हैरान करने वाले सुंदर मंदिर

चयनिका निगम

26th February 2021

मंदिर अगर सुंदर हों तो भक्ति भी मानो थोड़ी बढ़ जाती है। दुनियाभर में बने ऐसे ही सुंदर मंदिर में से कुछ ये रहे।

हैरान करने वाले सुंदर मंदिर
मंदिर कैसा भी बना हो लेकिन अगर मन में भक्ति है तो टूटे हुए मंदिर में भी भगवान का वास नजर आने लगता है। आप मंदिर के जर्जर हालात में होने पर भी उसमें आस्था का रंग ढूंढ लेंगे। मगर मंदिर भव्य बना हो तो उममें भी कुछ हर्ज नहीं है। ऐसे मंदिर शहर की शान तो होते ही हैं लोगों के आकर्षण का केंन्द्र भी बनते हैं। दुनियाभर में ऐसे कई मंदिर बनाए गए हैं जो अपनी भव्यता के लिए ही जाने जाते हैं। भारत में भी ऐसे कई मंदिर हैं और दुनिया के दूसरे देशों में भी। भले ही वहां हिंदू धर्म में माने जाने वाले भगवान वास न करते हों लेकिन ये मंदिर भक्तों के लिए बेहद खास हैं। दुनियाभर में बने भव्य और आलीशान मंदिरों में से कुछ के बारे में जान लीजिए-
पारो तक्तसंग, भूटान  
साउथ एशिया का हिस्सा भुटान का सबसे जाना पहचाना नाम है पारो तक्तसंग। इसे तक्तसंग पलफुग मॉनेस्ट्री भी कहा जाता है। 10000 फिट से भी ज्यादा ऊंचाई पर बना ये मंदिर प्रकृति के बीच ही बना है। यहां आने वाले भी प्रकृति के सुंदर नजारों को देखकर हैरान रह जाते हैं। यहां आसपास सुंदर पहाड़ हैं तो हरियाली से भरपूर खाड़ियां भी। 
अंगकोर वट, कंबोडिया-
अंगकोर वट दुनिया का अकेला ऐसा मंदिर है, जिसके आकार को सबसे बड़ा माना जाता है। माना जाता है ये मंदिर 12वीं श्ताब्दी में बनाया गया था। पहले ये हिंदू मंदिर था लेकिन बाद में इसे बुद्ध धर्म के लिए माना गया। अब ये एक बुद्ध मंदिर है। 
बोरोबुदूर, इंडोनेशिया-
जावा का इंडोनेशियन आइसलैंड अभी भी बहुत लोगों की नजर में नहीं आया है। बहुत लोगों को ये नहीं पता है कि यहीं पर दुनिया का सबसे बड़ा बुद्ध मंदिर बना है। इस मंदिर को आठवीं या नवीं शताब्दी में बनाया गया था। इसमें 3 टायर स्तूप है। इसके चारों ओर 72 और स्तूप हैं, जिन पर बुद्ध की प्रारतिमा बनी है। 
गोल्डन टैम्पल, अमृतसर
सिख समुदाय ही नहीं अन्य समुदायों के लोग भी माथा टेकने अमृतसर के श्री हरमंदिर साहिब या गोल्डन टेंपल आ जाते हैं। गोल्डन टैम्पल की अपनी एक अलग ही अहमियत या खेँ पवित्र छवि है, जो इसे हर शख्स के सामने भक्ति का केंद्र बना देती है। इस मंदिर को ये नाम इसलिए मिला क्योंकि इसे 400 किलो सोने से बनाया गया था। यहां हर रोज करीं 20000 लोग लंगर खाने आते हैं। खास मौकों पर तो ये संख्या 1 लाख भी हो जाती है। 
लोटस टैम्पल, नई दिल्ली-
लोटस टैम्पल बहाई समुदाय का मंदिर है। ये समुदाय दुनियाभर के हर धर्म को मानता है। मंदिर से इसका तात्पर्य पवित्रता से है। इसको मानवता में एकता का प्रतीक भी माना जाता है। 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

देश के 4 अनो...

देश के 4 अनोखे गणेश मंदिर, आपने कितनों में...

देश के सबसे ...

देश के सबसे बड़े मंदिरों से हो लीजिए रूबरू...

पुणे: आठ अष्...

पुणे: आठ अष्टविनायक मंदिर करेंगे कामना पूरी...

चलो जम्मू, घ...

चलो जम्मू, घूमो जम्मू

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

घर पर वाइट ह...

घर पर वाइट हैड्स...

वाइट हैड्स से छुटकारा पाने के लिए 7 टिप्स

बच्चे पर मात...

बच्चे पर माता-पिता...

आपकी यह कुछ आदतें बच्चों में भी आ सकती हैं

संपादक की पसंद

तोहफा - गृहल...

तोहफा - गृहलक्ष्मी...

'डार्लिंग, शुरुआत तुम करो, पता तो चले कि तुमने मुझसे...

समझौता - गृह...

समझौता - गृहलक्ष्मी...

लेकिन मौत के सिकंजे में उसका एकलौता बेटा आ गया था और...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription