किचन की साफ-सफाई से दूर रहेगा कोविड-19 संक्रमण और मधुमेह

Priyanka Verma

7th April 2021

किचन की सफाई सबसे ज़्यादा ज़रूरी है क्योंकि वहां पर तैयार होने वाले खाने की गुणवत्ता पर घर के सभी सदस्यों की सेहत निर्भर करती है। कोविड-19 संक्रमण के इस दौर में किचन और बाहर से लाये गए सामान की साफ-सफाई पर विशेष ख्याल रखने की ज़रूरत है ताकि बाहर से कोई वायरस घर पर न आ जाए। वैसे किचन की सफाई करने से सेहत से जुड़े ऐसे कई और भी फायदे हैं जो शायद आपको न पता हो तो आइए आज हम आपको ऐसे ही कुछ और सफाई के फायदों के बारे में बताएं--

किचन की साफ-सफाई से दूर रहेगा कोविड-19 संक्रमण और मधुमेह

एक रिपोर्ट के मुताबिक ये कहा गया है कि जो लोग ज्यादा साफ वातावरण में रहते हैं उन लोगों के शरीर में कोर्टिसोल नामक स्टेरॉयड का स्तर कम हो जाता है। यह स्टेरॉयड शरीर में ब्लड शुगर की मात्रा के लिए जिम्मेदार है इसी में कमी या बढ़ोत्तरी के कारण डायबिटीज होती है।

सिंक में थोड़ा सा बेकिंग सोडा छिड़कें और नींबू को एक स्क्रबर के रूप में इस्तेमाल करें। नींबू से सफाई करने पर सिंक में चमक के साथ बैक्टीरिया भी खत्म हो जाएंगे। अगर सिंक स्टील का है तो उसमें चमक लाने के लिए बेकिंग सोडा का प्रयोग करें। एक अध्ययन में पाया गया है कि जो शख्स सप्ताह में कम से कम 20 मिनट सफाई में खर्च करते हैं, उनका मानसिक तनाव घटता है। साथ ही, वे लोग ज्यादा पौष्टिक भोजन को प्राथमिकता देने लगते हैं।

अगर किचन की सिंक में बहुत ज़्यादा समय तक बचा हुआ खाना पड़ा रहता है तो इससे वातावरण में नमी होने लगती है और किचन सिंक में तेजी से बैक्टीरिया बनने लगता है। इसके लिए ज़रूरी है कि अच्छी क्वॉलिटी का कीटाणुनाशक का इस्तेमाल कर रोज़ाना किचन सिंक की सफाई करें। खाना बनाते समय या किचन की सफाई करते समय इस बात का ध्यान ज़रूर रखें कि सिंक में पानी न भरें और रसोई को नमी से भी बचाएं।

यह भी पढ़ें -क्या आप जानते हैं कि जंक फूड असल में होता क्या है

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

Gl ban 65w

घर पर ऐसे बनाएं ड्राई शैम्पू, नहीं पड़ेगी...

अपना- अपना आ...

अपना- अपना आसमान - गृहलक्ष्मी कहानियां

चक्रव्यूह मे...

चक्रव्यूह में फंसी औरत - गृहलक्ष्मी कहानियां...

इस दिवाली कर...

इस दिवाली करें रोशन जरूरतमंदों का घर-आंगन...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

चित्त की महत...

चित्त की महत्ता...

श्री गुरुदेव की कृपा के बिना कुछ भी संभव नहीं। अध्यात्म...

तुम अपना भाग...

तुम अपना भाग्य फिर...

एक बार ऐसा हुआ कि पोप अमेरिका गए, वहां पर उनकी कई वचनबद्घताएं...

संपादक की पसंद

शांति के क्ष...

शांति के क्षण -...

मानसिक शांति के अत्यन्त सशक्त क्षण केवल दुर्बल खालीपन...

सुख खोजने की...

सुख खोजने की कला...

एक महिला बोली : मुनिश्री! मैं बड़ी दु:खी हूं। यों तो...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription