सास-बहू के बीच आग लगाने का कम कर रही है बाई तो उसे सिखाएं सबक

चयनिका निगम

12th March 2021

बाई का इधर की बात उधर करने की आदत अक्सर ही होती है। जब इस्स सास-बहू के बीच लड़ाइयां होने लगें तो समय बड़ा कदम उठाने का होता है।

सास-बहू के बीच आग लगाने का कम कर रही है बाई तो उसे सिखाएं सबक

बाई की एक ऐसी आदत होती है, जो बाई के साथ मानो जुड़ी ही हुई है। इस एक आदत का मजाक अक्सर सीरियलों और फिल्मों में भी खूब उड़ाया जाता है। ये आदत है दो लोगों के बीच आग लगाने की, लड़ाई कराने की। आस-पड़ोस के लोगों की बातें एक दूसरे को बताने की आदत तो बाई को होती ही है, वो अक्सर परिवार के ही सदस्यों के बीच भी कहासुनी का कारण बन जाती है। सास और बहू का सेंसिटिव रिश्ता बाई की बातें इधर-उधर करने की आदत की वजह से खराब हो सकता है। मगर बाई को ऐसा करने से रोकने की कोशिश भी की जानी चाहिए। ये कोशिश कुछ ऐसी होनी चाहिए कि बाई काम भी करती रहे और उसकी ये आदत भी छूट जाए। उसको अपनी गलती का अहसास भी हो जाना चाहिए। इससे पारिवारिक फायदे होंगे और रिश्ते भी नहीं बिगड़ेंगे। ऐसी बाई को हैंडल करने के तरीके जान लेते हैं-

सबसे  पहले पहचाने गलती-

आपको ध्यान देना होगा क्या जब-जब आपकी सास और आपके बीच लड़ाई होती है तो इसके बीच कहीं न कहीं बाई का रोल नजर आ ही जाता है तो आपको इधर ध्यान देने की जरूरत है। आपको ध्यान देना है कि बाई आपके घर के झगड़ों का कारण तो नहीं है। आप उसकी हरकतों पर ध्यान दें। देखें वो कब किस बात को कैसे सास तक पहुंचाती है। 

सास से कीजिए बात-

जब आप इस बात को लेकर निश्चिंत हो जाएं, तब इस बारे में अपनी सास से भी बात करें। उन्हें बताएं कि आप दोनों के बीच परेशानी और गलतफहमी खड़ी करने वाली बाई है। उनको बताइए कि इस मामले को मिलकर हैंडल करने के अलावा कोई दूसरा रास्ता है ही नहीं। इस बाई को अगर समय रहते नहीं समझाया गया तो हो सकता है वो आप दोनों का रिश्ता पूरी तरह से खराब कर दे। इस मामले में आप दोनों बस हाथ मिला लें। 

आपस में नहीं झगड़ेंगी-

अब जब बाई की हरकतों के बारे में आप दोनों जान ही गए हैं तो अब एक वादा कीजिए कि एक दूसरे से किसी भी तरह का मतभेद आप लोग नहीं रखेंगी। आप लोग फिलहाल मिल कर रहेंगी। इससे होगा ये कि बाई आप दोनों के बीच आग लगाने की कितनी भी कोशिश कर ले आप दोनों पर इसका कोई फर्क नहीं पड़ेगा। 

बाई को दिखाएं आप दोनों हैं साथ-

आप दोनों साथ हैं, ये बात एक दूसरे को ही नहीं बल्कि बाई को भी दिखाएं। ऐसा करने के लिए आप दोनों कीजिए ये कि बाई जब भी बुराई करे, उसके साथ आप भी बुराई न करने लगें। आप दोनों ही ऐसी स्थिति में उसको डांट दें या ऐसा न करने के लिए कह दें। शुरुआत में इन्हीं हरकतों से उसको समझ आ जाएगा कि आप दोनों से ही एक दूसरे की बुराई नहीं करनी है। ऐसा किया तो आप दोनों को बुरा लगेगा और उसके हाथ से काम भी चला जाएगा। 

बाई से करनी होगी बात-

इतना कुछ किए जाने के बाद भी बाई अपनी गलतियों से बाज नहीं आ रही है तो अब बारी है कि बाई को सामने से बातें समझाई जाएं। उसे बताया जाए कि उसकी हरकतों के बारे में आपको पता है। आप दोनों इस गलती को अब और गलती नहीं मानेंगी बल्कि उसको काम से हटाने की सोच रही हैं। इस बात का पता चलने के बाद हो सकता है कि बाई खुद में सुधार करे। वो समझे कि उसकी आदत बिलकुल भी अच्छी नहीं है। बाई को परिवार में बढ़ती खटास के बारे में बताया जा सकता है। बाई को बताइए, जिस बात को वो गॉसिप की तरह ले रही है, दरअसल वो बड़ी समस्या है। इससे घर में लड़ाई हो रही है और जो परिवार के भविष्य के लिए अच्छा नहीं है। 

बाई मानेगी नहीं-

ये बात बिलकुल सही है कि बाई बिलकुल भी अपनी गलती नहीं मानेगी। या फिर ऐसे दिखाएगी मानो उसने इस बात पर ध्यान ही नहीं दिया है। बस ये सब गलती से होता चला गया। इस वक्त आपको वो किस्से बताने होंगे जिनकी वजह से आप सास बहू के बीच लड़ाइयां हुईं। तब उसने क्या सुना था और फिर क्या बताया था। ये सब उसे जरूर बताएं। इस तरह सारा सच सामने आ जाएगा। 

आपकी गलती-

इस पूरे मामले में आपकी भी गलती हो सकती है। गलती ये कि जब बाई बाकी मोहल्ले की बातें आप लोगों को बताती थी, तब आप लोग उन बातों को सुन कर खुश हो जाती थीं और खूब इंजॉय भी करती थीं। तब तक सब सही था क्योंकि कोई भी बात आपके घर तक नहीं आई थी। अब जब मामला आपके घर तक आ गया है तो आपको बुरा लग रहा है। अब ऐसे में ये जरूरी है कि आप बाई को आगे से बाकी लोगों की बातें आसे बताने से मना कर सेन। कह दें कि अब वो आपसे बाहर की बातें भी न बताएं। 

 

रिलेशनशिपसंबंधी यह लेख आपको कैसा लगा?अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com

ये भी पढ़ें-

रूद्राक्ष में स्वयं विद्यमान हैं देवादिदेव महादेव

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

बाई कंट्रोल-...

बाई कंट्रोल- डॉमिनेटिंग बाई कर देगी मानसिक...

कभी भी समय प...

कभी भी समय पर नहीं आती है बाई तो ऐसे 'ऑन...

Husband Cont...

Husband Control Tips: ममाज़ बॉय है हसबैंड,...

आप दोनों के ...

आप दोनों के बीच तीसरा क्यों अड़ाए टांग

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

चित्त की महत...

चित्त की महत्ता...

श्री गुरुदेव की कृपा के बिना कुछ भी संभव नहीं। अध्यात्म...

तुम अपना भाग...

तुम अपना भाग्य फिर...

एक बार ऐसा हुआ कि पोप अमेरिका गए, वहां पर उनकी कई वचनबद्घताएं...

संपादक की पसंद

शांति के क्ष...

शांति के क्षण -...

मानसिक शांति के अत्यन्त सशक्त क्षण केवल दुर्बल खालीपन...

सुख खोजने की...

सुख खोजने की कला...

एक महिला बोली : मुनिश्री! मैं बड़ी दु:खी हूं। यों तो...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription