मानसिक बीमारी से जूझ रहा है पार्टनर तो ऐसे निभाएं उसका साथ

चयनिका निगम

6th June 2021

अगर पार्टनर को कोई मेंटल प्रॉब्लम है तो उसके लिए आपको ही आगे आना होगा. आपको उनका साथ देना होगा.

मानसिक बीमारी से जूझ रहा है पार्टनर तो ऐसे निभाएं उसका साथ

मानसिक परेशानियां इतनी सामान्य सी बात हो गई हैं कि इसका उम्र, जेंडर और आत्मविश्वास से भी अब कोई नाता नहीं रह गया है. सामने से कॉंफिडेंट दिखने वाला इंसान भी अब कहीं गहराई में मानसिकतौर पर परेशान हो सकता है. इस परेशानी के पैर कुछ ऐसे फ़ैल रहे हैं कि रिश्ते पर भी इसका पूरा असर होता है. कपल के बीच आईं मेंटल प्रॉब्लम तो रिश्ता ही बिगाड़ देती हैं. कोई एक भी इसकी जद में आता है तो मानिए कि दूसरा भी इसका सामना करेगा ही. अब ऐसे में ये जरूरी है कि मेंटल प्रॉब्लम का हल निकाला जाए. अपने पार्टनर के मेंटल इशू सोल्व किए जाएं. लेकिन ये इतना आसान बिलकुल नहीं होगा. जिसको मेंटल परेशानियां होती हैं, वो आसानी से इसको पहचान नहीं पाता है और मानता बिलकुल नहीं है. इसलिए ये और कठिन हो जाता है. मगर यकीन मानिए ये नामुमकिन बिलकुल नहीं है. आप ये कर सकती हैं. मेंटल प्रॉब्लम से पार्टनर को निकलने के टिप्स ये रहे-

आप पर ही असर- अगर पार्टनर को कोई भी मानसिक बीमारी है तो याद रखिए इसका असर आप पर भी होगा. मगर ये सही नहीं है. परेशानी बढ़े और आप तक भी आए तो इसको इग्नोर नहीं किया जा सकता है. अगर दोनों ही परेशान होंगे तो फिर स्थिति संभालेगा कौन. इसलिए आपको आज ही खुद को पार्टनर को संभालने के लिए तैयार करना होगा. कुछ ऐसे खुद तैयार कीजिए कि आप की मेंटल हेल्थ सही रहे. 

पता करें पहले-  पार्टनर की मेंटल हेल्थ का अंदाजा लगाने के लिए जरूरी है कि इसकी स्थिति समझी जाए. कई बार मेंटल प्रॉब्लम कुछ देर के लिए किसी मुद्दे से जुड़ी होती हैं. जबकि कई बार मेंटल प्रॉब्लम कई सारी परेशानियों की वजह से होती है और लम्बे समय तक रहती है. आपको इन दोनों में ही अंतर समझना होगा. ताकि समस्या का हल सही तरीके से निकाला जा सके. याद रखिए, इसमें लक्षण आसानी से समझ नहीं आते हैं. ये मामूली व्यवहार लगता है. 

माइंडफुल होना है जरूरी-  माइंडफुल होने का मतलब है कि आप मेंटल प्रॉब्लम से जुड़ी जानकारी जुटाएं. जानें कि कब स्थिति डिप्रेशन की होती है और कब नहीं. कुल मिलाकर आपको खुद को इस बारे में शिक्षित करना होगा. आज के समय में ये आसान भी है. इंटरनेट पर कई अच्छी वेबसाइट हैं जहां से आप सारी बातें अच्छे से समझ पाएंगी. और आपके लिए पति की मेंटल प्रॉब्लम को हैंडल करना आसान जो जाएगा. 

सुनना है जरूरी-  पार्टनर के व्यवहांर पर नाराज हो जाना आसान है लेकिन उसके अजीब बिहेवियर के बाद भी उसे सुनना आसान नहीं है. लेकिन आप आगे अपने पार्टनर से प्यार करती हैं और उसे सुधारना चाहती हैं तो आपको ये करना ही होगा. अपने पार्टनर के कहे को सुनिए जरूर. उसके बारे में जजमेंट देने से भी अच्छा है कि उसकी बातें सुनकर दुःख का अंदाजा लगाया जाए. देखिए वो किस बात से परेशान हैं और कैसे उनका मन शांत होगा. मतलब परेशानी है तो हल भी होगा. उस पर ध्यान दीजिए. 

जैसे कुछ है ही नहीं- भले ही आपके पार्टनर को मेंटल प्रॉब्लम हैं लेकिन आपको इसका असर अपने रिश्ते पर नहीं आने देना है. उन्हें मत दिखाइए कि आपको उनकी स्थिति का अंदाजा है. इसके लिए आपको अपना व्यवहार नार्मल रखना होगा. उन पर प्यार बरसाइए और अपना दोस्ती का रिश्ता भी नार्मल रखें. 

खुद को संभालें-  इस वक्त जब आप अपने पार्टनर की मेंटल हेल्थ को लेकर परेशान हैं तो खुद का ख्याल रखना भी जरूरी है. क्योंकि पार्टनर की बीमारी की टेंशन आपको भी बीमार कर सकती है. ऐसे में अपनी सारी जिम्मेदारियों को याद कीजिए. याद कीजिए कि जब पार्टनर कोई जिम्मेदारी निभाने की स्थिति में नहीं है तो आपको ही इसका भर अकेले सहना होगा. अगर अकेले सहना है तो खुद को मजबूत रखना भी जरूरी होगा. बस ये सोचते हुए खुद का ध्यान रखिए. 

परेशानी सिर्फ उसकी नहीं- पार्टनर अगर मेंटल प्रॉब्लम झेल रहा है तो उसे ये बताना भी होगा कि ये उसके अकेले की परेशानी बिलकुल नहीं है. इसका असर उस पर नहीं पूरे परिवार पर भी होगा. इसलिए उसे अपने दिल का हल तुरंत आपको बताना चाहिए ताकि फैमिली लाइफ खराब ना हो और मेंटल हेल्थ को शुरू में ही रोका जा सके. 

अपने आप नहीं होगा इलाज- पार्टनर को बताइए कि अपने आप सब ठीक होने का इंतजार करने से अच्छा है कि आप डॉक्टर से मिलें और मेंटल हेल्थ सुधार लें. पार्टनर को बताइए कि उनको बोलना ही पड़ेगा. क्योंकि ज्यादातर लोग अभी भी मेंटल प्रॉब्लम को परेशानी मानते ही नहीं हैं. जब मानते नहीं हैं तो उसके इलाज की बात तो बहुत दूर की होती है. मगर इलाज के लिए ये तरीका गलत साबित होगा.  

हेल्दी आदतें साथ-साथ- आप अपने पार्टनर के साथ कुछ अच्छी आदतें शुरू कर सकती हैं. ये वो आदतें हैं जो वो अकेले शायद ही करें. जैसे सुबह वाक करना, बैलेंस डाइट लेना और सिर्फ पॉजिटिव बातें ही करना. इन सबमें आप भी उनके साथ होंगी तो वो ऐसा निश्चित ही करेंगे और इसका असर उनकी मेंटल हेल्थ पर पड़ेगा. वो बेहतर महसूस करेंगे. 

 

रिलेशनशिप टिप्स कैसे लगे?अपनी प्रतिक्रियाएं हमें जरूर भेजें। ब्यूटी-मेकअप से जुड़े टिप्स भी आप हमें ई-मेल कर सकते हैं- editor@grehlakshmi.com

ये भी पढ़ें-  बच्चे के साथ यात्रा करते समय ध्यान रखें ये महत्वपूर्ण बातें

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

शादी के बाद ...

शादी के बाद ना करें ये 5 समझौते

करियर चॉइस न...

करियर चॉइस नहीं थी राइट?

ग्रॉसरी शॉपि...

ग्रॉसरी शॉपिंग बन जाएगी स्मार्ट शॉपिंग

ऐसी वजहें जि...

ऐसी वजहें जिसके चलते आप का सेक्स करने का...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

वापसी - गृहल...

वापसी - गृहलक्ष्मी...

 बीस साल पहले जब वह पहली बार स्कूल आया था ,तब से लेकर...

7 ऐसे योग आस...

7 ऐसे योग आसन जो...

स्ट्रेस, देर से सोना, देर से जागना, जंक फूड खाना, पौष्टिक...

संपादक की पसंद

हस्त रेखा की...

हस्त रेखा की उत्पत्ति...

जिन मनुष्यों ने हस्त विज्ञान की खोज की उसे समझा और...

अक्सर पैसे ब...

अक्सर पैसे बढ़ाने...

बाई काम पर आती रहे, काम अच्छा करे और पैसे बढ़ाने की...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription