अनोखे और अद्भुत हैं  विश्व के ये म्यूजियम

सुशील सरित

26th March 2021

म्यूजियम हमेशा से ही आकर्षण का केंद्र रहे हैं। इतिहास को अपने में समेटे ये संग्रहालय रोमांच और ज्ञान से भरे होते हैं। लेकिन देश-विदेश में कुछ ऐसे अनोखे और अजब-गजब म्यूजियम भी हैं, जो हमारी कल्पनाओं से भी परे हैं।

अनोखे और अद्भुत हैं  विश्व के ये म्यूजियम

आपने कई ऐसे म्यूजियम देखे होंगे, जो हमारी संस्कृति, सभ्यता और देश का इतिहास बयां करते हैं। इसके अलावा भी विश्व भर में कई ऐसे म्यूजियम हैं, जो अपने अनोखेपन के कारण प्रसिद्ध हैं और अपने आप में अद्भुत हैं। आइए, कुछ ऐसे ही विश्व प्रसिद्ध म्यूजियम की चर्चा करते हैं-

लीलाज हेयर म्यूजियम इन इन्डिपेन्डेन्स- यूनाइटेड स्टेट्स

यूनाइटेड स्टेट्स के मिसूरी नगर में लीला के हेयर म्यूजियम इन इंडिपेंडेंस में मानव बालों से निर्मित हजारों तरह की मालाएं और आभूषण, जो विक्टोरिया काल में बेहद लोकप्रिय थे, संग्रहित किए गए हैं। अनेक प्रसिद्ध व्यक्तियों के बालों का संग्रह भी यहां किया गया है, जिनमें क्वीन विक्टोरिया के बाल भी शामिल हैं।

सिनिस्टर (टॉर्चर) म्यूजियम- एमस्टरडम नीदरलैंड

यूरोप में जनता के सामने अपराधियों, चुड़ैल घोषित की गई महिलाओं और राजनैतिक बंदियों को पूछताछ और अपराध कबुलवाने के लिए यंत्रणा देने के लिए, एक समय ऐसे नए-नए यंत्र ईजाद किए गए थे, जिनको देखकर ही शरीर में झुरझुरी हो उठती है। कीलों वाली कुरसियां, बलि देने वाली तलवार आदि ऐसे 40 यंत्रणा- यंत्रों को इस (टॉर्चर) म्यूजियम में एकत्र किया गया है। साथ ही आधुनिक यंत्रणा देने के वे तरीके, जो 100 से अधिक देशों में आज भी प्रचलित हैं, उनका भी परिचय यहां उपलब्ध है। संयुक्त राष्ट्र संघ की यंत्रणा देने के विरुद्ध धारणा का यह समर्थन करता है।

मलाका म्यूजियम आफ इंड्यूरिंग ब्यूटी- मलेशिया

सुंदरता को चार-चांद लगाने के लिए कौन-कौन से तरीके समय-समय पर अपनाए गए, उनका आनंद लेना है, तो मलेशिया के मलाका म्यूजियम आफ इंड्यूरिंग ब्यूटी की सैर करनी पड़ेगी, जहां सारे विश्व में इस्तेमाल किए जाने वाले सौंदर्यवर्धक प्रसाधनों, आभूषण और परंपराओं को विस्तार से प्रदर्शित और विश्लेषित किया गया है।

फ्यूनरल कैरिएज म्यूजियम- बर्सिलोना

मृत्यु और अंतिम संस्कार की चर्चा से आमतौर पर बचा ही जाता है। किंतु अंतिम संस्कार में प्रयोग होने वाली वस्तुओं, खासकर अंतिम संस्कार स्थल तक शव को पहुंचाने वाले वाहनों का संग्रह देखना है, तो बर्सिलोना के फ्यूनरल कैरियर म्यूजियम की ओर रुख करना ही पड़ेगा। तेरह अत्यंत सुंदर अंतिम संस्कार वाहन और छ: बग्घियां यहां का विशेष आकर्षण हैं।

फैलोलॉजिकल म्यूजियम- रेकजाविक

मछलियों, जानवरों से लेकर इंसानों तक के लिए अनोखा संग्रह यूरोप के बर्फ और अग्नि की भूमि कहे जाने वाले आइसलैंड नामक देश की राजधानी रेकजाविक के फैलोलॉजिकल म्यूजियम में किया गया है। सन 1990 में निर्मित इस म्यूजियम में व्हेल का 67 इंच अग्रभाग वाला पुरुष यौनांग, हाथी और तमाम समुद्री जीवों के पुरुष यौनांग भी मौजूद हैं।

द मोमो टूकू इंस्टेंट रामन म्यूजियम- जापान

मैगी नूडल्स बेशक आज बेहद लोकप्रिय हों, लेकिन बहुत कम लोगों को मालूम होगा कि इसकी इजाद सन् 1958 में जापान में हुई थी और वहीं सारे विश्व के 800 प्रकार के नूडल्स की वैरायटी ओसाका के द मोमो टूकू एन्डो इन्स्टैंट रामन म्यूजियम में देखी जा सकती हैं।

द ममी म्यूजियम- गुआनाजुआटो, मेक्सिको

मिश्र की ममी जैसी सैकड़ों ममियों का विशाल खजाना मेक्सिको के गुआनाजुआटो के द ममी म्यूजियम में मौजूद है। किंतु यह मिश्र की ममियों से कुछ भिन्न है, क्योंकि इनका संरक्षण अलग तरीके से किया गया है। यह सारी ममियां गुआनाजुआटो वासियों की ही हैं। यहां विश्व की सबसे छोटी ममी भी मौजूद है। 

म्यूजियम आफ सेक्स- न्यूयार्क

2002 में, न्यूयार्क में बना म्यूजियम आफ सेक्स  विश्व में अपनी तरह का अनोखा ही म्यूजियम है। सेक्स से संबंधित 1500 मानव निर्मित कलाकृतियां, चित्र, परिधान और ऐतिहासिक स्मृतियां संरक्षित हैं। सेक्स अर्थात कामुकता का इतिहास, विकास एवं सांस्कृतिक महत्व के साथ-साथ, मानवीय कामुकता पर भी यहां काफी सामग्री उपलब्ध है।

कैनकन्स अन्डरवाटर म्यूजियम- मेक्सिको

सन् 2009 में जल का स्वर्ग कहे जाने वाले कैनकन और इस्ला म्यूजर्स द्वीप के मध्य बने संसार के इस विशालतम अंडरवाटर म्यूजियम का हर वर्ष 750,000 से ज्यादा सैलानी आनंद लेते हैं। यहां संग्रहित 500 मूर्तियों में ज्यादातर, ब्रिटिश मूर्तिकार जैसन डी कैरीयस द्वारा निर्मित मूर्तियां हैं और शेष मूर्तियों का निर्माण स्थानीय मैक्सिकन मूर्तिकारों द्वारा किया गया है। उन्हें ग्लास बॉटम वोट से ही देखा जा सकता है।

इन्टरनेशनल स्पाई म्यूजियम- वॉशिंगटन

वॉशिंगटन के इंटरनेशनल स्पाई म्यूजियम में जासूसी में काम आने वाले विश्व भर के उपकरणों को एकत्र किया गया है । यहां आप लिपस्टिक पिस्टल (मृत्यु का चुंबन) जिसे केजीबी की महिला जासूसों द्वारा  शीत युद्ध के मध्य प्रयोग किया जाता था, मिनी स्पाई कैमरा और जेम्स बॉन्ड की कार के रूप में गोल्ड फिंगर फिल्म में प्रयोग की गई एस्टोन मार्टिन डीबी कार का दीदार कर सकते हैं।

टायलेट म्यूजियम

पालम दिल्ली मार्ग, महावीर एनक्लेव, स्थित टॉयलेट म्यूजियम में हड़प्पा युग से लेकर विभिन्न काल तक के टॉयलेट का विशालतम संग्रह किया गया है। विक्टोरिया काल के रंग-बिरंगे शौचालय और साथ ही आधुनिक विश्व के शौचालय, इलेक्ट्रॉनिक और चीन के टॉय कमोड यहां के विशेष आकर्षण हैं।

कल्पना से परे ऐसे म्यूजियमों में भारत का कोलकाता म्यूजियम, जर्मनी का ब्रेड कल्चर म्यूजियम, कोलंबिया का म्यूजियम आफ गोल्ड आदि कई उल्लेखनीय म्यूजियम देश-विदेश में अपनी उपस्थिति दर्ज कराते हैं।

यह भी पढ़ें -इन राज्यों में है ट्रेवलिंग का प्लान, तो लेना न भूलें फूड एक्सपीरियेंस

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

विश्व के सात...

विश्व के सात महान आश्चर्य

पद्म पुरस्का...

पद्म पुरस्कार विजेता 29 नारी शक्ति

स्मार्ट किचन...

स्मार्ट किचन के लिए अपनाएं ये लेटेस्ट किचन...

अपने आशियाने...

अपने आशियाने को सजाने के कुछ अनोखे आइडियाज...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

घर पर वाइट ह...

घर पर वाइट हैड्स...

वाइट हैड्स से छुटकारा पाने के लिए 7 टिप्स

बच्चे पर मात...

बच्चे पर माता-पिता...

आपकी यह कुछ आदतें बच्चों में भी आ सकती हैं

संपादक की पसंद

तोहफा - गृहल...

तोहफा - गृहलक्ष्मी...

'डार्लिंग, शुरुआत तुम करो, पता तो चले कि तुमने मुझसे...

समझौता - गृह...

समझौता - गृहलक्ष्मी...

लेकिन मौत के सिकंजे में उसका एकलौता बेटा आ गया था और...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription