारे अपनी...

गर्मी और धूप...

गर्मी और धूप से अपने बालों को कैसे बचाएं...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

चित्त की महत...

चित्त की महत्ता...

श्री गुरुदेव की कृपा के बिना कुछ भी संभव नहीं। अध्यात्म...

तुम अपना भाग...

तुम अपना भाग्य फिर...

एक बार ऐसा हुआ कि पोप अमेरिका गए, वहां पर उनकी कई वचनबद्घताएं...

संपादक की पसंद

शांति के क्ष...

शांति के क्षण -...

मानसिक शांति के अत्यन्त सशक्त क्षण केवल दुर्बल खालीपन...

सुख खोजने की...

सुख खोजने की कला...

एक महिला बोली : मुनिश्री! मैं बड़ी दु:खी हूं। यों तो...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription