बचना है इंफेक्शन से तो रखें पर्सनल हाइजिन का ख्याल

शिखा जैन

29th June 2021

हाइजिन, यानी साफ-सफाई हमारे लिए बहुत जरूरी है। खासकर महिलाओं को तो खासतौर पर अपनी पर्सनल हाइजिन का पूरा ख्याल रखना चाहिए। इस बात का महत्व बताता है ये लेख-

बचना है इंफेक्शन से तो रखें पर्सनल हाइजिन का ख्याल

अच्छी सेहत का एक राज पर्सनल हाइजिन भी है। किसी को भी यह बताने की जरूरत नहीं पड़नी चाहिए कि पर्सनल हाइजिन का ध्यान रखना कितना जरूरी है। बावजूद इसके अक्सर लोगों को इसके बारे में जानकारी नहीं होती है। हर महिला के शरीर में समय के साथ-साथ कई बदलाव होते हैं। पीरियड्स सर्कल से लेकर गर्भावस्था तक अनेक चीजें ऐसी होती हैं, जिनका सामना हर महिला को अपने जीवन में करना पड़ता है। ऐसे में अगर महिलाएं अपने पर्सनल हाइजिन और स्वच्छता का ख्याल नहीं रखतीं तो उन्हें संक्रमण और गंभीर बीमारियों का शिकार होना पड़ता है, इसलिए महिलाओं को अपने पर्सनल हाइजिन का हर रोज खास ख्याल रखना जरूरी होता है। कुछ हाइजिन टिप्स महिलाओं को संक्रमण और अन्य परेशानियों से दूर रखने के लिए कारगर होते हैं।

प्राइवेट पार्ट की क्लीनिंग

महिलाओं को स्वस्थ रहने के लिए अपने सभी अंगों की सफाई रखनी बहुत जरूरी है, लेकिन योनि महिला का एक बहुत सेंसटिव पार्ट होती है। इसकी सफाई के लिए कैमिकल से भरपूर उत्पादों का इस्तेमाल आपके लिए अच्छा नहीं है। योनि में एक नेच्यूरल डिस्चार्ज और तेल होता है। ये योनि को संक्रमणों से बचाने के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। दरअसल हानिकारक बैक्टीरिया और अच्छे बैक्टीरिया, दोनों महिला की योनि में एक साथ रहते हैं और जरूरी पीएच संतुलन को बनाए रखते हैं और संक्रमण से बचाते हैं। योनि में डिस्चार्ज का होना वास्तव में एक प्राकृतिक प्रक्रिया है, जिसमें योनि स्वयं अपनी सतहों को साफ करती हैं। योनि में केमिकल बेस्ड क्रीम और लुब्रिकेशन का इस्तेमाल ना करें। योनि सेल्फ लुब्रिकेटिंग होती है और इसमें प्राकृतिक नमी होती है। अगर आप इन केमिकल बेस्ड प्रॉडक्ट्स का इस्तेमाल करती हैं तो इसका पीएच लेवल और बैक्टीरिया का संतुलन बिगड़ जाता है और आपको कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। जब हम बार-बार योनि को साबुन और ऐसी किसी चीज से साफ करते हैं या धोते हैं तो उस वक्त हमें बेहतर महसूस हो सकता है, लेकिन बाद में उसी वजह से हमें परेशानी और दुर्गंध का सामना करना पड़ सकता है। योनि को साफ करने के लिए हमें गर्म पानी और एक माइल्ड साबुन का इस्तेमाल करना चाहिए। इसके अलावा महिलाओं को कभी भी अपने प्राइवेट पार्ट को पीछे से आगे की ओर नहीं धोना चाहिए। धोने के समय आपके हाथों का मूवमेंट हमेशा आगे से पीछे की ओर ही हो, ताकि संक्रमण न हो।

नेच्यूरल गंध की केयर

हर महिला में एक अनोखी प्राकृतिक खुशबू होती है। यह गंध स्वस्थ और स्वाभाविक रूप से प्रत्येक महिला के शरीर में होती है। वूमेन स्प्रे और डियोड्रेंट के उपयोग को उस गंध को कवर करने के लिए बढ़ावा दिया जाता है, लेकिन आपको पता होना चाहिए कि इसका उपयोग करने से गंध दूर नहीं होगी। हर महिला की अपनी एक निजी गंध होती है और यह बिल्कुल भी खराब नहीं होती है। यह गंध आना प्राकृतिक होता है। आप खुद को महकाने के लिए डियोड्रेंट आदि का उपयोग करती हैं, लेकिन यह आपके शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है, इसलिए नहाते समय एंटी-बैक्टीरियल वॉश का प्रयोग करें। सफाई न रखने से पसीने की बदबू आने लगती है। पसीने से निकलने वाले कैमिकल फेरामॉन्स को अगर समय-समय पर साफ न किया जाए तो वह स्मैल करने लगते हैं। इसके अलावा गंदे कपड़े पहनने से भी बदबू आती है। अगर आपको बहुत पसीना आता है और आप उसे बार-बार साफ नहीं कर पाते तो नहाने के पानी में नीबू या तुलसी की पत्तियां डालें। कुछ ही दिनों में स्मैल की दिक्कत कम होती जाएगी। पसीने की बदबू से बचने के लिए ढेर सारा परफ्यूम या डिओ इस्तेमाल कर लेने का कोई मतलब नहीं है। हां कभी-कभार बाहर गर्मी में जाने पर डिओ का इस्तेमाल करना चाहिए, लेकिन हर वक्त डिओ लगाना भी सही नहीं है।

क्लोदिंग टिप्स

पर्सनल हाइजीन का ध्यान रखें। अंडरगारमेंट्स हमेशा साफ हों। कॉटन पैंटी का इस्तेमाल करें। लंबे समय तक बाथिंग सूट को गीला ना पहने रखें। लैदर पैंट और अन्य टाइट कपड़े ना पहनें। अगर वर्कआउट के बाद आपको पसीना आ रहा हो तो अपने अंडरगारमेंट्स भी बदलें। वैसे भी हर रोज नहाएं और सारे कपड़े बदलें। खासकर अंडरगारमेंट को एक से ज्यादा बार ना पहनें। अगर किसी दिन नहाने का मूड नहीं है तो भी अपने अंडरगारमेंट्स को जरूर बदलें। बहुत ज्यादा टाइट कपड़े ना पहनें।

भोजन और स्वच्छता

आप शायद नहीं जानते होंगे कि आप जो कुछ भी खाते या पीते हैं, उसका सीधा असर आपके हाइजिन पर भी पड़ता है जैसे कि अगर आप जंक फूड और तला-भुना, नॉनवेज आदि खाते हैं तो उससे आप खुश महसूस कर सकते हैं, लेकिन इससे आपकी इंटरनल बॉडी पर असर पड़ता है। इसका असर आपके शरीर से निकलने वाले पसीने और डिस्चार्ज की गंध पर भी पड़ता है। ताजे और स्वस्थ खाद्य पदार्थ, बहुत सारे पानी से आप अपने प्राकृतिक पीएच को बनाए रखेंगे और फिर आप महकते रहेंगे, इसलिए बासी खाना खाने से बचें। ज्यादा मिर्च-मसाले वाला खाना खाने से भी गैस बनती है और पेट गड़बड़ होता है तो बदबू भी आती है, इसलिए अपने खान-पान का ध्यान रखें।

प्रेगनेंसी के दौरान रखें साफ-सफाई का ख्याल

प्रेगनेंसी के दौरान भी महिला को अपनी सफाई का भरपूर खयाल रखना चाहिए। प्रेगनेंसी में भोजन की स्‍वच्‍छता का भी पूरा ध्‍यान रखना चाहिए। एक बार खाने के बाद दोबारा उस भोजन को गरम करके खाने की बिल्‍कुल भी ना सोचें। कच्‍ची सब्जियों को बिल्‍कुल ना खाएं। ऐसी स‍ब्जियों में बैक्‍टीरिया और अन्‍य प्रकार के रोगाणु होते हैं। अगर आप मांसाहारी हैं तो मीट, मटन और मछली को भली प्रकार से पकाएं, जिससे इनकी त्‍वचा में पनप रहे जीवाणु अच्‍छी तरह से नष्‍ट हो जाएं। सूप बनाते समय सब्जियों को अच्‍छी प्रकार से धोकर ही उबालें। इस बात का ध्यान अवश्य रखें कि आप जो कुछ भी खा रही हैं, उसका सीधा असर आपके बच्चे पर पड़ रहा है, इसलिए खाने में स्वच्छता का पूरा ध्यान रखें।

इसके साथ ही आपको अपने हाथ और पैरों की सफाई का भी खास ख्याल रखना चाहिए। इसे आप पार्लर की जगह घर बैठे भी कर सकती हैं। सारे काम हाथों से शुरू होते हैं, इसलिए उसका साफ रहना बहुत जरूरी है, ताकि वह गंदगी पेट में जाकर बच्चे को नुकसान ना पहुचाए। कहीं बाहर आने-जाने पर हैंड सेनिटाजर भी साथ रखें। अपने बालों और त्वचा की सफाई भी अच्छे से करें। त्वचा में नमी बनाए रखें, पर बाथटब में नहाने से बचें।

प्रेगनेंसी में अपने दांतों की भी देखभाल करें। प्रेगनेंसी के दौरान दांतों की सफाई को बिल्‍कुल भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। इस दौरान मुंह स्वस्थ बनाए रखने के लिए दिन में दो बार हल्के ब्रश से धीरे-धीरे ब्रश करना चाहिए। हर बार खाने के बाद मुंह की अच्छे से सफाई करें। अगर आपको माॄनग सिकनेस की समस्‍या है तो ब्रश करने में समस्या होने पर हल्के टेस्ट वाले टूटपेस्ट की मदद लें। 

यह भी पढ़ें -इन समर्स अपनी ब्यूटी में न भूलें बिकिनी वैक्स को

स्वास्थ्य संबंधी यह लेख आपको कैसा लगा? अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें। प्रतिक्रियाओं के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़े सुझाव व लेख भी हमें ई-मेल करें-editor@grehlakshmi.com

कमेंट करें

blog comments powered by Disqus

संबंधित आलेख

कहीं आप सेक्...

कहीं आप सेक्स एंग्जाइटी के शिकार तो नहीं...

ऊर्जा से भरप...

ऊर्जा से भरपूर है कपूर

कैसे बचाएं अ...

कैसे बचाएं अपने शिशु को घर के वायु प्रदूषण...

यह घर बहुत ह...

यह घर बहुत हसीन है

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

मुझे माफ कर ...

मुझे माफ कर देना...

डाक में कुछ चिट्ठियां आई पड़ी हैं। निर्मल एकबार उन्हें...

6 न्यू मेकअप...

6 न्यू मेकअप लुक्स...

रेड लुक रेड लुक हर ओकेज़न पर कूल लगते हैं। इस लुक...

संपादक की पसंद

कहीं आपका बच...

कहीं आपका बच्चा...

सात वर्षीय विहान को अभी कुछ दिनों पहले ही स्कूल में...

Whatsapp Hel...

Whatsapp Help :...

मुझे किसी खास मौके पर अपने व्हाट्सप्प के संपर्कों को...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription