जैन धर्म के ...

जैन धर्म के श्रद्धा स्थल

भक्तगण अपने इष्ट के स्मृति चिह्नï स्वरूप मंदिर बनवाते हैं। यही मंदिर परस्पर प्रेम-भाव, एकता व सौहार्द्र के प्रतीक बन जाते हैं। जैन...

ओंकारेश्वर ज...

ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग

श्री ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में नर्मदा नदी के बीच मन्धाता या शिवपुरी नामक द्वीप पर स्थित है। यहां ओंकारेश्वर...

क्या है रीजे...

क्या है रीजेनरेटिव ट्रैवल और क्यों...

कोरोना महामारी के बीच आप इस तरह के ट्रैवेल से पूरी तरह सुरक्षित रह कर प्रकृति के बीच अच्छा समय बिता सकते हैं।

महाकालेश्वर ...

महाकालेश्वर मंदिर उज्जैन

देश के अलग.अलग भागों में स्थित भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंग में से सबसे खास है श्री महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग। यह ज्योतिर्लिंग मध्य...

मल्लिकार्जुन...

मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग

मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग की पूरे देश में खूब मान्यता है। मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले में कृष्णा नदी के तट...

सोमानाथ ज्यो...

सोमानाथ ज्योतिर्लिंग

हिंदू धर्म में सोमनाथ मंदिर का बहुत अधिक महत्व है। यह भारत के 12 ज्योतिर्लिंगों में सर्वप्रथम ज्योतिर्लिंग के रूप में माना जाता है।...

महाराष्ट्र क...

महाराष्ट्र की अजन्ता एलोरा गुफाओं...

महाराष्ट्र का पांचवा सबसे बड़ा शहर औरंगाबाद अपने गहरे इतिहास के लिए जाना जाता है। इसी शहर में एक युनेस्को साइट है जिसे देखने के लिए...

गुजरात के इस...

गुजरात के इस मंदिर में होती है...

भक्ति का आधार सिर्फ आस्था हो सकती है और ये आस्था किसी के भी साथ हो सकती है। ऐसी ही आस्था गुजरात के एक मंदिर में देखने को मिली है, जहां...

गोवा जाना है...

गोवा जाना है लेकिन सिर्फ 1 दिन...

गोवा...सपनों वाली जगह, जिसे जितनी बार भी देखो कम ही लगता है। यही वजह है कि पिछले साल लॉकडाउन खुलते ही लोगों ने जब घूमना शुरू किया तो...

पोल

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत किस देश से हुई थी ?

वोट करने क लिए धन्यवाद

इंग्लैण्ड

जर्मनी

गृहलक्ष्मी गपशप

चित्त की महत...

चित्त की महत्ता...

श्री गुरुदेव की कृपा के बिना कुछ भी संभव नहीं। अध्यात्म...

तुम अपना भाग...

तुम अपना भाग्य फिर...

एक बार ऐसा हुआ कि पोप अमेरिका गए, वहां पर उनकी कई वचनबद्घताएं...

संपादक की पसंद

शांति के क्ष...

शांति के क्षण -...

मानसिक शांति के अत्यन्त सशक्त क्षण केवल दुर्बल खालीपन...

सुख खोजने की...

सुख खोजने की कला...

एक महिला बोली : मुनिश्री! मैं बड़ी दु:खी हूं। यों तो...

सदस्यता लें

Magazine-Subscription