जब सैयां को ...

जब सैयां को कह गई भैया

मेरी इच्छा के अनुसार मेरी शादी व्यापारी घर में न करके एक सर्विस वाले माहौल में की गई। पतिदेव भी सर्विस में थे।  शादी होकर जब मैं पहुंची...

पापा मैं हूं

पापा मैं हूं

'कोई बात नहीं बेटा' कहकर उन्होंने मुझे सांत्वना देते हुए अपनी साड़ी पहनने को दी। स्नान के बाद जब मैंने सासू मां की साड़ी पहनी और बाथरूम...

कहूं मुझे टॉ...

कहूं मुझे टॉयलेट जाना है

इसी ठिठोली के बीच में मैं शर्म से पानी पानी हो गई थी। ये बात तब कीहै, जब मैं ससुराल में नई-नई थी। घर के सभी लोग आंगन में बैठे थे और...

बिना कपड़ों क...

बिना कपड़ों के ही रखा

शादी के 10-12 दिन बाद कुछ खास मेहमान घर आने वाले थे। उनकी आवभगत करने के लिए मेरे सास-ससुर विशेष रूप से लगे हुए थे। सासुजी ने बताया...

भैया ने कुछ ...

भैया ने कुछ नहीं किया

काट-काट कर पूरा मुंह ही सुजा दिया। तभी मेरा छोटा देवर कमरे में आया। शायद उसने पूरी बात नहीं सुनी थी। वो बोला, 'भैया की शिकायत कर रही...

मेरा अंडा गि...

मेरा अंडा गिर गया

एक बार वो एक खिलौना (मुर्गी) लाए, जो दबाने पर अंडे देती थी। आदतानुसार मैं उनके साथ उस मुर्गी से खेल रही थी तभी अचानक मेरे हाथ से एक...

लहरिया साड़ी

लहरिया साड़ी

यूं तो मेरे पास लहरिया की एक-दो साड़ियां थीं, पर मन हुआ कि पिकनिक पर नई साड़ी ही पहन कर जाऊं। मैंने अपने पति से कहा कि वे मुझे लहरिया...

अभी तो मैं श...

अभी तो मैं शुरू हुई हूं

होली के दिन की बात है। घर में काफी मेहमान आए हुए थे, इसलिए मैं मां के साथ खाना बनाने में उनकी मदद करने लगी। तभी मेरे पति ने मुझे रंग...

शादी में नाच...

शादी में नाचने लगी

सारी महिलाएं गाजे-बाजे के साथ कुएं से जल भरकर लाती हैं और उसी जल से दुल्हन को नहलाती हैं। मेरी शादी में भी महिलाएं जल भरकर आने के बाद...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

चित्त की महत...

चित्त की महत्ता...

श्री गुरुदेव की कृपा के बिना कुछ भी संभव नहीं। अध्यात्म...

तुम अपना भाग...

तुम अपना भाग्य फिर...

एक बार ऐसा हुआ कि पोप अमेरिका गए, वहां पर उनकी कई वचनबद्घताएं...

संपादक की पसंद

शांति के क्ष...

शांति के क्षण -...

मानसिक शांति के अत्यन्त सशक्त क्षण केवल दुर्बल खालीपन...

सुख खोजने की...

सुख खोजने की कला...

एक महिला बोली : मुनिश्री! मैं बड़ी दु:खी हूं। यों तो...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription