गरुड़ पुराण के अनुसार, इन 7 चीजों को देखने से मिलता है पुण्य

Jyoti Sohi

6th June 2021

हिंदू धर्म में कई ऐसे ग्रंथ हैं जिनमें जीवन के सूत्र बताए गए हैं। इन्हीं पुराणों में से एक है गरुड़ पुराण। गरुड़ पुराण 18 पुराणों में से एक माना जाता है। इस शास्त्र के आचारकांड में नीतिसार अध्याय है। जिसमें एक मनुष्य के जीवन में आने वाली परेशानियां और सुखी जीवन जीने के लिए काफी नीतियां बताई गई हैं। गरुड़ पुराण में कुछ ऐसी चीजें बताई गई हैं, जिन्हें केवल देख लेने से ही पुण्य और लाभ की प्राप्ति होती।

गरुड़ पुराण के अनुसार, इन 7 चीजों को देखने से मिलता है पुण्य

हिंदू धर्म में कई ऐसे ग्रंथ हैं जिनमें लाइफ मैनेजमेंट के सूत्र बताए गए हैं। इन्हें अपनाकर जीवन में आने वाली परेशानियों से छुटकारा पाकर आराम से जिंदगी जी सकते हैं। इन्हीं पुराणों में से एक है गरुड़ पुराण। गरुड़ पुराण 18 पुराणों में से एक माना जाता है। इस शास्त्र के आचारकांड में नीतिसार अध्याय है। जिसमें एक मनुष्य के जीवन में आने वाली परेशानियां और सुखी जीवन जीने के लिए काफी नीतियां बताई गई हैं। इसमें कोई दोराय नहीं कि जीवन में पुण्य कमाने के लिए मनुष्य तरह.तरह के धर्म.कर्म में लगा रहता है। लेकिन गरुड़ पुराण में कुछ ऐसी चीजें बताई गई हैं, जिन्हें केवल देख लेने से ही पुण्य और लाभ की प्राप्ति होती है।

 

गोमूत्र

शास्त्रों के अनुसार, गोमूत्र में मां गंगा का वास होता है। इसे औषधि के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन गरुड़ पुराण में वर्णित है कि इसे देखने भर से मनुष्य को पुण्य की प्राप्ति होती है।

 

गोबर

गाय का गोबर शुभ माना जाता है। शास्त्रों में बताया गया है कि गाय में अनेक देवी.देवताओं का वास भी होता है। गाय के गोबर का भी बहुत महत्व है। किसी भी स्थान को पवित्र करने के लिए गाय का गोबर का प्रयोग किया जाता है। पूजा.अर्चना और मांगलिक कार्य में इस्तेमाल किया जाता है। गरुड़ पुराण के अनुसारए गाय का गोबर देखने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है। 

 

गौ दुग्ध

हर घर में गाय के दूध का इस्तेमाल होता है। गाय के दूध से कई तरह की बीमारियां दूर हो जाती हैं। साथ ही अगर मनुष्य केवल गाय को दूध देते हुए देख ले। उसे निश्चित ही शुभ फल मिलता है और पुण्य की प्राप्ति होती है।

 

गोधूली

अक्सर आपने देखा होगा गाय अपने पैरों से अपने आस पास की जगहों को साफ करती हैं या फिर पैरों से जमीन को खुरचती है। ऐसा करते वक्त जमीन से जो धूल उड़ती है उसे गोधूली कहा जाता है। इस दौरान जो धूल उड़ती है वो बेहत पवित्र है और उसे देख लेने भर से आप कई गुना पुण्य कमा सकते हैं।

 

 गौशाला

गौशाला उसे कहते हैं जहां गायों का वास होता है और जहां बड़ी मात्रा में गाय रहती हैं। गोशाला भी मंदिर के समान पवित्र और साफ माना जाता है। कहते हैं अगर इंसान हर दिन गौशाल में गायों की सेवा करे तो उससे भगवान श्री कृष्ण खुश रहते हैं।

 

गोखुर

गाय के पैरों को तीर्थ समान माना जाता है। मान्यता है कि किसी काम के लिए जाते समय गाय के पैरों को छुने से उस काम में सफलता हासिल होती है।

 

खेती

किसान दिन.रात मेहनत कर खेतों में अनाज पैदा करते हैं। खेतों में पकी खेती मन को सुकून देती हैं। गरुड़ पुराण के अनुसार, पकी खेती के दर्शन मात्र से व्यक्ति को पुण्य मिलता है।

 

 

धर्म - अध्यात्म सम्बन्धी यह आलेख आपको कैसा लगा ?  अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही  धर्म -अध्यात्म से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें- editor@grehlakshmi.com

 

ये भी पढ़े

रोगों से मुक्ति पाने की शक्ति प्रदान करता है गंगाजल, नियमित करें प्रयोग

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

कुंभ में कल्...

कुंभ में कल्पवास के दौरान किन बातों का रखें...

वैशाख माह मे...

वैशाख माह में जरूर करें यह काम, खुश होंगे...

प्रदोष व्रत ...

प्रदोष व्रत की महिमा

भगवान शिव की...

भगवान शिव की आराधना का दिन प्रदोष

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

वापसी - गृहल...

वापसी - गृहलक्ष्मी...

 बीस साल पहले जब वह पहली बार स्कूल आया था ,तब से लेकर...

7 ऐसे योग आस...

7 ऐसे योग आसन जो...

स्ट्रेस, देर से सोना, देर से जागना, जंक फूड खाना, पौष्टिक...

संपादक की पसंद

हस्त रेखा की...

हस्त रेखा की उत्पत्ति...

जिन मनुष्यों ने हस्त विज्ञान की खोज की उसे समझा और...

अक्सर पैसे ब...

अक्सर पैसे बढ़ाने...

बाई काम पर आती रहे, काम अच्छा करे और पैसे बढ़ाने की...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription