भारत में दुल्हनों का कांचीपुरम सिल्क साड़ी पहनना क्यों है महत्वपूर्ण

मोनिका अग्रवाल

8th April 2021

दक्षिण भारतीय दुल्हनों में सबसे लोकप्रिय कांचीपुरम साड़ी है। साड़ी का रंग और उसकी डिज़ाइन लुक को और भी निखार देती है। कांचीपुरम साड़ी के बारे में आपको जानकारी भी होनी जरूरी है।

भारत में दुल्हनों का कांचीपुरम सिल्क साड़ी पहनना क्यों है महत्वपूर्ण

कहते हैं एक दुल्हन का लुक उसके ऑउटफिट से पूरा होता है। ऑउटफिट ऐसा होना चाहिए जिसे देखकर सबकी निगाहें बस दुल्हन पर ही टिक जाएं। हम ऐसे देश हिस्सा हैं जहां अलग अलग बोलियां बोली जाती हैं। जितनी तरह की बोलियां, उनके उतने ही तरह के परिधान और पहनावे। जहां शादी करने के तौर तरीके और रीति रिवाज भी एक दूसरे से काफी अलग होते हैं। बात दुल्हन के परिधान की होती है तो उसमें कई तरह के पहनावे हमारे देश में देखने को मिलते हैं। लहंगे, सूट और साड़ी ये तीन ऐसे परिधान हैं जो एक दुल्हन अपनी शादी के दिन चुनती हैं। बात साड़ी की करें तो भारतीय परिधानों की शान सिल्क साड़ी, भारत की दुल्हनों के लिए सबसे ज्यादा खास होती है। साड़ी कांचीपुरम सिल्क की हों, तो दुल्हन की खूबसूरती में चार चांद लग जाएगा। लेकिन हर किसी को कांचीपुरम सिल्क की पहचान हो ऐसा कोई जरूरी नहीं है। आज का हमारा ये खास लेख इसी विषय पर आधारित है, जहां आपको ब्राइडल कांचीपुरम सिल्क की साड़ी के बारे में जानकारी मिलेगी।

  1. क्या है इतिहास- कांचीपुरम साड़ियों का फैशन काफी पुराना है। ये कभी आउट ऑफ़ फैशन नहीं हो सकता। इसका उल्लेख हिन्दू पौराणिक कथाओं में देखने और सुनने को मिलता है। कांची रेशम के बुनकरों के इतिहास की बात करें तो इसे सिल्क की साड़ियों में से एक मानी जाती है। इसे प्योर रेशम के धागों से बनाया ज्जाता है। ये इतिहास की ऐसी विरासत है जिसे आब तक संजोया गया है। दुल्हन को जब भी साड़ी पहननी है तो उसमें रेशम वर्क जरुर होना चाहिए। जिसे बड़ी से बड़ी सेलेब्रिटी भी अपने खास दिन यानि की शादी में पहने दिखी हैं। जो वाकई में काफी खूबसूरत लगती है।

  1. खास बुनाई-बात कांचीपुरम सिल्क साड़ियों की करें तो इनकी बुनाई खास तौर पर दक्षिण भारत और गुजरात के जरी और रेशम के धागे के इस्तेमाल से की जाती है। जिसके बाद इसे तीन बुर्जों का इस्तेमाल करके हाथों से बुना जाता है। वहीं बात जब साड़ी के बॉर्डर की करें तो इसे अलग से बुना जाता है। कांचीपुरम सिल्क की साड़ियों की सबसे खास और अनूठी बातों में से एक है तो इस साड़ी को दुल्हन के लिए एक पसंदीदा साड़ी है।

  1. डिजाइन भी है खास- कांचीपुरम सिल्क की साड़ियों का जब भी जिक्र होता है, तो एक जानकार और व्यापारी इस साड़ी की शान और भव्यता को सबसे अच्छे तरीके से जोड़कर रखते हैं।  ये एक पारम्परिक साड़ी है, जो अपनी डिजाइन में विरासत और धरोहर को समेटे हुए है। जिसमें फूलों की आकृति के साथ सुंदर रंगों का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें जरी का काम इसकी खूबसूरती के साथ चमक,क्लास और ग्रेस बढ़ाती है।

  1. कुछ तो है खास- कांचीपुरम सिल्क की साड़ी का विस्तार तमिलनाडु के एक छोटे से गांव कांचीपुरम से हुआ। जो धीरे धीरे ना सिर्फ देश बल्कि पूरी दुनिया में लोकप्रिय हो गयी। इसकी बनावट , बुनाई, बॉर्डर की विशेषता ही ऐसी है कि आप इसे किसी भी अवसर पर पहन सकती हैं। वहीं अगर दुल्हन अपनी शादी के दिन कांचीपुरम सिल्क की साड़ी पहने तो उनका ये दिन यादगार बन जाएगा।  

  1. इन बातों का भी रहे ख्याल- सिल्क की साड़ियाँ हर अवसर के लिए सटीक होती हैं। अगर आप भी दुल्हन हैं और कांचीपुरम सिल्क की साड़ी को पहनने का प्लान कर रही हैं तो आपको कुछ बातों का खास ख्याल रखना होगा। ये बातें कौन सी हैं चलिए जान लेते हैं।

  • कैसे चुने ब्राईडल कलर्स- कांचीपुरम सिल्क की साड़ियां ज्यादातर कई रंगों में मिल जाएगी लेकिन, दुल्हन के लिए सही रंग का चुनाव कैसे करें, इसकी जानकारी होनी बेहद जरूरी है। आप मौसम के हिसाब से रेड, पिंक और येलो जैसे बोल्ड रंगों का चुनाव करें। साथ ही अगर आप गोल्डन से लेकर सुर्ख लाल एंग या डार्क ब्लू रंग का चयन कर सकती हैं। दुल्हनों की कांचीपुरम सिल्क की साड़ी पहली पसंद होती है, इसमें कोई शक नहीं है। आप दीपिका पादुकोण की तरह अच्छे रंगों का चयन कर अच्छा लुक क्रिएट कर सकती हैं।

  • साथ में कैसी हो ज्वेलरी- आप कांचीपुरम सिल्क की साड़ियों को एक ट्रेडिशनल लुक देने के लिए अच्छे डिजाइन की ज्वेलरी पहनें। आप गोल्ड सेट पहनेंगी तो इसकी शोभा और भी बढ़ जाएगी। अगर आप दुल्हन हैं तो आपको ऐसी ज्वेलरी का चयन करें जिस पर आपकी साड़ी की खूबसूरती और भी उभरकर सामने आये। साथ ही सादी में वर्क कैसा है उस हिसाब से भी ज्वेलरी का चयन करें।

  • कैसा हो ब्लाउज-कांचीपुरम सिल्क की साड़ी काफी महंगी होती है। ऐसे में अगर ब्लाउज का पेयरअप खराब हुआ तो पूरी साड़ी का लुक बर्बाद हो जाती है। आप इस साड़ी के साथ ट्रेडिशनल तरह से ही ब्लाउज को पेयर करें। आप मेगान वर्क के डिजाइन का चयन कर सकती हैं। साथ आप इसे थोड़ा सा बोल्ड लुक देने के लिए इसकी नेक स्टाइल में कुछ अच्छा स्टाइल जोड़ सकती हैं।

कांचीपुरम सिल्क की साड़ी के बिना भारत की दुल्हन की खरीददारी पूरी नहीं होती। इसे पहनने के बाद दुल्हन के लुक में चार चाँद लग जाते हैं। इसके अलावा आप इस साड़ी को एक ट्रेडिशनल लुक भी दे सकती हैं। जिसे आप जितनी बार पहनेंगी उतनी ही बार बेहद खूबसूरत दिखेंगी। अगर आप ऑनलाइन सिल्क की साड़ियां खरीद रही हैं तो इस बात को जरुर सुनिश्चित कर लें कि आप किसी गाइड या जानकार की मदद जरुर लें।

यह भी पढ़ें-

दुल्हन के लिए ब्रा से लेकर पैंटी का हर अंदाज हो खास

सलवार कमीज में अधिक आकर्षक कैसे दिखें

फैशन संबंधी हमारे सुझाव आपको कैसे लगे? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेेजें। आप फैशन संबंधी टिप्स व ट्रेंड्स भी हमें मेल कर सकते हैं- editor@grehlakshmi.com

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

अगर आपकी हाइ...

अगर आपकी हाइट कम है तो पहने ये ड्रेसेस

भारतीय परिधा...

भारतीय परिधानों की शान सिल्क साड़ी

साथ में आर्ग...

साथ में आर्गेज्म कैसे करें: 5 टिप्स

वजन घटाने के...

वजन घटाने के लिए आसान और सरल 20 उपाय

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

चित्त की महत...

चित्त की महत्ता...

श्री गुरुदेव की कृपा के बिना कुछ भी संभव नहीं। अध्यात्म...

तुम अपना भाग...

तुम अपना भाग्य फिर...

एक बार ऐसा हुआ कि पोप अमेरिका गए, वहां पर उनकी कई वचनबद्घताएं...

संपादक की पसंद

शांति के क्ष...

शांति के क्षण -...

मानसिक शांति के अत्यन्त सशक्त क्षण केवल दुर्बल खालीपन...

सुख खोजने की...

सुख खोजने की कला...

एक महिला बोली : मुनिश्री! मैं बड़ी दु:खी हूं। यों तो...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription