क्या है रीजेनरेटिव ट्रैवल और क्यों है ये आम ट्रैवल से ज्यादा टिकाऊ

मोनिका अग्रवाल

30th April 2021

लम्बे इंतजार के बाद अगर कहीं ट्रैवलिंग का प्लान कर रहे हैं तो इस दिनों रीजेनरेटिव ट्रैवल का काफी चलन में है। कोरोना महामारी के बीच आप इस तरह के ट्रैवेल से पूरी तरह सुरक्षित रह कर प्रकृति के बीच अच्छा समय बिता सकते हैं।

क्या है रीजेनरेटिव ट्रैवल और क्यों है ये आम ट्रैवल से ज्यादा टिकाऊ

क्या है रीजेनरेटिव ट्रैवल

 

अभी ना सिर्फ हम बल्कि पूरी दुनिया ही महामारी की चपेट में है। कोरोना महामारी ने दुनिया भर के पर्यटन के उद्योग को अपनी चपेट में ले लिया है। लेकिन बात अगर यात्रा की करें तो कोरोना महामारी के दौर में भी इसमें कई तरह के बदलाव देखने को मिल रहे हैं। इस समय रीजेनरेटिव ट्रैवल का काफी ट्रेंड है। हम में से कई लोग हैं जो इस तरह के ट्रैवेल से रूबरू नहीं होंगे। लेकिन इसे एक टिकाऊ ट्रैवल भी माना जा रहा है। क्या है रीजेनरेटिव ट्रैवल और क्यों है ये आम ट्रैवल से ज्यादा टिकाऊ, वो भी कोरोना की इस महामारी के बीच। चलिए जानते हैं।

आर्ट ऑफ इम्प्रूवमेंट-

जी हां अगर इसे ट्रैवेल में सुधार की कला के नजरिये से देखा जाए तो गलत नहीं होगा। रीजेनरेटिव ट्रैवल उसी का एक विस्तार है। जिसमें पर्यटन विकसित होता है । इसलिए जब भी आप एक स्थायी यात्रा करने के लिए खुद को तैयार कर हैं तो इस तरह का ट्रैवेल किसी भी तरह की गड़बड़ी से बचाता है। इस तरह के ट्रैवेल से नेचर को भी किसी तरह का कोई नुकसान नहीं होता। इससे प्रकृति भी खुश रहती है। अगर आप रीजेनरेटिव ट्रैवेल की तैयारी में हैं तो, बेहतर तरीके से काम करके आप कुछ इम्प्रूवमेंट करें। ताकि खुशनुमा प्रकृति के बीच आप भी खुद को खुश महसूस करा पाएं। इससे आप और हम एक नई दुनिया की कल्पना कर सकते हैं।

 

छुट्टी के मूल्यों का होगा एहसास-बात रीजेनरेटिव ट्रैवेल की हो रही है तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इससे जुड़ी एक वेबसाइट भी है। जिसमें खूबसूरत जगहों का भी उल्लेख है। जहां आप अपनी छुट्टियों को अच्छे से मना सकते हैं। इस जगह पर आपको इस बात का एहसास भी होगा कि आपकी चित्तियों का असल मूल्य क्या है। आप खुद को नेचर के बीच महसूस करते हैं। जहां एक इको-फ्रेंडली घर, आपसी जुड़ाव, पर्यावरण से जुड़ी चहल कदमी आपको एक अलग ही अनुभव कराएगी। देखा जाए तो आप ऐसी जगहपर छुट्टी मनाते हैं तो आपको रीजेनरेटिव ट्रैवेल का फैसला भी काफी काबिले तारीफ़ है।

ट्रेंडी ही रीजेनरेटिव ट्रैवेल- जी हां महामारी के इस दौर में रीजेनरेटिव ट्रैवेल काफी ट्रेंड में है। जो लोग कहीं भी जाने का प्लान नहीं कर पाए वो लोग अब अब रीजेनरेटिव ट्रैवेल की ओर ज्यादा इंटरेस्ट ले रहे हैं। इसके आलावा कई टूर एजेंसी, वेबसाइट और ऑपरेटर भी ऐसे हैं, जो रीजेनरेटिव ट्रैवेल को काफी बढ़ावा दे रहे हैं।  जिससे आप एक अच्छा और यादगार ट्रैवेल कर सकें। और दुनिया भर की चीजों को जानने में निवेश करें। लेकिन इस ट्रेंड के बीच आपको ये भी जानना जरूरी है कि वास्तव में आपको जिस जगह की तलाश है वो वैसी है भी या नहीं। आप रीजेनरेटिव ट्रैवेल के लिए थोड़ा सर्च भी कर सकते हैं।

महामारी ने लगाया फुलस्टॉप- ट्रैवल की बात करें तो कोरोना महामारी ने इस उद्योग पर पूरी तरह से फुलस्टॉप लगा दिया है। जो काफी निराशाजनक है। अगर हमें ट्रैवेल उद्योग की वापसी लानी है तो सबसे पहले ये जानना भी जरूरी होगा कि इसे किस तरह से और भी बेहतर बनाया जा सकता है। हालंकि ऊंचा सोचना हमारी आदत है, लेकिन अगर हम अपने देश में ही रह कर रीजेनरेटिव ट्रैवेल का प्लान करें तो कुछ हद तक अपने मूड को रिफ्रेश किया जा सकता है।

रीजेनरेटिव ट्रैवेल ना सिर्फ विकेशन्स के लिए बेहतर है बल्कि कोरोना महामारी के इस दौर में आप इसे सुरक्षित तरीके से प्लान कर सकते हैं। ये पूरी तरह से स्थायी होती है। आपको कहीं भटकना नहीं पड़ेगा और ना ही आपको कहीं भी किसी भी तरह के डर से सामना करना पड़ेगा। प्रकृति के साथ इस तरह के ट्रैवेल से आपको कुछ अलग ही अनुभव होगा जो जरूरी भी है। अगर आपको भी अब लम्बा समय हो गया है घर से बाहर निकले हुए तो, आप भी रीजेनरेटिव ट्रैवेल का विकल्प चुन सकते हैं।

यह भी पढ़ें-

वास्तु अनुसार घर में करें कुछ बदलाव और लायें खुशियों की सौगात

कहीं आप गलत दिशा में तो खाना नहीं पकातीं

 

 

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

बच्चे के साथ...

बच्चे के साथ यात्रा करते समय ध्यान रखें ये...

ऑनलाइन डॉक्ट...

ऑनलाइन डॉक्टर से सलाह लेने के क्या क्या फायदे...

क्या कोविड 1...

क्या कोविड 19 के दौरान 6 फीट की सामाजिक दूरी...

कोरोना और आप...

कोरोना और आपके बीच सुरक्षा की दीवार है 'फेस-मास्क',...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

बरसाती संक्र...

बरसाती संक्रमण और...

बारिश में भीगना जहां अच्छा लगता है वहीं इस मौसम में...

खाओ लाल और ह...

खाओ लाल और हो जाओ...

 इसी तरह 'जिनसेंग' जिसके मूल का आकार शिश्न जैसा होता...

संपादक की पसंद

ककड़ी एक गुण ...

ककड़ी एक गुण अनेक...

हममें से ज्यादातर लोग गर्मियों में अक्सर सलाद या सब्जी...

विटामिनों की...

विटामिनों की आवश्यकता...

स्वस्थ शरीर के लिए विटामिन बहुत आवश्यक होता है। इनकी...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription