GREHLAKSHMI

FREE - On Google Play
OPEN

आपकी चाय का ...

आपकी चाय का प्याला खोलता है आपके...

आपकी फेवरेट काफी मग या चाय की प्याली आपके व्यक्तित्व के गहरे राज उजागर करती है

झांसी की रानी

झांसी की रानी

यह बात उन दिनों की है जब मेरी आयु लगभग छह वर्ष की रही होगी। एक बार मैं अपनी मम्मी के साथ अपनी मौसी के घर रहने के लिए गई।

द्रौपदी रह च...

द्रौपदी रह चुकी हो

मुझे नाटकों में भाग लेने और लिखने का शौक बचपन से ही रहा है। इसलिए जब मेरी शादी की बात चली तो अपने होने वाले पति की लेखन क्षमता से प्रभावित...

पूरा अधिकार ...

पूरा अधिकार दे देंगे

बात मेरे विवाह की है। विवाह होने पर हमारे यहां बारातियों को विशेष खाना (राजनगोठ) खिलाया जाता है। मेरे पति, देवर व उनके कई दोस्त एकसाथ...

कंप्लेन न कर...

कंप्लेन न करें, इन बातों का ध्यान...

शिकायत करना क्या है...कोई ऐसी बात जो हमें पसंद नमहीं है, लेकिन हम उसका विरोध भी नहीं कर पाए हों, तो हम शिकायत करते हैं। लेकिन कभी-कभी...

जिसे ब्रुश क...

जिसे ब्रुश करवाया वही बन गई दांतों...

जब मैं 4 वर्ष की थी, मेरी छोटी बहन शानू का जन्म हुआ शानू के आने पर मेरी दुनिया उसके चारों ओर सिमट गई थी। मैं उसे बुहत प्यार करती थी।...

गाने का असर

गाने का असर

 जब मैं छोटी थी, तभी से मुझे गाने सुनने और गुनगुनाने का शौक है, जो आज भी बरकरार है। दादी-अम्मा मान जाओ, बच्चे मन के सच्चे, चुन-चुन...

मम्मी की चोट...

मम्मी की चोट भूलकर झगडऩे लगे

 बात उस समय की है जब मैं 10वीं और मेरा भाई 12वीं का छात्र था। बारिश का समय था मैं और भइया दोनों घर पर थे। मम्मी को बाजार जाना था सो...

लाइफ में रोम...

लाइफ में रोमांस का तड़का लगाने...

अगर आपके पास समय की कमी है तो आप इन रोमांटिक आइडियाज़ का इस्तेमाल बड़ी ही खूबसूरत तरीके से कर सकते हैं-